Homeराज्यउत्तर प्रदेशRecord of distributing one lakh tonnes of ration a day in UP...

Record of distributing one lakh tonnes of ration a day in UP in Corona crisis: कोरोना संकट में यूपी में एक दिन में एक लाख टन राशन बांटने का रिकार्ड

लखनऊ उत्तर प्रदेश में कोरोना संकट के चलते सरकारी राशन की दुकानों से बुधवार को अनाज बांटने का बड़ा अभियान चलाया गया। इस दौरान करीब एक लाख टन गेंहूं व चावल बांटा गया है जिसमें आधे से ज्यादा गरीब परिवारों को मुफ्त दिया गया है। एक दिन में इतने अधिक लोगों को खाद्यान्न वितरण का यह अपने आप में रिकार्ड है। इसी महीने की 15 तारीख को एक बार फिर से यह अभियान चलाया जाएगा। यूपी के सभी 75 जिलों की लगभग 80000 दुकानों में एक साथ चले इस अभियान के तहत अकेले एक दिन में 1.67 करोड़ लाभार्थियों को खाद्यान्न का वितरण किया गया।
प्रदेश सरकार के मुताबिक बुधवार को 33.55 लाख राशन कार्ड धारकों को 94830 टन गेंहूं और चावल बांटा गया। इनमें से 19.99 लाख राशन कार्ड धारकों को मुफ्त अनाज दिया गया जबकि 13.56 लाख को भुगतान करने पर वितरण किया गया। सरकारी प्रवक्ता के मुताबिक कुल खाद्यान्न वितरण का 68.08 फीसदी मुफ्त जबकि 31.97 फीसदी भुगतान के साथ दिया गया। प्रदेश सरकार ने मनरेगा जाब कार्ड धारकों, श्रम विभाग के तहत पंजीकृत मजदूरों, नगर निकायों के पंजीकृत दैनिक वेतनभोगी मजदूरों व अंत्योदय के तहत कार्ड धारकों को मुफ्त अथवा मामूली कीमत पर अनाज बांटा है। कुल राशन कार्ड धारकों में 59.58 फीसदी को मुफ्त अनाज दिया गया है। हालांकि अभी देर शाम तक इन आंकड़ों के और भी बढ़ने की उम्मीद है। खाद्य एवं रसद विभाग का कहना है कि बुधवार के अभियान में ही खाद्यान्न का वितरण एक लाख टन पार हो जाने की उम्मीद है। प्रदेश में करीब 68000 टन राशन गरीबों को मुफ्त दिया जाना है।
शहरी क्षेत्रों पर पंचायत स्तर की राशन की दुकानों पर बुधवार को खाद्यान्न वितरण का अभियान चलाया गया है। इसके बाद 15 अप्रैल को एक बार फिर से यह अभियान चलाया जाएगा। सरकारी प्रवक्ता के मुताबिक सभी राशन की दुकानों पर सही उपभोक्ता की पहचान के प्वाइंट आफ सेल्स (ई-पास) मशीनों का उपयोग किया गया। संक्रमण के खतरे को देखते हुए राशन की दुकानों पर दूरी बनाए रखने व सैनिटाइजरों को उपलब्ध कराया गया था। जिला प्रशासन के स्वयंसेवकों ने सरकारी राशन की दुकानों पर उमड़ी भीड़ को दूर रखने में खासी मशक्कत की। राशन वितरण का काम सुबह से शुरु होकर देर शामत तक चलता रहा।  सभी जिलों में प्रशासनिक अधिकारियों को बुधवार को सरकारी राशन की दुकानों के निरीक्षण की जिम्मेदारी सौंपी गयी थी। बुधवार के अभियान में छूट गए लोगों को कल फिर से राशन का वितरण किया जाएगा।

अजय त्रिवेदी
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular