Home राज्य IG Patiala discharges probationer SI Aditya from job for sexual exploitation and indiscipline: आईजी पटियाला ने प्रोबेशनर एसआई अदित्य को यौन शोषण और अनुशासनहीनता के चलते नौकरी से डिस्चार्ज किया

IG Patiala discharges probationer SI Aditya from job for sexual exploitation and indiscipline: आईजी पटियाला ने प्रोबेशनर एसआई अदित्य को यौन शोषण और अनुशासनहीनता के चलते नौकरी से डिस्चार्ज किया

1 second read
0
0
61

पटियाला। पटियाला के आईजी जतिन्दर सिंह औलख ने पुलिस के प्रोबेशनर सब इंस्पेक्टर अदित्य शर्मा की अपराधिक गतिविधियों में संलिप्ता, अनुशासनहीनता बरतने, यौन शोषण के दोषों और ड्यूटी से लगातार गैरहाज़िर रहने के मामले को गंभीरता से लेते हुए नौकरी से तुरंत प्रभाव के साथ बरख़ास्त कर दिया है।

विवादित अदित्य शर्मा के खिलाफ जिस महिला ने यौन शोषण के आरोप लगा दो केस दर्ज कराए थे। उस दौरान अदित्य ने अनुशासनात्मक कार्यवाही से बचने के लिए महिला से विवाह भी करवाया था। पुलिस विभाग के प्रवक्ता के मुताबिक वह लगातार गंभीर किस्म की अपराधिक गतिविधियों, यौन संभोग के दोष में शामिल रहा है। वहीं, पंजाब पुलिस अकादमी फ़िलौर की बेसिक ट्रेनिंग में भी असफल रहा। इत्तेफ़ाक़न शर्मा अपने प्रोबेशन के थोड़े समय के दौरान 109 दिनों के लिए सस्पेंड भी रहा और 65 दिनों के लिए ड्यूटी से भी गैरहाज़िर रहा।

इसका नोटिस लेते हुए आईजी जतिन्दर सिंह औलख ने शर्मा की बर्खास्तगी के हुकम जारी करते हुए कहा है कि शर्मा ने सीनियर पुलिस कप्तान पटियाला की तरफ से जारी किये गए कारण बताओ नोटिसों का भी जवाब नहीं दिया।

अदित्य के खिलाफ एक महिला ने यौन शोषण और मारपीट के आरोप लगा होशियारपुर के थाना सदर में केस दर्ज कराया था। उस समय कमांडेंट-कम-डिप्टी डायरेक्टर (प्रशासन), पंजाब पुलिस अकादमी फिलौर ने 23 सितम्बर 2019 को अदित्य की प्राथमिक प्रशिक्षण मुकम्मल हुए बिना ही उसकी पहली यूनिट में वापस भेज दिया था। उसके तबादले के हुकम में कहा गया था कि पीपीए में अधिकारी का व्यवहार अकादमी के वातावारण के अनुकूल नहीं है और वह 18 सितम्बर 2019 से लगातार गैरहाज़िर रहा है।

20 फरवरी 2020 को शर्मा ने एसएसपी पटियाला के पास दरख़ास्त दी थी कि शिकायतकर्ता महिला के साथ उसका समझौता हो गया है और महिला के साथ शादी रचा ली। इसके बाद एसएसपी पटियाला की सिफारिश पर उसका निलंबन रद्द करके विभागीय जांच और अपराधिक कार्यवाही लंबित थी। प्रोबेशनर एसआई 11 नवंबर 2019 से 2 मार्च 2020 तक कुल 109 दिनों तक सस्पेंड रहा।

इसी दौरान अपनी ड्यूटी से गैरहाज़िर रहने के आदी प्रोबेशनर अधिकारी को पुलिस अकादमी फिल्लौर में प्रशिक्षण के दौरान ड्यूटी से गैरहाज़िर रहने के कारण दो बार कारण बताओ नोटिस जारी हुआ, जिसका वह कोई जवाब नहीं दे सका। उसने 3 दिसंबर 2019 को दोबारा ड्यूटी जॉइन की, जिस दौरान उसने ड्यूटी से ग़ैर उपस्थित रहने का संक्षिप्त कारण बताया परन्तु 20 मई से 29 मई 2020 से वह फिर से गैरहाज़िर रहा है।

इस उपरांत, उसके विरुद्ध एक और केस हाल ही में 3 जून 2020 को उसी महिला ने जो अब इसकी पत्नी है, उसने पुलिस थाना गोराया में केस दर्ज कराया। इसमें महिला ने फरवरी में उनके विवाह के बाद अदित्य शर्मा द्वारा उस पर यौन और मानसिक अत्याचार कर रहा है।

Load More Related Articles
Load More By Chandan Swapnil
Load More In राज्य

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

Only the foundation of a golden future can be laid on the ground of national unity: Gurjit Kohli: राष्ट्रीय एकता के धरातल पर केवल सुनहरे भविष्य की नींव रखी जा सकती है:  गुरजीत कोहली

पटियाला।सेवा और राष्ट्रवाद की विचारधारा से ओत-प्रोत राजनीतिक दल “भारतीय जनसंघ”…