HomeपंजाबUncategorizedFire in Factory at Sonepat: कुंडली की चप्पल फैक्ट्री में भीषण आग,...

Fire in Factory at Sonepat: कुंडली की चप्पल फैक्ट्री में भीषण आग, सोनीपत-बहादुरगढ़ से बुलानी पड़ी फायर ब्रिगेड की 14 गाड़ियां, घंटों बाद भी कंट्रोल नहीं

आज समाज डिजिटल, सोनीपत:

Fire in Factory at Sonepat: जिले के कुंडली इंडस्ट्रियल एरिया में चप्पल बनाने वाली फैक्ट्री में लग गई जिसे आग 7 घंटे बाद भी काबू नहीं किया जा सका। अग बुझाने के लिए फायर ब्रिगेड की 14 गाड़ियों को लगाया गया, आग का धुआं इतना अधिक था कि फायर कर्मी अंदर नहीं जा पाए। अनुमान लगाया जा रहा है कि फैक्ट्र में लगी आग से लाखों के नुकसान हुआ है।

Read Also: Wife Strangulated to Death: पत्नी की गला दबाकर हत्या करने का आरोपी 12 घंटे में गिरफ्तार 

धुआं निकलता देख सभी कर्मियों को बाहर निकाला Fire in Factory at Sonepat

Fire in Factory at Sonepat

बताया गया है कि हरियाणा इंडस्ट्रियल इंफ्रास्ट्रचर डेवलपमेंट कापोर्रेशन कुंडली में सेक्टर-53 के प्लाट नंबर-182 फेस-2 में प्लास्टिक और रबड़ की चप्पल बनाने की फैक्ट्री है। इसमें सबुह के समय अचानक से आग लग गई। तब फैक्ट्री में स्टाफ सुबह की शिफ्ट में आना ही शुरू हुआ था। फैक्ट्ररी में धुआं निकलता देख सभी कर्मियों को बाहर निकाला गया। आग की सूचना के बाद सोनीपत, राई और कुंडली से फायर ब्रिगेड की 5 गाड़ियों को आग पर काबू पाने के लिए भेजा गया।

दमकल की गाड़ियों ने पानी की बरसात की जिससे धुआं बढ़ कर गहरा होता गया। फैक्ट्री के अंदर क्या हो रहा है, किसी को भी दिखाई नहीं दिया। धुआं ज्यादा होने के कारण फायर कर्मी अंदर नहीं जा पाए। आग पर बाहर से कंट्रोल करने के प्रयास हुए। लेकिन आग बड़ी तेजी से फैलने लगी।

आग को बढ़ता देख कर सोनीपत के अलावा अन्य स्थानों से भी फायर ब्रिगेड की गाड़ियों को बुलवाया गया। फायर ब्रिगेड की 14 गाड़ियों को आग बुझाने में लगाया गया। लेकिन 7 घंटे बाद भी आग पर काबू नहीं पाया जा सका। आग के आसपास की फैक्ट्रियों में फैलने से रोकने के प्रबंध किए गए।

शॉर्ट सर्किट से लगी आग Fire in Factory at Sonepat

आग लगने की वजह बिजली के तारों में शॉर्ट सर्किट होना बताया जा रहा है। धुआं बढ़ने से आसपास रहने वालों के लिए सांस लेना दूभर हो गया है। आसमान पर घने धुएं के बादल दिख रहे हैं। फैक्ट्री में प्लास्टिक और रबड़ ज्यादा होने के कारण आग तेजी से फैली और इस पर कंट्रोल नहीं हो पाया। फिलहाल फैक्ट्री प्रबंधन दावा कर रहा है कि अंदर कोई कर्मचारी नहीं था। आग पर कंट्रोल के बाद ही अंदर हुए जान या माल के नुकसान पर पुख्ता जानकारी मिल सकेगी। पुलिस भी छानबीन में लगी है।

Read Also: Keeping the dead body jammed on the National Highway: पेगां महंत की मौत मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर शव को रख नेशनल हाइवे पर लगाया जाम

Also Read : Haryana Central University के आठ विद्यार्थियों को मिला प्लेसमेंट

Connect With Us:-  Twitter Facebook

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments