Home अर्थव्यवस्था User said sweety to Nirmala Sitharaman …. Finance Minister gave this answer ..: निर्मला सीतारमण को यूजर ने कहा स्वीटी…. वित्त मंत्री ने दिया ये जवाब..

User said sweety to Nirmala Sitharaman …. Finance Minister gave this answer ..: निर्मला सीतारमण को यूजर ने कहा स्वीटी…. वित्त मंत्री ने दिया ये जवाब..

2 second read
0
0
322

नई दिल्ली। सोशल मीडिया साइट पर लोग कई बार तारीफ करते हैं तो कई बार किन्हीं मुद्दों पर ट्रोल भी करते हैं। इस बार वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण को थोड़ी असहज स्थिति का सामना करना पड़ा। उन्हें एक ट्विटर यूजर ने स्वीटी कहकर संबोधित किया। यूजर ने वित्तमंत्री को विवेकानंद जंयती के अवसर पर स्वामी विवेकानंद के एक मशहूर कथन को गलत कोट करने का आरोप लगाया। जिसका उत्तर वित्तमंत्री ने बड़ी ही शालीनता से दिया। सीतारमण ने स्वामी विवेकानंद की जयंती पर उनके एक कथन को ट्वीट किया, ‘उठो, जागो और ज्यादा सपने मत देखो। यह सपनों की भूमि है, जहां कर्म हमारे विचारों से निकलर माला बुनते हैं। मजबूत बनो और सच्चाई का सामना करो। इसके साथ एक रहो! विचारों का अंत होने दो।’ विवेकानंद के इस कथन का संदर्भ देते हुए सीतारमण ने ‘द कंप्लीट वर्क्स आॅफ स्वामी विवेकानंद IV, pp 388-89’ लिखा। इस ट्वीट के जवाब में सुजॉय घोष नाम के ट्विटर यूजर ने लिखा, ‘निर्मला सीतारमण ने यह कथन (कोट) कथा उपनिषद और स्वामी जी के कथा उपनिषद और स्वामीजी के ‘उठो जागो’ कथन से लिया है। स्वीटी ये ‘अपने लक्ष्य तक पहुंचने तक नहीं रुको’ है न की ‘ज्यादा सपने मत देखो’। यह बजट 2020 नहीं है कि जिसके बारे में आप हमें चेतावनी दे रही हैं।’उठो, जागो और अपने लक्ष्य तक पहुंचने तक मत रुको एक नारा है जो कथा उपनिषद के एक श्लोक से प्रेरित है। वित्त मंत्री ने घोष को जवाब देते हुए लिखा ख़ुशी है कि आप रूचि ले रहे है। उन्होंने कहा कि मैंने गलत कथन ट्वीट नहीं किया है। मंत्री के जवाब की लोग सोशल मीडिया में तरफ हो रही है. उन्होंने कहा कि मैंने ये द अवेकन इंडिया से लिया है अगस्त 1898 में लिखा गया था। वैसे मैंने कथन के नीचे इसके सन्दर्भ हवाला दिया है। अगर आपको ज्यादा रूचि है तो इसे अद्वैत आश्रम की तरफ से प्रकाशित किया गया है।

Load More Related Articles
Load More By Aajsamaaj Network
Load More In अर्थव्यवस्था

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

Far from facing China, the Prime Minister did not have the courage to even take his name: Rahul Gandhi: चीन का सामना करना तो दूर की बात, प्रधानमंत्री में उनका नाम तक लेने का साहस नहीं: राहुल गांधी

नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और वायनाड से सांसद राहुल गांधी केंद्र सरकार और प्रधान…