HomeपंजाबUncategorizedएनसीबी हरियाणा के जागरूकता कार्यक्रम एवं पुनर्वास प्रभारी डॉ. अशोक कुमार राष्ट्रपति...

एनसीबी हरियाणा के जागरूकता कार्यक्रम एवं पुनर्वास प्रभारी डॉ. अशोक कुमार राष्ट्रपति पुलिस पदक से विभूषित

आज समाज डिजिटल, पानीपत:

पानीपत (Dr. Ashok Kumar honored with President’s Police Medal) हरियाणा राज्य स्वापक नियंत्रण ब्यूरो (एनसीबी) के उप निरीक्षक डॉ. अशोक कुमार वर्मा को महामहिम राज्यपाल हरियाणा बंडारू दत्तात्रेय के कर कमलों से राष्ट्रपति पुलिस पदक से विभूषित किया गया। यह सम्मान उन्हें सराहनीय पुलिस सेवाओं के लिए इंद्रधनुष आडिटोरियम सैक्टर 5 पंचकूला में प्रदान किया गया। इस पदक की घोषणा गणतंत्र दिवस पर वर्ष 2020 में गृह मंत्रालय भारत सरकार द्वारा की गई थी। सरहनीय एवं उत्कृष्ट पुलिस सेवाओं के लिए महामहिम राष्ट्रपति द्वारा प्रदत्त यह पुलिस पदक महामहिम राज्यपाल हरियाणा बंडारु दत्तात्रेय के कर कमलों से प्रदान किया गया।

 

एनसीबी हरियाणा के जागरूकता कार्यक्रम एवं पुनर्वास प्रभारी डॉ. अशोक कुमार राष्ट्रपति पुलिस पदक से विभूषित
एनसीबी हरियाणा के जागरूकता कार्यक्रम एवं पुनर्वास प्रभारी डॉ. अशोक कुमार राष्ट्रपति पुलिस पदक से विभूषित

अनेक अपराधों की गुत्थियां सुलझाने में उनका बड़ा योगदान रहा

उप निरीक्षक डॉ. अशोक कुमार वर्मा वर्ष 1998 से पुलिस में सेवाएं प्रदान कर रहे हैं। कड़े परिश्रम, कर्तव्यनिष्ठता, लग्न और ईमानदारी के फलस्वरूप वे उन्नति करते हुए सिपाही से मुख्य सिपाही, सहायक उप निरीक्षक और उप निरीक्षक के पद पर पहुंचे। उन्होंने अपनी सेवाएं अनेक ज़िलों में प्रदान की और लगभग 13 वर्ष एफएसएल में रहे और अनेक अपराधों की गुत्थियां सुलझाने में उनका बड़ा योगदान रहा और अब लगभग 17 माह से एनसीबी हरियाणा में सेवा कर रहे हैं। पुलिस विभाग में उत्कृष्ट पुलिस सेवाओं के साथ साथ वे समाज सेवा के विभिन्न क्षेत्रों में भी निरंतर कार्य कर रहे हैं।
पुलिस सेवाओं के लिए उन्हें विभाग द्वारा 110 प्रशंसा पत्र प्रदान किए हैं और साथ ही 41190 रूपए के नगद पुरस्कार भी पुलिस के अधिकारियों ने प्रदान किए हैं।

147 बार रक्तदान कर चुके हैं जिसमे 67 बार प्लेटलेट्स दे चुके

इतना ही नहीं अनेक बार उन्हें गणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस के समारोह में राज्य स्तर और जिला स्तर पर सम्मानित किया गया है। अंतर्राष्ट्रीय स्तर, राष्ट्रीय स्तर, राज्य स्तर के विभिन्न बड़े मंचों से सम्मानित हो चुके डॉ. अशोक कुमार वर्मा पुलिस सेवाओं के साथ साथ समाज सेवा के विभिन्न क्षेत्रों में अपनी अभूतपूर्व सेवाएं प्रदान कर रहे हैं। रक्तदान के क्षेत्र में हरियाणा के राज्यपाल के कर कमलों से 100 से अधिक बार रक्तदान के लिए स्वर्ण पदक प्राप्त कर चुके डॉ. वर्मा को सर्वाधिक रक्तदान शिविर लगाकर रक्त संग्रह करने के लिए राज्यपाल कुलचिन्ह (गोलाकार पुरस्कार) से भी अलंकृत किया गया है। वे स्वयं 147 बार रक्तदान कर चुके हैं जिसमे 67 बार प्लेटलेट्स दे चुके हैं। 397 स्वैच्छिक रक्तदान शिविर आयोजित कर 47000 से अधिक लोगों को रक्त उपलब्ध करा चुके हैं।
डॉ. वर्मा साइकिल पर चलते हैं और लोगों को भी साइकिल पर चलने के लिए प्रेरित करते हैं
विभिन्न स्थानों पर सड़क दुर्घटनाओं में 46 लोगों को प्राथमिक सहायता देकर समय पर अस्पताल पहुँचाने में विशेष योगदान दे चुके उप निरीक्षक डॉ. अशोक कुमार वर्मा ने सड़क पर बेसहारा घूम रहे एवं घायल 16 गौ वंश और पशुओं का उपचार कराया जिसमे अनेक प्राण त्याग चुके पशुओं का अंतिम संस्कार करने में योगदान दिया। 16000 से अधिक पौधे रोपित कर चुके डॉ. वर्मा साइकिल पर चलते हैं और लोगों को भी साइकिल पर चलने के लिए प्रेरित करते हैं। फलस्वरूप वे 296 से अधिक साइकिल जागरूकता यात्राएं निकाल लोगों को पर्यावरण संरक्षण का संदेश दे चुके हैं।
मृत्यु के पश्चात नेत्र दान के साथ साथ देह दान का भी संकल्प ले चुके हैं
साहब के दिशानिर्देशों, मार्गदर्शन और प्रेरणा से प्रयास संस्था के बैनर तले वे 40 से अधिक लोगों को नशा मुक्त करने में सहयोग कर चुके डॉ. अशोक कुमार वर्मा का कहना है कि यह सभी श्रेय हरियाणा राज्य स्वापक नियंत्रण ब्यूरो प्रमुख एवं अम्बाला मंडल के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक श्रीकांत जाधव साहब का है जिनकी प्रेरणा, मार्गदर्शन और नेतृत्व में वे कार्य कर रहे हैं। अनेक लेख एवं कविताओं की रचना कर चुके डॉ. अशोक कुमार वर्मा ने बताया कि वे जीते जी रक्तदान करते रहेंगे और मृत्यु के पश्चात नेत्र दान के साथ साथ देह दान का भी संकल्प ले चुके हैं।
ये भी पढ़ें : करनाल में कांग्रेस का कान खोलो प्रदर्शन, तालाबंदी का अल्टीमेटम
ये भी पढ़ें : हरियाणा-पंजाब सहित कई राज्यों में क्यों हुई बिजली गुल, गहराएगा संकट, ये हैं कारण
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular