HomeदुनियाSymptoms Of Hypertension दुनिया में इतने अरब लोग कर रहे हाइपरटेंशन बीमारी...

Symptoms Of Hypertension दुनिया में इतने अरब लोग कर रहे हाइपरटेंशन बीमारी का सामना

Symptoms Of Hypertension

हाइपरटेंशन या हाई ब्लड प्रेशर दुनिया के लिए बहुत बढ़ी समस्या है इस में जिसके कारण खून की नलियों पर अनावश्यक दबाव बढ़ जाता है। पूरे शरीर के हर अंग तक हार्ट शुद्ध खून को पंप कर पहुंचाता है इस स्थिति को ही हाइपरटेंशन कहते हैं। हाइपरटेंशन के कारण हार्ट डिजीज, ब्रेन, किडनी आदि से संबंधित बीमारियों का जोखिम बढ़ जाता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के मुताबिक दुनिया भर में 1.13 अरब लोग हाइपरटेंशन की बीमारी से जूझ रहे हैं। यानी हर चार में से एक पुरुष और हर पांच में से एक महिला हाइपरटेंशन के साथ जीने को मजबूर हैं। हालांकि इससे भी बड़ी त्रासदी यह है कि जिन लोगों को हाइपरटेंशन है, वे अपना ब्लड प्रेशर घटाने के बजाय बढ़ा ही ज्यादा लेते हैं।

Also Read : Corona Update In India बीते 24 घंटे में देश में कोरोना के 9,765 नए केस सामने आए और 477 की हुई मौत

ब्लड प्रेशर को मैंटेन नहीं रख पाते (Symptoms Of Hypertension)

4 में से तीन हाइपरटेंशन के मरीज अपने ब्लड प्रेशर को संतुलित रखने में पूरी तरह से असमर्थ हैं। वे अपना ब्लड प्रेशर घटाने के बजाय बढ़ा लेते हैं। हैरानी की बात यह है कि ये लोग ब्लड प्रेशर की दवा लेने के बावजूद अपना ब्लड प्रेशर बढ़ा लेते हैं।

अमेरिकी सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन ने 120/80 को सामान्य ब्लड प्रेशर माना है। अगर इससे ज्यादा बीपी है तो हार्ट अटैक और स्ट्रोक का जोखिम बढ़ जाता है। हाइपटेंशन वाले लोगों को इसी मानक तक बीपी को मैंटेन करने की सलाह दी गई है लेकिन अधिकांश लोग दवा लेने के बावजूद अपना बीपी मैंटेन नहीं रख पाते हैं।

 ब्लड प्रेशर की दवा को कम करने की जरूरत (Symptoms Of Hypertension)

शोधकर्ताओं ने नेशनल हेल्थ एंड न्यूट्रिशन एग्जामिनेशन सर्वे के डाटा के आधार बनाकर यह अध्ययन किया। इसमें 2009 से 2018 के बीच 27599 लोगों की हेल्थ से जुड़ी जानकारियों का विश्लेषण किया गया। शोधकर्ताओं ने यह जानने की कोशिश की कि इनमें से कितने लोग एंटीहाइपरटेंशन की दवा ले रहे हैं।

130 से उपर के बीपी को हाइपरटेंशन माना गया। यानी जिन व्यक्तियों का बीपी 130 से उपर था, वे एंटीहाइपटेंशन की दवा ले रहे थे। अध्ययन में चौंकाने वाला नतीजा सामने आया। शोधकर्ताओं ने पाया कि हाइपरटेंशन से पीड़ित 5 में से एक व्यक्ति ब्लड प्रेशर की दवा ले रहे थे।

लेकिन इस दवा से ब्लड प्रेशर कम नहीं हुआ बल्कि बढ़ता ही गया वर्जिनिया कॉमनवेल्थ यूनिवर्सिटी स्कूल के डॉ डेव डिक्सन ने बताया कि इस रिसर्च से हमें हाइपरटेंशन की दवा को कम करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि हाइपरटेंशन की सभी दवा ब्लड प्रेशर को नहीं बढ़ाता लेकिन हमें इस पर गंभीरता से अध्ययन करने की जरूरत है।

Also Read : Amazing Story इंदल सिंह की एक आवाज पर सैंकड़ों चूहे आ जाते हैं बिलों से बाहर, देखये पूरा वीडियो

Connect With Us:-  Twitter Facebook

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments