Homeलाइफस्टाइलविटामिन-सी का बॉडी में क्या काम होता है

विटामिन-सी का बॉडी में क्या काम होता है

 कैसे पहचानें इसकी कमी से जूझ रहा है आपका शरीर

विटामिन-सी हमारे शरीर के लिए बहुत जरूरी तत्व माना जाता है। ये एक एंटीऑक्सीडेंट है जो कनेक्टिव टिश्यूज को बेहतर बनाता है और जोड़ों को सपोर्ट देने का काम करता है। इसके अलावा विटामिन सी न्यूट्रोफिल यानी सफेद रक्त कोशिकाएं जो संक्रमण से लड़ती हैं, उनको मदद पहुंचाता है और शरीर के इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाता है। इतना ही नहीं विटामिन-सी शरीर में आयरन के अवशोषण और कोलेजन, एल-कार्निटिन व कुछ न्यूनरोट्रांसमीटर्स के उत्पादन में भी मददगार माना जाता है। तमाम शोध बताते हैं कि विटामिन सी एक्यूयट रेस्पिरेट्री इंफेक्शन को रोकने में और टीबी के इलाज में भी फायदेमंद है। कुल मिलाकर विटामिन-सी का पर्याप्त मात्रा में सेवन करने से आप कई तरह की बीमारियों से बच सकते हैं। लेकिन यदि शरीर इस तत्व की कमी हो, तो इसकी पहचान कैसे की जा सकती है? यहां जानिए विटामिन-सी से जुड़ी तमाम जरूरी जानकारी।

इन संकेतों से विटामिन-सी की कमी को पहचानें

शरीर में विटामिन-सी की कमी होने पर कई तरह के लक्षण सामने आते हैं जैसे एनीमिया, मसूड़ों से खून आना, घाव भरने में अधिक समय लगना, सूखे और दोमुंहे बाल, संक्रमण से लड़ने की क्षमता में कमी, हल्की खरोंच आने पर भी खून बहना, रूखी और पपड़ीदार त्वचा, जोड़ों में दर्द, दांतों का कमजोर होना, मेटाबॉलिक क्रिया का धीमा होना आदि। इन लक्षणों को देखकर आप इस बात का अंदाजा लगा सकते हैं कि आपको अपनी डाइट में विटामिन-सी का इनटेक बढ़ाने की जरूरत है।

शरीर को रोजाना कितना विटामिन-सी चाहिए

दरअसल विटामिन-सी पानी में घुलनशील होता है, इस कारण से शरीर इस तत्व को स्टोर नहीं कर पाता. ऐसे में शरीर में विटामिन-सी की पर्याप्त मात्रा बनाए रखने के लिए इसे डाइट या सप्लीमेंट के जरिए अलग से लेना जरूरी होता है। विशेषज्ञों की मानें तो महिलाओं को 75 मिलीग्राम, पुरुषों को 90 मिलीग्राम, गर्भवती महिलाओं को 85 मिलीग्राम और ब्रेस्ट फीडिंग कराने वाली महिलाओं को 120 मिलीग्राम तक विटामिन-सी का सेवन रोजाना करना चाहिए।

किन चीजों से मिलता है विटामिन-सी

ज्यादातर खट्टी चीजों में विटामिन-सी मौजूद होता है. ऐसे में चकोतरा, संतरा, कीवी, नींबू, केला, ब्रोकली, स्ट्रॉबेरी, अंगूर, टमाटर, अमरूद, आंवला, शलगम, मूली के पत्ते, मुनक्का, दूध, चुकंदर, चौलाई, बंदगोभी और शिमला मिर्च आदि में प्रचुर मात्रा में विटामिन-सी पाया जाता है।

अधिक मात्रा में सेवन भी है नुकसानदायक

हर चीज की अति हमेशा नुकसानदायक होती है। इसलिए विटामिन-सी का सेवन भी सीमित मात्रा में ही करना चाहिए। विटामिन-सी की अधिकता की वजह से कई तरह की समस्याएं हो सकती हैं। इसके अधिक सेवन से आपके शरीर में आयरन की मात्रा बढ़ सकती है जो कई तरह की बीमारियों की वजह बन सकती है। इसके अलावा विटामिन-सी के अधिक सेवन से जी मिचलाना, उल्टी, डायरिया, पेट दर्द, सीने में जलन, सिरदर्द, इंसोम्निया आदि समस्याओं का रिस्क बढ़ता है, साथ ही किडनी पर भी विपरीत असर पड़ सकता है।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments