Home लोकसभा चुनाव राजनीति Crossing the age of 100: उम्र 100 के पार, उत्साह बरकार

Crossing the age of 100: उम्र 100 के पार, उत्साह बरकार

3 second read
0
0
289

अंबाला। भारतीय लोकतंत्र की खूबसूरती इसी में है कि यहां हर उम्र के लोग लोकतंत्र के महापर्व में बढ़चढ़ कर हिस्सा लेते हैं। मताधिकार का उपयोग करने में तो बुजुर्गों का उत्साह देखते ही बनता है। पर 2019 का चुनाव कई मायनों में मजेदार होगा। जहां एक तरफ 100 साल की उम्र पार कर चुके वोटर्स की संख्या में इजाफा हुआ है वहीं राजनीतिक दलों ने अपने बुजुर्ग हो चुके नेताओं से परहेज कर लिया है। किसी दल ने 80 या 90 उम्र पार चुके नेताओं को टिकट नहीं दिया है। यह पहली बार है जब लाल कृष्ण आडवानी, मुरली मनोहर जोशी, मनमोहन सिंह जैसे राजनेता चुनावी मैदान में नजर नहीं आएंगे। पढ़िए आज समाज की स्पेशल रिपोर्ट।
बॉक्स
हरियाणा में 100 साल से ज्यादा उम्र वाले 6 हजार मतदाता
हरियाणा के मतदाताओं से संबंधित चौंकाने वाले आंकड़े सामने आए हैं, जिसके मुताबिक आगामी चुनावों में कुल 5910 मतदाता ऐसे होंगे जिनकी उम्र 100 वर्ष से अधिक है। ऐसे मतदाताओं की संख्या सबसे ज्यादा करनाल में है। हरियाणा के करनाल शहर में 100 वर्ष से अधिक उम्र के 553 और पंचकुला में सबसे कम यानी 111 मतदाता हैं। यहां 90-99 साल की उम्र के 89,711 मतदाता हैं, जिनमें से सबसे ज्यादा 7946 मतदाता भिवानी में हैं।
बॉक्स
छत्तीसगढ़ में करीब साढ़े तीन हजार वोटर
छत्तीसगढ़ में ऐसे 3, 630 मतदाता हैं, जिनकी आयु 100 साल से अधिक है। राज्य में वर्तमान में एक करोड़, 81 लाख, 52 हजार 143 मतदाता हैं, जिनमें से पुरुष मतदाताओं की संख्या 91 लाख, 34 हजार, 816 तथा महिला मतदाताओं की संख्या 90 लाख, 16 हजार 517 है. वहीं, 810 ट्रांसजेंडर मतदाता हैं।

मधेपुरा और राजकोट में सर्वाधिक मतदाता
बिहार जैसे बड़े राज्य में भी हजारों मतदाता ऐसे हैं जिनकी उम्र सौ से पार है। बिहार के मधेपुरा लोकसभा क्षेत्र में ही 273 वोटर्स ऐसे हैं जिन्होंने सौ साल की उम्र पार कर ली है। इसी तरह गुजरात का राजकोर्ट शहर ऐसा है जहां 335 मतदाता ऐसे हैं जिनकी उम्र 100 वर्षों से अधिक उम्र के है। सबसे चौंकाने वाली बात यह है कि 100 और 101 वर्ष उम्र हो गई है ऐसे 216 मतदाता है।

– छत्तीसगढ़ में मतदाताओं की संख्या पौने दो करोड़ से अधिक है और इनमें से 3,630 मतदाता 100 से अधिक वसंत देख चुके हैं।
-पंजाब के लुधियाना जिले के चुनावी रिकॉर्ड के अनुसार मतदाता सूची में कम-से-कम 273 ऐसे मतदाता हैं जिनकी उम्र 118 वर्ष दिखाई गई है। बतौर रिकॉर्ड, सूची में 100 वर्ष से अधिक उम्र के करीब 863 मतदाता हैं।
-उत्तरप्रदेश के गोरखपुर में 642 ऐसे बुजुर्ग मतदाता हैं जिनकी उम्र 100 से अधिक है। वहीं 90 से 99 साल के बजुर्गो की संख्या जिले में 9466 है।

मेरठ ने तो विश्व रिकॉर्ड ही बना डाला
उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले में उम्र का शतक लगाकर 120 साल पूरे कर चुके मतदाताओं की बड़ी संख्या ने भारतीय निर्वाचन आयोग को भी हैरान कर दिया। अब हकीकत चाहे कुछ भी हो पर मतदाता सूची में शामिल दीर्घ आयु मतदाताओं के मामले में मेरठ विश्व रिकॉर्ड बनाने के करीब है। सूची के अनुसार सबसे अधिक चौकाने वाला सच किठौर विधानसभा क्षेत्र में मौजूद है। जहां एक वोटर 131 साल की आयु पार कर चुका है और अभी भी मतदाता सूची में जिंदा है। बड़ी संख्या में ऐसे मतदाता भी सूची की शान बढ़ा रहे हैं जो अपनी जिंदगी का 120वां बसंत भी देख चुके हैं। उम्र का विश्व रिकॉर्ड बनाते मतदाताओं की मेरठ में भारी संख्या देखकर खुद भारत निर्वाचन आयोग भी हैरान है। आयोग ने ऐसे मतदाताओं का सच जानने के लिए सत्यापन के निर्देश जारी किए हैं।

Load More Related Articles
Load More By admin
Load More In राजनीति

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

Roadmap to install air purifier towers in Delhi, no permanent solution to noise pollution – Supreme Court: दिल्ली में एयर प्यूरीफायर टावर लगाने का बने रोडमैंप, आॅड ईवन प्रदूषण का कोई स्थायी समाधान नहीं- सुप्रीम कोर्ट

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट प्रदूषण पर बेहद सख्त है। सुप्रीम कोर्ट सुनवाई करते हुए कहा कि ने …