आज समाज डिजिटल : 

Karva Chauth 2021 

Karva Chauth 2021  : कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी 24 अक्टूबर 2021 दिन रविवार को पड़ रही है। करवा चौथ पर इस बार रोहिणी नक्षत्र में पूजन होगा, खास बात ये है कि पांच साल बाद फिर इस करवा चौथ पर शुभ योग बन रहा है। तो वहीं रविवार का दिन होने की वजह से सूर्य देव का भी व्रती महिलाओं को आशीर्वाद प्राप्त होगा।

करवा चौथ के व्रत की पूजा विधि (Karva Chauth 2021 )

करवा चौथ सुहाग महिलाओ के लिये बहुत ही महत्वपुर्ण माना जाता हेै। अगर आप का पहला करवा है तो आप व्रत कोे करे इस तरा से : सुबह सूर्योदय से पहले उठकर स्नान कर लें। इसके बाद सरगी के रूप में मिला हुआ भोजन करें, पानी पीएं और गणेश जी की पूजा करके निर्जला व्रत का संकल्प लें। इसके बाद शाम तक न तो कुछ खाना और नाहीं पीना है। पूजा के लिए शाम के समय एक मिट्टी की वेदी पर सभी देवताओं की स्थापना कर इसमें करवा रखें। एक थाली में रोली, सिन्दूर, धूप, दीप, चन्दन रखें और घी का दीपक जलाएं। पूजा चांद निकलने के एक घंटे पहले शुरू कर दें। इसके बाद चांद के दर्शन कर व्रत खोलें।

करवा चौथ के दिन सुहागिन महिलाएं (Karva Chauth 2021 )

करवा चौथ इस साल रोहिणी नक्षत्र में होगा कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को ये व्रत रखा जाता है। इस साल ये चतुर्थी 24 अक्टूबर 2021 दिन रविवार को पड़ रही है। चांद का पूजन करवा चौथ के दिन सुहागिन महिलाएं पति की लंबी उम्र की कामना के लिए निर्जला व्रत रखती हैं। रात में चांद देखने के बाद व्रत खोला जाता है। खास बात ये है कि पांच साल बाद फिर इस करवा चौथ पर शुभ योग बन रहा है। करवा चौथ पर इस बार रोहिणी नक्षत्र में पूजन होगा, तो वहीं रविवार का दिन होने की वजह से सूर्य देव का भी व्रती महिलाओं को आशीर्वाद प्राप्त होगा।

करवा चौथ बन रहा शुभ योग(Karva Chauth 2021 ) 

पांच साल पहले करवा चौथ रविवार को पड़ रही थी। 8 अक्टूबर 2017 को रविवार के दिन ये व्रत रखा गया था। इस साल 24 अक्टूबर 2021 को भी रविवार का दिन है। रविवार का दिन सूर्य देव को समर्पित है। सूर्य देव के आरोग्यु का आशीर्वाद प्रदान करते हैं। इस दिन महिलाएं सूर्य देव का पूजन कर पति की दीघार्यु की कामना करें। शुभ मुहूर्त में पूजन करने से व्रती महिलाओं की हर इच्छा पूरी होगी। और पति की लंबी उम्र भी होती है।

चांद निकलने का समय (Karva Chauth 2021 ) 

रोहिणी नक्षत्र में चांद निकलेगा और पूजन होगा। कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि इस साल 24 अक्टूबर 2021, रविवार सुबह 3 बजकर 1 मिनट पर शुरू होगी, जो अगले दिन 25 अक्टूबर को सुबह 5 बजकर 43 मिनट तक रहेगी। इस दिन चांद निकलने का समय 8 बजकर 11 मिनट पर है। पूजन के लिए शुभ मुहूर्त 24 अक्टूबर 2021 को शाम 06:55 से लेकर 08:51 तक रहेगा। पूजा के लिए शाम के समय एक मिट्टी की वेदी पर सभी देवताओं की स्थापना कर इसमें करवा रखें। एक थाली में रोली, सिन्दूर, धूप, दीप, चन्दन रखें और घी का दीपक जलाएं। पूजा चांद निकलने के एक घंटे पहले शुरू कर दें। इसके बाद चांद के दर्शन कर व्रत खोलें।

Also Read  :Suryapratap Of Karnal : जेईई एडवासं के परिणाम के क्षितिज पर चमका करनाल का सूर्यप्रताप

Connect Us : FaceBook , Twiter