Home राजनीति Deepotsav was shown a glimpse of Indian culture, somewhere at conch shell, somewhere the slogans of mother Bharati echoed: भारतीय संस्कृति की झलक दिखा गया दीपोत्सव, कहीं शंख बजे तो कहीं गूंजे मां भारती के नारे

Deepotsav was shown a glimpse of Indian culture, somewhere at conch shell, somewhere the slogans of mother Bharati echoed: भारतीय संस्कृति की झलक दिखा गया दीपोत्सव, कहीं शंख बजे तो कहीं गूंजे मां भारती के नारे

1 second read
0
1
124

गुरुग्राम। कोरोना संक्रमण से हमारा देश व दुनिया जूझ रही है। इस माहौल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में लाइट्स बंद करके दीये, मोमबत्ती, बैट्री, मोबाइल फ्लैश आदि जलवाकर जो पॉजिटिव माहौल बनाया, उससे टेंशन में चल रहे देश का मूढ़ हल्का जरूर हुआ है। रविवार 5 मार्च की रात 9 बजे से 9 मिनट तक जो नजारा हमने नए व पुराने गुरुग्राम का देखा, वह बहुत खूबसूरत था।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर 5 अप्रैल की रात को दीवाली सा ही माहौल नजर आया। जिस पाश्चात्य संस्कृति को अपनाकर आज की युवा पीढ़ी खुद को एडवांस दिखाती है, वह भी इस बेमौसमी दीवाली में शामिल होती नजर आई। देश के अन्य शहरों की तरह देश-दुनिया के प्रमुख शहर गुरुग्राम में हर किसी ने अपने घरों की लाइट्स बंद करके दीयों से रोशन किया। कोरोना संक्रमण से हमारा देश व दुनिया जूझ रही है। इस माहौल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में लाइट्स बंद करके दीये, मोमबत्ती, बैट्री, मोबाइल फ्लैश आदि जलवाकर जो पॉजिटिव माहौल बनाया, उससे टेंशन में चल रहे देश का मूढ़ हल्का जरूर हुआ है। रविवार 5 मार्च की रात 9 बजे से 9 मिनट तक जो नजारा हमने नए व पुराने गुरुग्राम का देखा, वह बहुत खूबसूरत था। ऐसा तो लोग असली दीवाली के दिन एक समय पर एक साथ नहीं करते, जो इस मौके पर कर रहे थे। दीये जलाकर लोगों ने कोरोना काल को खत्म करने की अपने-अपने हिसाब से कामना, अरदास, दुआ और प्रार्थना की।

कहीं शंख बजे तो कहीं गूंजे मां भारती के नारे

इस मौके पर हमने डीएलएफ क्षेत्र में सोसायटी का दौरा किया। पौने नौ बजे से ही लोगों ने अपने फ्लैट रूपी घरोंदों से बाहर निकलकर ग्रील पर दीए लगाने शुरू कर दिए। यह खास बात रही कि 80 फीसदी लोगों ने दीए जलाए। बाकी किसी ने मोमबत्ती तो किसी ने मोबाइल की फ्लैश। पूरी तैयार करने के बाद जैसे ही 9 बजे तो गूंजने लगे नारे। बजने लगे शंख। भारत माता की जय, वंदे मातरम के नारों के साथ लोगों ने हम होंगे कामयाब गीत भी गाया। एक तरह से माहौल पूरा भावुकता का भी बना और खुशी का भी। यहां राजेंद्रा पार्क में एक परिवार ने भारत का मैप बनाकर दीये जलाए। सभी ने दीवाली की तरह यहां पर खुशियां मनाई। लोगों ने दीये जलाने के बाद सोशल मीडिया पर अपनी तस्वीरें सांझा की। बच्चों से लेकर बड़ों में खूब उत्साह रहा। सोमवार को भी लोग अपनी तस्वीरों को शेयर करते रहे।

Load More Related Articles
Load More By Aajsamaaj Network
Load More In राजनीति

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

Government to diagnose people’s concerns on China border tension-Congress: चीन सीमा तनाव पर लोगों की चिंताओं का निदान करे सरकार-कांग्रेस

नई दिल्ली। कांग्रेस के वरिष्ठ प्रवक्ता आनंद शर्मा ने चीन और भारत की सीमा पर उपजे विवाद और …