Homeदेशकांग्रेस का चुनाव आयोग से अनुरोध, कोरोना और बाढ़ के बीच चुनाव...

कांग्रेस का चुनाव आयोग से अनुरोध, कोरोना और बाढ़ के बीच चुनाव को तैयार नहीं बिहार

 

पटना।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डा. मदन मोहन झा की ओर से मुख्य निर्वाचन आयुक्त को भेजे पत्र में कहा है कि चुनाव लोकतंत्र का महापर्व है। इसे होना ही चाहिए। मगर बिहार अभी बाढ़ और कोरोना की दोतरफा मार झेल रहा है। ऐसे हालात में जनता की जान जोखिम में डालकर चुनाव कराना उचित नहीं होगा। विधानसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस ने चुनाव आयोग को भेजे सुझावों में मौजूदा परिस्थिति में चुनाव टालने का अनुरोध किया है।

उन्होंने कहा है कि बिहार में संक्रमण से मुख्यमंत्री कार्यालय, राजभवन, पुलिस मुख्यालय, मुख्य सचिव कार्यालय से लेकर राजनैतिक दलों के दफ्तरों तक कोई जगह बची नहीं है। इन हालात में आयोग सभी दलों और प्रत्याशियों को समान अवसर मुहैया कराते हुए हर मतदाता की संक्रमण से सुरक्षा सुनिश्चित कर पाएगा। अंत में लिखा है कि कांग्रेस चुनाव की विरोधी नहीं है लेकिन जनता की सुरक्षा को देखते हुए इसे कुछ समय के लिए टाला जाना चाहिए।

कांग्रेस की ओर से कहा गया है कि राज्य में करीब दस लाख जांच हुई हैं। संक्रमितों का आंकड़ा अस्सी हजार पार कर चुका है। अक्टूबर-नवंबर तक संक्रमितों की संख्या तकरीबन 10 लाख होगी। डा. झा ने लिखा है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुमान के मुताबित भी उस वक्त कोरोना संक्रमण चरम पर होगा। उन्होंने लिखा है कि पहले से ही बिहार में स्वास्थ्य सेवाएं पूरी तरह ध्वस्त हैं। चुनाव घोषित होते ही पूरी सरकारी मशीनरी उसमें जुट जाएगी। ऐसे में कोरोना के खिलाफ लड़ाई और भी कमजोर हो जाएगी।

चुनाव आयोग ने एक बार फिर कहा है कि बिहार में तय समय पर ही विधानसभा चुनाव होंगे। मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने कहा कि कोरोना महामारी को ध्यान में रख कर चुनाव की तैयारियां की जा रही हैं। इस प्रकार, चुनाव आयोग ने कोरोना के मद्देनजर चुनाव को स्थगित करने की मांग को खारिज कर दिया है।

एक निजी चैनल से बातचीत में भारत निर्वाचन आयोग के मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा कि आयोग बिहार विधानसभा चुनाव समय पर कराने की तैयारी कर रहा है। चुनाव आयोग कोरोना को लेकर सारे एहतियात बरत रहा है। महामारी को लेकर सारे प्रबंध किये जायेंगे। लेकिन, विधानसभा चुनाव समय पर ही कराने का फैसला लिया गया है।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular