Homeलाइफस्टाइलस्‍वास्‍थ्‍य के लिए रामवाण हैं मसाले

स्‍वास्‍थ्‍य के लिए रामवाण हैं मसाले

भारत में प्राचीनकाल से ही मसालों के महत्‍व को समझकर इनका इस्‍तमाल रोज के आहार में करना शुरू कर दिया गया था। मसालों के इस्तेमाल से न केवल खाने का स्वाद दोगुना हो जाता है बल्क‍ि इनमें कई ऐसे पोषक तत्व भी होते हैं, जो शरीर के अन्य अंगों के साथ ही दिल को सेहतमंद रखने का काम करते हैं। अगर आप भी अपने दिल की सेहत को लेकर संवेदनशील रहते हैं तो इन पांच मसालों का इस्तेमाल करें।

लहसुन
कोलेस्ट्रॉल दिल से जुड़ी बीमारियों का सबसे बड़ा कारण है। खाने में लहसुन को शामिल करके आप कोलेस्ट्रॉल लेवल को कंट्रोल कर सकते हैं। लहसुन में एलिसिन नामक एंटी-ऑक्सीडेंट पाया जाता है, जो न केवल कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने का काम करता है बल्क‍ि ब्लड प्रेशर को भी नियंत्रित करता है। ऐसे में लहसुन खाना दिल से जुड़ी बीमारियों से दूर रहने का कारगर उपाय है।

हल्दी
एंटी-ऑक्सीडेंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर हल्दी ब्लड कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम करने में मददगार है। इसके अलावा ये डायबिटीज से बचाव का भी अच्छा उपाय है।

काली मिर्च
काली मिर्च कॉर्डियोप्रोटेक्ट‍िव एक्शन को सक्रिय करने का काम करती है. ये न केवल ऑक्सीडेटिव डैमेज से सुरक्षा देने का काम करती है बल्कि कार्डियक फंक्शन को भी बढ़ाती है।

दालचीनी
खाने में दालचीनी के इस्तेमाल से ब्लड फ्लो बेहतर होता है जिससे खून का थक्का बनने की आशंका बहुत कम हो जाती है। दिल से जुड़ी बीमारियों से सुरक्षित रहने के लिए रोजाना चुटकीभर दालचीनी का इस्तेमाल करें।

धनिये के बीज
धनिये के बीजों में एंटी-ऑक्सीडेंट की अच्छी मात्रा होती है। इसमें मौजूद तत्व फ्री रेडिकल्स से दिल को सुरक्षित रखने का काम करते हैं। कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल करने के लिए, ब्लड फ्लो बढ़ाने के लिए धनिये के बीज का इस्तेमाल फायदेमंद होता है।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular