HomeपंजाबUncategorizedअनछुए पर्यटन स्थलों को विकसित करने के लिए है नई मंजिलें, नई...

अनछुए पर्यटन स्थलों को विकसित करने के लिए है नई मंजिलें, नई राहें योजना: जयराम

आज समाज डिजिटल, शिमला: 
मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि नई राहें, नई मंजिलें योजना नए पर्यटन स्थल विकसित करने की है, जहां अभी तक कोई आधारभूत ढांचा नहीं बना है। उन्होंने कहा कि पर्यटन की दृष्टि से लोग गिने-चुने स्थानों के बारे में ही जानते हैं। उन्होंने कहा कि इस योजना के लिए अटल टनल के साउथ पोर्टल पर हेलीपैड का निर्माण किया जा रहा है। वे प्रश्नकाल के दौरान कांग्रेस सदस्य सुंदर सिंह ठाकुर के सवाल का जवाब दे रहे थे। सुंदर ठाकुर ने कहा कि नई राहें, नई मंजिलें में कुल्लू हलके की कोई योजना स्वीकृत नहीं है। उन्होंने कहा कि इस हलके में कई पर्यटन स्थल है और पर्यटन की दृष्टि से अनछुए हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि जो पर्यटन स्थल नई राहें, नई मंजिल योजना के तहत लिए गए हैं, उन पर फोक्स होकर कार्य किया जा रहा है। इसमें चांशल घाटी में स्कीइंग और जंजैहली को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करना, छोटी काशी मंडी में शिव धाम का निर्माण करना, बीड़ बिलिंग को लिया है। वहीं, पौंग डैम में वाटर स्पोर्ट्स एक्टिविटी करने की दिशा में कार्य किया जा रहा है। वहीं, लारजी में वाटर स्पोर्ट्स की एक्टिविटी को प्रोत्साहित किया है। साथ ही तत्तापानी में बनी झील को भी वाटर स्पोर्ट्स की गतिविधि शुरू की है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि कुल्लू अपने आपमें अंतरराष्ट्रीय पर्यटन स्थल है। वहां पर अटल टनल रोहतांग में साउथ पोर्टल पर हेलीपैड का निर्माण किया जाना है। इसके लिए सात करोड़ रुपए के बजट का प्रावधान किया गया है। उन्होंने कहा कि नई राहें, नई मंजिलें योजना में कई योजनाओं पर कार्य हो रहा है। उन्होंने यह भी कहा कि कुल्लू विधानसभा हलके से इस योजना में कोई डेस्टिनेशन शामिल किया जा सकता है तो उसे शामिल करने पर विचार करेंगे।

फोटो-
विधानसभा सत्र के दौरान अपनी बात रखते हुए सीएम जयराम ठाकुर। आज समाज नेटवर्क

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments