Homeखास ख़बरSolved the problem in a democratic and peaceful way - Yogi Adityanath:...

Solved the problem in a democratic and peaceful way – Yogi Adityanath: लोकतांत्रिक और शांतिपूर्वक तरीके से हुआ समस्या का समाधान -योगी आदित्यनाथ

भूमिपूजन के कार्यक्रम के अवसर पर सात पवित्र पुरियों मेंसे एक अवधपुरी में स्वागत करता हूं। पांच सौ वर्षों का के बाद लोकतांत्रिक तरीके सेसमस्या का समाधान किस प्रकार हो सकता है यह पीएम नरेंद्र मोदी ने पूरे विश्व को बताया है। संतों ने वीरांगनाओं ने अपना बलिदान दिया। सर्घष चलता रहा अनवरत चलता रहा लेकिन शांतिपूर्ण तरीके से संविधानसंमत तरीकेसे समस्या का समाधान प्रधानमंत्री न रेंद्र मोदी के नेतृत्व में हुआ मैं हद्धय से प्रधानमंत्री का स्वागत करता हूं। श्रीराम जन्मभूमि के भूमिपूजन का कार्य आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा किया गया। हमारे लिए भावनात्मक और उमंग का समय है। योगी आदित्यनाथ नेसंघ प्रमुख मोहन भागवत का भी स्वागत किया। उपस्थित सभी संतोंका और जो प्रत्यक्ष उपस्थित नहीं है कोरोना महामारी के कारण उन सभी का स्वागत करता हूं अभिनंदन करता हूं और आने वाले कार्यक्रमों में उन सभी को शामिल किया जाएगा। इस कार्यक्रम में किसी के साथ कोई भेदभाव नहीं किया गया है।
मोहन भागव मन मंदिर बनाने का समय आ गया…..
संध संचालक मोहन भागवन ने भी सबसे पहले लाल कृष्ण आडवाणी का नाम लेते हुए कहा कि वह भी बैठकर इस कार्यक्रम को देख रहे होंगे। परिस्थितियां ऐसी है कि नहीं आ सकेहैं। उन्होंने कहा कि वसुधैव कुटुंबकंम का अनुष्ठान आज यहां मन रहा है। सबका कल्याण करने वाले भारत का निर्माण आज हो रहा है। जो है मन से और जो नहीं है वह भी आनंद उठा रहे हैं। कोरोना काल में पूरा विश्व अंर्तमुख हो गया है। सब राम के हैं और सब में राम हैं। हम सभी लोगों को अपने मन की अयोध्या को सजाना सवारना है। यह सबको अपना मानने वाला धर्महै। हमारा मन मंदिर बन जाना चाहिए। राम मंदिर निर्माण के पहले हमारेमन को सभी दोषों से मुक्त होना चाहिए। हद्धय से सब प्रकार के सभी विकारों को दूर कर सभी का अपनाने का भारत बनाने का समय है।
अब बिलंब केहि कारण…
सभी लोग हमसे पूछते रहे कि मंदिर कब बनेगा, अब नहीं बनेगा तो कब बनेगा, यह बड़ा सुहावना समय आ गया है। करोड़ों हिंदू रामभक्तों की इच्छा कि शीर्ध ही दिव्य मंदिर का निर्माण होना चाहिए। तन, मन, धन अर्पण करने के लिए सभी तैयार हैं। आज इसका निर्माण शुरू हो गया है। सभी भक् तों की भावनाओं की पूर्ती हो गई यही अभिलाषा सभी की है कि शीध्र ही भव्य मंदिर के निर्माण को अपनी आंखों से देंखे। आज मेरो सौभाग्य है कि आज भूमि पूजन के माध्यम से इसका श्रीगणेश आज हो गया।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular