Homeलाइफस्टाइलडायबिटीज के मरीजों के लिए रामबाण है ये 5 चीजें

डायबिटीज के मरीजों के लिए रामबाण है ये 5 चीजें

 खाते ही ब्लड शुगर होगा नॉर्मल

ब्लड में शर्करा की मात्रा ज्यादा होने पर डायबिटीज का खतरा होता है। ऐसे मरीजों को थकान, कमजोरी समेत दूसरी परेशानियां होती हैं। इससे छुटकारा पाने के लिए कुछ घरेलू नुस्खे आजमाएं जा सकते हैं। गलत रूटीन और खानपान के चलते आजकल ज्यादारतर लोग डायबिटीज से ग्रसित हैं। खून में शुगर का स्तर बढ़ने के चलते कई बार घातक बीमारियों का भी खतरा रहता है। ऐसे मरीजों को अक्सर भूख न लगने और कमजोरी एवं थकान आदि की शिकायत रहती है। अगर डायबिटीज से छुटकारा पाना है तो डाइट में कुछ बदलाव जरूरी है। आज हम आपको खाने की कुछ ऐसी चीजों के बारे में बताएंगे, जिनके जरिए आप ब्लड शुगर के स्तर को सामान्य बना सकते हैं।

शुगर के मरीजों के लिए बेसन की रोटी खाना बेहद फायदेमंद होती है। इसमें मौजूद प्रोटीन ग्लूकोज लेवल को सामान्य बनाए रखने में मदद करता है। बेसन में ग्‍लाइसेमिक स्‍तर कम होता है। ये रक्त शर्करा के स्तर को कम करने में मदद करता है। इससे डायबिटीज के रोग में लाभ होता है।

आंवले के रस में प्रचुर मात्रा में विटामिन सी होता है। इसका सेवन भी डायबिटीज में लाभकारी होता है। इसलिए रोजाना 10 मिलीग्राम आंवले के जूस को 2 ग्राम हल्दी के पाउडर में मिलाकर पीने से डायबीटीज पर नियंत्रण पाया जा सकता है। ये प्रक्रिया सुबह खाली पेट करें।

तुलसी की पत्त‍ियों में एंटी-ऑक्सीडेंट,एंटीबायोटिक, एंटीबैक्टीरियल, एंटीएजिंग और एंटीफ़ंगल तत्व पाए जाते हैं। इन्सुलिन जमा करने वाली और छोड़ने वाली कोशिकाओं को ठीक से काम करने में मदद करते हैं। इसके अलावा इसमें कई ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो पैंक्रियाटिक बीटा सेल्स को इंसुलिन के प्रति सक्रिय बनाती हैं। सुबह खाली पेट दो से तीन तुलसी की पत्ती चबाने या इसका रस पीने से ब्लड शुगर स्तर नियंत्रित होता है।

ग्रीन टी का सेवन भी डायबिटीज रोग में फायदेमंद होता है। इसमें उच्च मात्रा में पॉलीफिनॉल पाया जाता है। ये एक सक्रिय एंटी-ऑक्सीडेंट है, जो ब्लड शुगर को नियंत्रित करने में मदद करता है।

जामुन को काला नमक लगाकर खाने या जामुन की गुठली को सूखा कर उसका चूर्ण बनाकर रोजाना सुबह शाम एक-एक चम्मच गुनगुने पानी से लेने से लाभ होगा। ये ब्लड शुगर को कम करने में मदद करता है।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments