Home खेल अन्य खेल Halep became Wimbledon champion: सेरेना का सपना तोड़ हालेप बनी विम्बलडन चैम्पियन

Halep became Wimbledon champion: सेरेना का सपना तोड़ हालेप बनी विम्बलडन चैम्पियन

2 second read
0
0
127

लंदन। रोमानिया की सिमोना हालेप ने 56 मिनट तक चले विम्बलडन महिला वर्ग के फाइनल में सात बार की चैम्पियन सेरेना विलियम्स पर सीधे सेटों में सनसनीखेज जीत दर्ज करते हुए अमेरिकी स्टार के 24 ग्रैंडस्लैम खिताब के रिकार्ड की बराबरी करने के सपने को तोड़ दिया। सत्ताईस साल की हालेप ने 6-2 6-2 की आसान जीत से अपना दूसरा ग्रैंडस्लैम खिताब जीता। उन्होंने 2018 रोलां गैरां ट्राफी अपने नाम की थी।

सैंतीस साल की सेरेना ने अपना 23वां ग्रैंडस्लैम खिताब 2017 आस्ट्रेलियाई ओपन में जीता था और वह आस्ट्रेलिया की मारग्रेट कोर्ट के सर्वकालिक मेजर खिताब की बराबरी करने की कोशिश में जुटीं थीं। मैच के दौरान सेरेन ने 26 सहज गलतियां की जिसका उन्हें खामियाजा भुगतना पड़ा जबकि हालेप ने केवल दो ही गलतियां कीं। वह तीसरी बार ग्रैंडस्लैम के फाइनल में पहुंची लेकिन रिकार्ड की बराबरी करने से चूक गयीं। वह पिछले साल विम्बलडन के फाइनल में एंजेलिक कर्बर से और अमेरिकी ओपन के फाइनल में नाओमी ओसाका से हार गयी थीं। हालेप ने पहला और दूसरा सेट आसानी से 6-2 से अपने नाम किया। हालेप ने सात बार की चैम्पियन सेरेना के खिलाफ शुरू से ही दबदबा बनाया। उसने सेरेना के पहले दो सर्विस गेम ब्रेक करके 4-0 की बढ़त हासिल कर ली। इस समय तक हालेप ने छह विनर जमा लिये थे और एक भी सहज गलती नहीं की थी जबकि सेरेना एक भी विनर नहीं जमा सकी और नौ सहज गलतियां कर बैठीं। दूसरे सेट में भी यही हाल रहा जिससे हालेप को अपनी पहली विम्बलडन ट्राफी हासिल करने में ज्यादा पसीना नहीं बहाना पड़ा।

Load More Related Articles
Load More By Aajsamaaj Network
Load More In अन्य खेल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

Employees’ Provident Fund Organization gave gifts to pensioners: कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ने दिया पेंशनभोगियों को तोहफा

नई दिल्ली। कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ने पेंशनभोगियों को तोहफा दिया है। संगठन ने कर्मचारी …