Homeलाइफस्टाइलभरपूर नींद हमारे शरीर के लिए जरूरी है

भरपूर नींद हमारे शरीर के लिए जरूरी है

हर किसी व्यक्ति के लिए यह जरूरी है कि वह अपनी कम से कम 7 से 8 घंटे की नींद पूरी करे । वरना तबीयत खराब होने का खतरा बना रहता है। देश के एक तिहाई लोग सप्ताह के सातों दिन सात घंटे या उससे कम की नींद सोते हैं जो स्वास्‍थ्‍य के लिए बहुत अधिक काफी खतरनाक है।

वास्‍तव में एक अच्छी नींद हमारे दिमाग को तरोताजा करने के लिए और शरीर के दूसरे अंगों को आराम देने के लिए बहुत जरूरी है। क्‍यों कि जिस वक्त हम सोते हैं हमारे कई अंग शरीर के विषाक्त पदार्थों को साफ करने का काम करते हैं ताकि जब सुबह हम उठें तो हल्का महसूस करें। नींद की महत्‍ता केवल शरीर के अंदरूनी अंगों के लिए ही नहीं है बल्क‍ि त्वचा के लिए भी ये बेहद फायदेमंद होती है।

भारत के संदर्भ में एक अध्‍ययन में इस बात का खुलासा हुआ है कि भारत में 20 से 59 वर्ष के लोगों में नींद पूरी नहीं हो पाने की समस्या ज्यादा देखी गई है । यही कारण है कि जो लोग प्रतिदिन सात घंटे से कम की नींद सोते है उन्हें प्रतिदिन 7 से 9 घंटे सोने वाले लोगों की तुलना में किसी चीज में अपना ध्यान लगाने में ज्यादा दिक्कतें होती हैं। यह अध्‍ययन सेन्टर फॉर डिसीस कंट्रोल एंड प्रिवेंशन की है।

बतादें कि त्वचा के साथ ही कम और खराब नींद लेने का असर मानसिक स्थिति पर भी पड़ता है, इसके अलावा शरीर में दर्द, थकान, वजन बढ़ना और तनाव जैसी कई समस्याएं हो जाती हैं। अच्छी और पर्याप्त नींद न मिलने से हो सकती प्राय: मधुमेह, ऑस्ट‍ियोपोरोसिस, कैंसर, हार्ट अटैक और. मानसिक स्थिति पर गहरा असर होता है ।

अच्छी नींद नहीं मिलने पर शुगर से भरपूर और जंक फूड खाने की इच्छा बढ़ जाती है , जो आगे हाई ब्लड प्रेशर और मधुमेह जैसी बीमारियों का कारण बनता है। वहीं हड्डियां कमजोर होना शुरू हो जाती हैं, जिसके बाद उसका असर जोड़ों के दर्द के रूप में सामने आता है । उधर, अबतक कई शोधों में सामने आया है कि कम नींद लेने की वजह से ब्रेस्ट कैंसर होने का खतरा बढ़ जाता है। नींद पूरी न होने की वजह से शरीर के विषाक्त पदार्थ साफ नहीं हो पाते और यह हार्ट अटैक होने का कारण बनता है । इतना ही नहीं तो कम सोने का सीधा असर हमारी मानसिक स्थिति पर भी पड़ता है। नींद पूरी नहीं होने पर दिमाग तरोताजा नहीं हो पाता, जिसके चलते कई मानसिक समस्याएं, विशेषकर याददाश्त से जुड़ी परेशानियां हो जाती है।

ऐसे में आप नींद पूरी करने के लिए योग का सहारा ले सकते हैं। अगर आप कुछ योगासन रोजाना अपनी दिनचर्या में शामिल करेंगे तो रात को आप सुकून की नींद पा सकते हैं।

1. शवासन
यह आसन करने से शरीर तनाव मुक्त होता है। इस आसन को करने के लिए सबसे पहले आप पीठ के बल लेट जाए। उसके बाद हाथ-पैर को थोड़ा बाहर की तरफ सीधा रखें। ऐसा करने से आपको बहुत आरामदायक महसूस होगा।

2. तितली आसन
जमीन पर बैठकर अपने पैरों के दोनों तलवों को अपने सामने लाकर मिला लें और अपने हाथों से दोनों पैरों को पकड़ें। उसके बाद एक लंबी सांस अंदर की तरफ लें और धीरे-धीरे सांस को छोड़ें।

3. उत्तानासन
इस आसन को करने के लिए अपने बेड के सामने अपने झुक कर हाथ हिप्स पर रखें। उसके बाद एक लंबी सांस अंदर की तरफ लें और धीरे-धीरे सांस को छोड़ें।

4. विपरीत करानी
सबसे पहले पीठ के बल लेट जाएं और इसके बाद अपने पैरों को जितना हो सके ऊपर तक उठाएं और खिचें।इस आसन में पैर मुड़़ने नहीं चाहिए। आपके हाथ सिर से पीछे की ओर होने चाहिए।

5. प्राणायाम
पद्आसन की स्थिती में बैद जाए और एक गहरी सांस लें फिर धीरे-धीरे करके सांस छोड़ं। ऐसा 10 बार दोहराएं।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular