Home मनोरंजन It was my dream to meet Sushant Singh – Isha Singh: सुशांत सिंह से मिलने का सपना, सपना ही रह गया- ईशा सिंह

It was my dream to meet Sushant Singh – Isha Singh: सुशांत सिंह से मिलने का सपना, सपना ही रह गया- ईशा सिंह

9 second read
0
83

चेहरे पर सौम्यता, अदा में नजाकत, चेहरे पर प्यारी सी मुस्कार ‘इश्क सुभान अल्लाह’ की लीड एक्ट्रेस जारा सिद्दकी यानी ईशा सिंह एक बार फिर से सीरियल में अपनी दमदार वापसी करने जा रहीं हैं। जी टीवी के सीरियल ‘इश्क सुभान अल्लाह’ में ईशा टुनिशा को रिप्लेस करनेवालीं हैं। ईशा सिंह ने यह सीरियल अक्टूबर 2019 में छोड़ा था हालांकि अब वह वापस इस सीरियल के लीड रोल मेंदिखने वालीं हैं। भोपाल की ईशा सिंह ने अब तक अपनी बेहतरीन अदायगी से दो ‘जी रिश्तेअर्वाड’ जीतेहैं और  ‘जी टीवी’ के साथ ही उन्होंने ‘एक था राजा एक थी रानी’ और  ‘इश्क का रंग सफेद’  जैसे चर्चित सीरियल किए हैं। ईशा की जीटीवी के सीरियल में फिर सेवापसी होने वाली और वह एक बार फिर से जारा सिद्दकी कबीर केनजरिए को बदलने की कोशिश करेंगी। कबीर के जीवन में वह संगीत की जादुई महक फैलाना चाहतीं हैं जबकि कबीर संगीत की दुनिया से कोसो दूर भागना चाहता है। जानिए जारा सिद्दकी यानि ईशा सिंह सेजुड़ी कुछ अहम बातें…
1- ‘इश्क सुभान अल्लाह’ मेंअक्टूबर 2019 में छोड़ने के बाद अब वापसी की क्या वजह रही? आपकी वापसी केलिए कहानी में क्या ट्विस्ट आने वाला है?
-जी टीवी के साथ मेरेरिलेशन बहुत अच्छे रहे हैं इसलिए कभी कोई दिक्कत नहीं हुई। जीटवी के साथ मेरे कई सीरियल रहें हैं। शो छोड़ने के पीछे डेट्स की समस्या थी। जी टीवी ने डेट्स को लेकर बहुत सपोर्ट किया है जिसकी वजह से वापसी हो पा रही हैऔर ‘इश्क सुभान अल्लाह’ तो मेरे दिल के बहुत करीब रहा है तो अब आईएम गेटिंग माई बेबी बैक। अपने सीरियल के बारे में वापसी को लेकर ईशा ने कहा कि मेरी वापसी है तो जाहिर है कुछ नया ट्विस्ट तो जरूर सीरियल में आएगा। एक बार फिर से मैंकबीर को संगीत की दुनिया में लेजाने की कोशिश करूंगी, क्योंकि जारा मानती है कि संगीत रूहानी होता है। जबकि कबीर संगीत को बिल्कुल अच्छा न हीं मानता है।
2-बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत केसुसाइड को किस तरह से देखती हैं?
-मैंने जब सुशांत सिंह राजपूत की मौत की खबर सुनी तो मैंसचमुच दो दिनों तक सो नहीं पाई। मेरे लिए यह बहुत बड़ा पर्सनल लॉस रहा। मैंउनकी मौत की खबर से एकदम शॉक हो गई थी। मेरी दिली ख्वाहिश थी उनसे एक मुलाकात करने की । मेरे एक रिश्तेदार हैंजो सुशांत सिंह राजपूत को जानते थे। मैंहमेशा उनसे कहती थी कि मुझे एक बार वो सुशांत से मिला दें। सुशांत से मिलने का मेरा सपना सपना ही रह गया। मैंसुशांत से नहीं मिल पाई। हम छोटे शहरों से यहां आते हैं। मुंबई की जिंदगी बहुत अलग है। यहां लोग बहुत प्रैक्टिकल हैं। मैंकेवल अच्छा खानेया अच्छा पहनेको स्वस्थ व्यक्ति नहीं मानती। स्वस्थ व्यक्ति वो हैजो दिल और दिमाग से स्वस्थ रहे। जबतक आप दिल और दिमाग से पूरी तरह स्वस्थ नहीं है तब तक आपका स्वास्थ्य अच्छा नहीं कहा जा सकता है। लोग इसको गंभीरता से नहीं लेते हैं लेकिन यह हमारे जीवन का अहम हिस्सा है।
3-बॉलीवुड में हो रहे नेपोटिज्म के बारेमें आपका क्या ख्याल हैं। आप भी कभी नेपोटिज्म का शिकार हुई हैं?
-जी हां नेपोटिज्म तो हैं। यह सच्चाई है.. लेकिन अब तक मैंइसका शिकार नहीं हुई हूं। मुझे कभी भी ऐसा नहीं लगा, हांअगर मेरे साथ ऐसा कुछ भी होगा तो मैं जरूर बोलूंगी। मैंइंडस्ट्री में बाहर से आई हूंलेकिन मुझे कभी ऐसा नहीं झेलना पड़ा। लेकिन मेरा मानना है कि एक बेनिफिट तो होता ही है। मेरा कोई भी गॉडफादर नहीं है। लेकिन अगर मेरेबच्चेइस इंडस्ट्री में ही आते हैं तो निश्चित हैकि उन्हें थोड़ा सपोर्ट तो मिलेगा, क्योंकि मैंने पहले से ही यहां स्ट्रगल किया है। स्टार किड्स को उतना स्ट्रगल नहीं करना पड़ता है। हालांकि मुझे लगता है कि दर्शक आपके काम को अहमियत देतेहैंअगर आपका काम अच्छा है तो आप चलेंगे नहीं तो आउट।
4-लॉकडाउन में क्या नया इनोवेशन किया?
-इस लॉकडाउन में मुझे एक बार फिर से रंगो ं के साथ जीने का मौका मिला। मैंनेलॉकडाउन में भोपाल में रहकर अपने परिवार केसाथ समय बिताया और रंगों के साथ फिर से कैनवस को अपने विचारों का आइना बनने का मौका दिया और हां… अपने क्यूट से डॉग के साथ भी खूब खेली। फुलआॅन मस्ती की।
5- ऐसी कौन सी चीज है जो आपको रिलेक्स करती है, जीवन में सुकुन  भर देती है?
-मेरी मां..जी हां मेरी मांके साथ मेरी बॉनडिंग इतनी अच्छी है कि मैं जब भी परेशान होती हूंया लो फील कर रही होती हूं तो उनके साथ बातें करना बहुत अच्छा लगता है। वो मेरी सभी समस्या का हल हैं। अगर मां मेरे साथ सेट पर नहीं आ पाती हैं तो मैंउनसे फोन पर बातें करती रहती हूं। मेर डेट्स और सभी चीजो ंका ख्याल मेरी मां रखती हैं। मेरी मां ही मेरे सबसे अधिक करीब हैंऔर उनसे बातें करक ेही खुद को रिलेक्स महसूस करती हूं।
6-कोरोना से डर लगता है? किस तरह के सावधानियां बरत रहीं हैं?
-बिल्कुल कोरोना सेडर लगता है..बिल्कुल लगता है। अपनी इम्यूनिटी के लिए मैं बहुत सारे काढ़े पी रही हूं। रोज बहुत कुछ खा रहीं हूं जो मेरे इम्यून सिस्टम को बढ़ाए। मैंने तो ठंडा पानी बिल्कुल छोड़ दिया है। गर्म पानी पी रहीं हूं। सभी सावधानियां बरत रहींहूंजो जरूरी हैं। मेरी मां मेरा पूरा ख्याल रखती हैं। वह हमेशा मेरी सेहत को लेकर मुझे सलाह देती हैं। मैं पूरी तरह से कोरोना से बचने के लिए खुद को तैयार कर रहींहूं। पूरेलॉकडाउन में चार महीने मैंभोपाल में थी अब मुंबई आई हूं तो और ज्यादा ध्यान रख रहीं हूं। मेरी मां के लिए तो मैं आज भी दो साल की बच्ची ही हूं। वह मेरा इस तरह से ख्याल रखती हं। मुझे छोटी बच्ची की तरह केयर देती हैं।
7-दर्शक आपको बहुत पसंद करतेहैं, अपनी ब्यूटी मेंटेन रखने केलिए कितनी मेहनत करती हैं?
-सच बताऊं तो मैं कैमिकल के इस्तेमाल से ज्यादा नैचुरल चीजों में विश्वास करती हूं। मैंजो कुछ भी खाती हूंउन सभी फलों के छिलकों को चेहरे पर लगाती हूं। छिलकों में बहुत न्यूट्रिशन होता है जो आपकेचेहरे की त्वचा को स्वस्थ रखता है और ग्लो भी बरकरार रखता है। मैं किसी भी क्रीम से ज्यादा बेसन और दही को महत्व देती हूं। बेसन और दही का इस्तेमाल अक्सर करती हूं। इसके साथ ही मैं एक खास चीज करती हूं वो है गुलाबजल की आइस, यानी गुलाबजल को जमाकर उसी बर्फ से अपने चेहरे पर रोज मसाज करती हूं जिससे मेंरे चेहरे की ताजगी बनी रहती हैं।

Load More Related Articles
Load More By Aajsamaaj Network
Load More In मनोरंजन

Check Also

Nepal’s ambassador praised China: नेपाल के राजदूत ने की चीन की तारीफ, भारत पर मढ़े कई झूठे आरोप

नेपाल की ओर से भारत के खिलाफ बयान दिया गया था साथ ही नेपाल चीन की तारीफों केपुल बांधने में…