Home टॉप न्यूज़ Pragya Thakur was shown the exit route from the advisory committee of the Ministry of Defense for calling Nathuram Godse a ‘patriot’: नाथूराम गोडसे को ‘देशभक्त’ कहने पर प्रज्ञा ठाकुर को रक्षा मंत्रालय की सलाहाकार समिति से दिखाया गया बाहर का रास्ता

Pragya Thakur was shown the exit route from the advisory committee of the Ministry of Defense for calling Nathuram Godse a ‘patriot’: नाथूराम गोडसे को ‘देशभक्त’ कहने पर प्रज्ञा ठाकुर को रक्षा मंत्रालय की सलाहाकार समिति से दिखाया गया बाहर का रास्ता

0 second read
0
0
63

नई दिल्ली। भाजपा की सांसद प्रज्ञा ठाकुर एक बार फिर अपने विवादित बयान को लेकर चर्चा में आ गई हैं। नाथू राम गोडसे पर की गई उनकी टिप्पणी की आलोचना की जा रही है। इस बीच भारी विरोध के चलते उन्हें भाजपा ने प्रज्ञा ठाकुर ने रक्षा मंत्रालय की सलाहकार समिति से हटा दिया गया है। यह जानकारी भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने न्यूज एजेंसी को दी। भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने आगे कहा कि न केवल प्रज्ञा सिंह ठाकुर को रक्षा मंत्रालय की सलाहकार समिति से हटाया जा रहा है बल्कि इस सत्र में उन्हें संसदीय दल की बैठकों में भाग लेने की भी अनुमति नहीं दी जाएगी। भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने भाजपा की ओर से प्रज्ञा ठाकुर के नाथू राम गोडसे को लेकर दिए गए बयान से किनारा किया। उन्होंने कहा कि हम इस तरह के बयान और विचारधारा का समर्थन नहीं करती है। बता दें कि संसद में प्रज्ञा ठाकुर ने नाथू राम गोडसे को देशभक्त कहा था। दरअसल बुधवार को लोकसभा में एसपीजी संशोधन विधेयक पर चर्चा के दौरान राष्ट्रपति महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त करार दिया था। कांग्रेस सांसदों ने इस पर कड़ी आपत्ति जताई थी। प्रज्ञा के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा था कि इस तरह की टिप्पणी राष्ट्रहित में नहीं हैं। सदन में डीएमके सांसद ए. राजा ने चर्चा में हिस्सा लेते हुए नकारात्मक मानसिकता को लेकर गोडसे का उदाहरण दिया। इस पर प्रज्ञा ठाकुर अपने स्थान पर खड़ी हो गईं और कहा कि देशभक्तों का उदाहरण मत दीजिए। कांग्रेस ने इस पर सख्त विरोध जताया।

Load More Related Articles
Load More By Aajsamaaj Network
Load More In टॉप न्यूज़

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

Four new reconsideration petitions filed in Ayodhya case: अयोध्या मामले में चार नई पुनर्विचार याचिकाएं दायर

एजेंसी,नई दिल्ली। अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण का रास्ता साफ करने वाले उच्चतम न्यायालय…