Home टॉप न्यूज़ Contempt case closed with instructions to Rahul Gandhi to stay alert in future: राहुल गांधी को भविष्य में सर्तक रहने की हिदायत के साथ अवमानना मामला बंद हुआ

Contempt case closed with instructions to Rahul Gandhi to stay alert in future: राहुल गांधी को भविष्य में सर्तक रहने की हिदायत के साथ अवमानना मामला बंद हुआ

0 second read
0
0
117

लाइव हिन्दुस्तान। राहुल गांधी ने लोकसभा चुनावों में पीएम मोदी और भाजपा की केंद्र सरकार को राफेल सौदे में गड़बड़ी को लेकर घेरा था। राहुल पूरे जोर शोर के साथ पीएम मोदी को राफेल सौदे को लेकर कटघरे में खड़े करते रहे। राफेल सौदे में अनिल अंबानी को कांन्ट्रेक्ट दिए जाने को लेकर उन्होंने कहा था कि यह जानबूझकर किया गया है। वहीं राफेल सौदे में दाम को लेकर भ्ी बार-बार राहुल गांधी सवाल उठाते रहे। एक तरफ चुनावी रैलियों में जहां पीएम मोदी खुद को जनता का सेवक और चौकीदार बताते रहे वहंी दूसरी ओर राहुल गांधी इस संबंध में पीएम मोदी को ‘चौकीदार चोर है ‘ कहते थे। अपनी रैलियों में राहुल गांधी बराबर चौकीदार चोर है के नारे लगाते रहे। सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को राफेल अवमानना मामले में कांग्रेस नेता राहुल गांधी के खिलाफ मामला बंद करने का आदेश दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने राहुल गांधी की माफी स्वीकार करते हुए भविष्य में सतर्क रहने को कहा है। राफेल मामले में न्यायालय के 14 दिसंबर, 2018 के फैसले के खिलाफ पुनर्विचार याचिका के समर्थन में चुनिन्दा दस्तावेज की स्वीकार्यता पर केन्द्र की प्रारंभिक आपत्तियां अस्वीकार करने के शीर्ष अदालत के फैसले के बाद दस अप्रैल को कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ये टिप्पणी की थी। प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई, न्यायमूर्ति संजय किशन कौल और न्यायमूर्ति के एम जोसेफ की पीठ ने राहुल गांधी के खिलाफ अवमानना कार्यवाही के लिये लंबित इस मामले पर 10 मई को सुनवाई पूरी की थी। राहुल गांधी उस वक्त कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष थे और उन्होंने पीठ से कहा था कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से संबंधित अपनी टिप्पणी गलत तरीके से शीर्ष अदालत के हवाले से कहने पर वह पहले ही बिना शर्त माफी मांग चुके हैं।

Load More Related Articles
Load More By admin
Load More In टॉप न्यूज़

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

Roadmap to install air purifier towers in Delhi, no permanent solution to noise pollution – Supreme Court: दिल्ली में एयर प्यूरीफायर टावर लगाने का बने रोडमैंप, आॅड ईवन प्रदूषण का कोई स्थायी समाधान नहीं- सुप्रीम कोर्ट

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट प्रदूषण पर बेहद सख्त है। सुप्रीम कोर्ट सुनवाई करते हुए कहा कि ने …