Home राजनीति Dam bigger than Hathnikund: CM: हथनीकुंड से भी बड़ा बांध : सीएम

Dam bigger than Hathnikund: CM: हथनीकुंड से भी बड़ा बांध : सीएम

3 second read
0
0
58
यमुनानगर। यमुनानगर से छोडेÞ जाने वाले पानी से भले ही दिल्ली की सांसें थम जाती हों, लेकिन अब हरियाणा हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड व उत्तर प्रदेश राज्यों की सीमा से सटे यमुनानगर में तीनों राज्यों से बड़ा एक ऐसा बंद बनाएगा जो हथनीकुंड से भी बड़ा होगा। इस बांध को लेकर सीएम मनोहर लाल ने यमुनानगर का दौरा किया और दावा किया कि यह बांध हथनीकुंड बांध से भी बड़ा होगा, जिससे यमुनानगर ही नहीं, बल्कि यमुना के साथ लगते हरियाणा के कई जिलों को बाढ़ से बचाया जा सकेगा। सीएम ने कहा कि इसे लेकर यमुना बोर्ड के सदस्यों के साथ-साथ पड़ोसी राज्यों से भी बातचीत की जाएगी। यमुनानगर के हथनीकुंड बैराज क्षेत्र का हवाई निरीक्षण करने के साथ-साथ मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने हथनीकुंड बैराज क्षेत्र का दौरा किया और हथनीकुंड बैराज से ऊपर खारापन बिजली घर तथा कलेसर ग्राम पंचायत के अंतर्गत आने वाले गांव माधोबांस व बंजारा बांस के नजदीक यमुना नदी पर पानी रोकने के लिए हथनीकुंड बैराज से बड़ा डैम बनाने की सम्भावनाओं का पता लगाने के लिए सिंचाई विभाग व अन्य विभागों के अधिकारियों के साथ विस्तार से विचार-विमर्श किया।
   हथनीकुंड बैराज पर कोई भी पानी को स्टोर करने का जरिए नहीं है और ऐसे में हर साल लाखों क्यूसिक पानी आता है और तबाही मचाता हुआ आगे बढ़ जाता है। पानी को स्टोर करने की जगह न होने के कारण यह पानी न तो सिंचाई के काम आता है और न ही किसी अन्य के लिए। बता दें कि अगस्त-सितंबर माह में यमुना पूरे उफान पर होती है और लाखों क्यूसिक पानी आने के बाद भी यह पानी व्यर्थ ही जाता है, लेकिन इस पानी को स्टोर करने के लिए अब हरियाणा सरकार ने पहल की है।
      ज्ञात रहे कि हथनीकुंड बैराज में कम मात्रा में पानी रोका जा सकता है। वर्षा ऋतु में नहरों का पानी बंद किया जाता है और यमुना नदी में हथनीकुंड बैराज से पानी छोड़ने से बाढ़ आने की सम्भावना होती है। उन्होंने कहा कि गांव कलेसर, माधोबांस व बंजारा बांस के साथ-साथ हिमाचल के कई गांव की जमीन का अधिग्रहण करने की संभावना को तलाशकर एक बड़ा डैम बनाने की सम्भावना पर सरकार द्वारा विचार किया जा रहा है। इस अवसर पर शिक्षा व वन मंत्री कंवर पाल, यमुनानगर के विधायक घनश्याम दास अरोड़ा, नगर निगम के मेयर मदन चौहान व पूर्व मंत्री कर्णदेव काम्बोज आदि मौजूद थे।
Load More Related Articles
Load More By Aajsamaaj Network
Load More In राजनीति

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

This is a long battle, neither tired nor lost – Prime Minister Modi: यह लंबी लड़ाई, न थकना है और न हारना है-प्रधानमंत्री मोदी

नई दिल्ली। आज भाजपा का चालीसवां स्थापना दिवस है जिसके अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने…