Homeलाइफस्टाइलआपकी सेहत का रास्ता आंत से जुड़ा होता है जानिए आंतों में...

आपकी सेहत का रास्ता आंत से जुड़ा होता है जानिए आंतों में मल जमने पर दिखते हैं ये 5 लक्षण, जानें इसके कारण और बचाव के उपाय भी Bowel Problems In Hindi

आज समाज डिजिटल, अंबाला: 

Bowel Problems In Hindi: आंतों में मल क्यों जमता है? आंतों में रुकावट एक गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल स्थिति है। इसमें पचने वाले खाद्य पदार्थ छोटी या बड़ी आंत से जाने में असमर्थ होते हैं। यह एक सामान्य लेकिन गंभीर स्थिति होती है। आंतों में रुकावट का कारण उम्र, जीवनशैली या पेट की सर्जरी के इतिहास पर निर्भर करता है। बच्चों में आंतों में रुकावट का सामान्य कारण आंतों में जन्मजात विकृतियां हैं।

Read Also: बीआरडीएम स्कूल में विज्ञान प्रदर्शनी में नन्हे वैज्ञानिकों ने दिखाई अपनी प्रतिभा Science Demonstration In BRDM School

Bowel Problems In Hindi: जानिएं आंतों में मल जमने के लक्षण

मल त्याग के दौरान दर्द, पेट में दर्द, मतली और उल्टी,थकान और कमजोरी, मल त्याग में परेशान आना आदि।

Bowel Problems In Hindi: आंतों में मल जमने के कारण

आंतों में मल जमना यानी आंतों में रुकावट पैदा होना आपकी उम्र पर निर्भर कर सकता है। साथ ही जिन लोगों को पेट से संबंधित समस्याएं होती हैं, उनमें भी आंतों में रुकावट की समस्या देखने को मिल सकती है। चलिए जानते हैं आंतों में मल जमने के क्या कारण-वयस्कों में पिछली सर्जरी, हर्निया, दुर्दमता और सख्ती के कारण आंतों में रुकावट पैदा हो सकती है।

1.आंतों में मल जमने के कारण जंक फूड (Bowel Problems )

बच्चों में आंतों में रुकावट का सामान्य कारण आंतों में जन्मजात विकृतियां हैं।
जो लोग अधिक फास्ट फूड, जंक फूड खाते हैं, उनमें भी आंतों में रुकावट पैदा हो सकती है। फास्ट फूड में फाइबर बिल्कुल नहीं होता है, जो आंतों में चिपक जाता है। लंबे समय तक बाहर नहीं निकलता है। आंतों में गैस बनने के क्या कारण हैं? जानें इसके लक्षण और छुटकारा पाने के उपाय

2. डाइट में फाइबर की कमी (Diet Tips)

डाइट में फाइबर की कमी भी आंतों में मल चिपकने का एक कारण हो सकता है। दरअसल, आंतों की सफाई के लिए     फाइबर से भरपूर डाइट लेना जरूरी होता है। फाइबर आंतों की सफाई करता है, मल त्याग को आसान बनाता है।

3. व्यायाम ज़रूरी (Healthy Foods)

आंतों को स्वस्थ रखने के लिए व्यायाम करना भी जरूरी होता है। जो लोग शारीरिक रूप से सक्रिय नहीं रहते हैं, उनमें अक्सर आंतों में मल जमने की शिकायत रहती है। व्यायाम करने से आंतों की सफाई अच्छे से होती है।

4. पानी की आवश्कता (Health Tips)

आंतों को स्वस्थ रखने के लिए पानी पीना भी जरूरी होता है। जो लोग पानी पीते हैं, उन्हें मल त्याग में परेशानी नहीं आती है जबकि पानी न पीने वाले लोगों के आंतों में मल चिपक जाता है।

5. आंतों में मल जमने के लिए बचाव के उपाय (Bowel Problems In Hind)

आंतों की रुकावट को चिकित्सा आपात स्थिति में से एक माना जाता है। इसलिए रोगी को अपने लक्षणों के बारे में सतर्क रहना चाहिए और इन लक्षणों के विकसित होते ही डॉक्टर से चिकित्सा सलाह लेनी चाहिए। कुछ जीवनशैली में बदलाव करके इस समस्या से छुटकारा मिल सकता है।

Read Also : मैरी गोल्ड पब्लिक स्कूल में हुआ विदाई समारोह का आयोजन Farewell Ceremony Organized At Mary Gold Public School

Read Also : भारत की इस जगह को माना जाता है पाताल लोक,नही पुहंचती सूरज की रोशनी, इस इलाके से जुड़े तमाम ऐसे तथ्य हैं, जो आपको हैरान कर देंगे। यहां जानिए इसके बारे में। Patal Lok In India

Connect With Us : TwitterFacebook

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular