HomeपंजाबUncategorizedFarmers postponed proposed parliament march on 1 February, Delhi blames police for...

Farmers postponed proposed parliament march on 1 February, Delhi blames police for violence: किसानों ने 1 फरवरी को प्रस्तावित संसद मार्च टाला, दिल्ली हिंसा के लिए पुलिस को जिम्मेदार बताया

नई दिल्ली। संयुक्त किसान मोर्चा ने कल की हिंसा के बाद आज बैठक की और इसके बाद मीडिया सेबातचीत की। किसान नेताओं ने अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस मेंनेता करते किसान नेता राकेश टिकैत और बलबीर सिंह राजवाल, योगेन्द्र यादव उपस्थित थे। संयुक्त किसान मोर्चा के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने किसानों की ट्रैक्टर परेड के सफल बताया। उन्होंने कहा कि कल दिल्ली में ट्रैक्टर रैली काफी सफलतापूर्वक हुई। अगर कोई घटना घटी है तो उसके लिए पुलिस प्रशासन जिम्मेदार रहा है। कोई लाल किले पर पहुंच जाए और पुलिस की एक गोली भी न चले। यह किसान संगठन को बदनाम करने की साजिश थी। आगे उन्होंने कहा कि किसान आंदोलन जारी रहेगा। इसकी केसाथ भारतीय किसान यूनियन (आर) के नेता बलबीर सिंह राजेवाल ने कहा कि रैली सरकार की साजिश का शिकार हुई। इसे तोड़ने के प्रयासों के बावजूद 99.9% किसान शांतिपूर्ण थे। कुछ घटनाएं हुईं। सरकार ने पंजाब किसान मजदूर संघर्ष समिति के सदस्यों को हमारे लिए नाकाबंदी में डाल दिया, उनके लिए कोई नाकाबंदी नहीं है। आगे उन्होंनेकहा कि हम शहीद दिवस पर हम किसानों के आंदोलन की तरफ से पूरे भारत में सार्वजनिक रैली करेंगे। साथ ही उ न्होंने कहा कि हम एक दिन का उपवास भी रखेंगे। उन्होंने कहा कि मंगलवार कि हिंसा के कारण हमारा एक फरवरी को संसद मार्च स्थगित हो गया है।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular