Homeराज्यउत्तर प्रदेशआस्था और मुसीबत: भारत-चीन सरहर पर महिला का पार्वती होने का दावा,...

आस्था और मुसीबत: भारत-चीन सरहर पर महिला का पार्वती होने का दावा, शिव-विवाह की जिद

आज समाज डिजिटल, Pithoragarh News:
उत्तर प्रदेश के लखीमपुर की एक महिला भारत-चीन बॉर्डर से नहीं लौट रही। इसके लिए जिला प्रशासन कई कौशिशें कर चुका है, लेकिन वह लौटने का नाम नहीं ले रही। महिला का दावा है कि वह देवी पार्वती है और शिव से विवाह करके ही रहेगी।

लखीमपुर की रहने वाली है हरमिंदर कौर

महिला का नाम हरमिंदर कौर है। वह उत्तर प्रदेश के लखीमपुर की रहने वाली है। वह इस समय उत्तराखंड के पिथौरागढ़ के नाभीढांग इलाके में है। जो भारत-चीन सीमा के साथ लगता इलाका है। यहां आम लोगों को जाने के लिए एक परमिट लेना पड़ता है। जो स्थानीय प्रशासन से 15 दिनों के लिए ही मिलता है। इसके बिना लोगों को वहां जाने की इजाजत नहीं है। बताया जा रहा है कि महिला अपनी मां के साथ वहां गई थी। इस जगह पर जाने के लिए उसने पहले पास बनवाया था, फिर जब पास की अवधि खत्म हो गई तो उसने वापस आने से इनकार दिया।

थकहार कर बेटी को छोड़ लौट गई मां

इसके बाद मां ने वापस से कुछ दिनों के लिए और परमिट बनवाई, फिर जब उसका भी समय समाप्त हो गया तो बेटी ने वापस जाने से मनाकर दिया। थक-हारकर मां वहां से वापस आई और प्रशासन से मदद की गुहार लगाई। इस मामले में एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि प्रतिबंधित क्षेत्र से महिला को वापस लाने के लिए धारचूला से दो सब इंस्पेक्टर और एक इंस्पेक्टर की तीन सदस्यीय पुलिस टीम भेजी गई थी, लेकिन युवती ने आने से इनकार कर दिया, फोर्स करने पर उसने आत्महत्या करने की धमकी दे डाली, जिसके बाद पुलिस टीम को खाली हाथ लौटना पड़ा।

अब कह रहे मानसिक स्थिति ठीक नहीं

महिला की मानसिक स्थिति सही नहीं बताई जा रही है। महिला का दावा है कि वो देवी पार्वती का अवतार है और वो भगवान शिव से यहां शादी करने के लिए आई है। अब प्रशासन एक बड़ी टीम भेजने की तैयारी कर रहा है, ताकि महिला को वहां से वापस लाया जा सके। प्रतिबंधित क्षेत्र में महिला के रुकने के बाद से खुफिया एजेंसियां भी सतर्क हो गई है। वो भी मामले पर नजर बनाए हुए है।

ये भी पढ़ें : आय से अधिक संपत्ति मामले में चौटाला दोषी करार, 26 को सजा पर होगी बहस

ये भी पढ़ें : टीजीटी-पीजीटी के 5500 पदों पर भर्ती जल्द: मनोहर लाल

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular