Homeकाम की बातगर्मी से चाहिए राहत तो चले आएं रोहतांग

गर्मी से चाहिए राहत तो चले आएं रोहतांग

जो पर्यटक गर्मी से राहत पाना चाहते है उनके लिए रोहतांग में बर्फ की दीवारों के बीच रोमांच का सफर शुरू हो गया है। पर्यटकों के लिए रोहतांग दर्रा बहाल होने पर इस मार्ग पर सड़क किनारे 15 से 20 फीट ऊंची बर्फ की दीवारों के बीच रोमांच का सफर शुरू हो गया है। देश-विदेश के पर्यटकों की पसंदीदा सैरगाह में दर्रा बहाल होने के पहले ही दिन पर्यटकों का मेला लग गया। शुक्रवार को 580 पर्यटक गाड़िया रोहतांग पहुंची। जबकि पर्यटन विभाग की ऑनलाइन साइट के माध्यम से करीब 600 वाहनों के लिए परमिट जारी किए थे।

मनाली के पर्यटन कारोबार में बढ़ोतरी की उम्मीद

गर्मी से चाहिए राहत तो चले आएं रोहतांग
गर्मी से चाहिए राहत तो चले आएं रोहतांग

करीब छह माह बाद रोहतांग दर्रा बहाल होने पर अब मनाली के पर्यटन कारोबार को संजीवनी मिलेगी। ऑनलाइन बुकिंग में इजाफा होने के साथ ही आगामी सप्ताह तक यहां का पर्यटन सीजन बूम पर आने की संभावना भी प्रबल हो गई है। शुक्रवार को पहले दिन हजारों पर्यटक रोहतांग दर्रा पहुंचे और बर्फ के बीच अठखेलियां कीं। गौरतलब है कि सड़क सीमा संगठन ने पिछले साल के मुकाबले इस साल करीब एक माह पहले ही दर्रा बहाल कर दिया है।

दीवार काटकर तैयार किया रोहतांग दर्रा

गर्मी से चाहिए राहत तो चले आएं रोहतांग
गर्मी से चाहिए राहत तो चले आएं रोहतांग

बीआरओ ने इस मार्ग पर 15 से 20 फीट ऊंची बर्फ की दीवारों को काटकर समुद्रतल से 13,050 फीट की ऊंचाई पर स्थित रोहतांग दर्रा को बहाल किया। रोहतांग दर्रा जाने के लिए पर्यटक वाहनों और स्थानीय लोगों को परमिट लेना अनिवार्य है। एक दिन में सिर्फ 1,200 वाहनों को ही रोहतांग जाने की अनुमति है।

पर्यटन कारोबारियों की मानें तो रोहतांग दर्रा जाने के लिए पर्यटक उत्सुक रहते हैं। यहां पर्यटकों को बर्फ के बीच मस्ती करना पसंद है। पर्यटन कारोबार प्रेमनाथ, गोकुल चंद, प्रीतम ठाकुर ने बताया कि दर्रा बहाली के बाद ऑनलाइन बुकिंग में इजाफा होने की उम्मीद है।

Read Also : अक्षय तृतीया: शुभ मुहूर्त और शुभ कार्य Good Luck And Good Work

Read Also : सात मोक्षदायी शहरों को कहते है सप्तपुरी Cities Are Called Saptapuri

Read Also : पूर्वजो की आत्मा की शांति के लिए फल्गू तीर्थ  

Connect With Us: Twitter Facebook

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular