HomeपंजाबUncategorizedबाल जगत : खरगोश व जादुई छड़ी Bal Jagat: Rabbit And Magic...

बाल जगत : खरगोश व जादुई छड़ी Bal Jagat: Rabbit And Magic Wand

आज समाज डिजिटल, अम्बाला:
Bal Jagat: Rabbit And Magic Wand: एक बार खरगोश शहर घूमने आया। गलियों में चंपू को घूमते देख बहुत से कुत्ते उसके पीछे दौड़ पड़े।

घर में रखी हुईं थीं अजीबोगरीब चीजें

कुत्तों से जान छुड़ाने के लिए चंपू भागकर गली के एक घर में जा छुपा। जहां घर बाहर से छोटा था, मगर अंदर से उतना ही बड़ा था। घर में ऐसी कई अजीबोगरीब चीजें रखी हुईं थीं। आवाज सुनकर चंपू कोने में दुबककर बैठ गया। उसने देखा कि काला और टोप पहने व्यक्ति अंदर आया उसने कोने में पड़ी छड़ी उठाई उसे घुमाया और गायब हो गया।

दरअसल, वह घर किसी जादूगर का था। चंपू खरगोश ने भी जादूगर की तरह छड़ी हाथ में उठाई, जादूगर की तरह घुमाया और छड़ी को हाथ में लिए ही घर से बाहर आ गया। जैसे ही उसने देखा कि कुत्ते पहले की तरह कोई प्रतिक्रिया नहीं कर रहे। धीरे-धीरे आगे जाकर वह कुत्तों के सामने जा खड़ा हुआ। कुत्ते न तो चंपू को देखकर भौंके और न ही झपटे।

छड़ी का कारनामा याद आया Bal Jagat: Rabbit And Magic Wand

वह निडर होकर चलता हुआ सुंदरवन लौट आया जहां वह अपने दोस्तों के बीच पहुंचा। उसके दोस्तों ने न उससे हैलो की न हाय! उसे जादूगर वाली छड़ी का कारनामा याद आया, उसे हंसी आई, वह समझ गया कि वह यहां पहुंच तो गया है किन्तु उसके साथी उसे देख नहीं पा रहे। उसने जैसे ही जादुई छड़ी को फिर घुमाया, वह दृश्य हो चुका था, उसके दोस्त अचानक उसे वहां देखकर आश्चर्य चकित थे। सब एक साथ उससे पूछ बैठे हैलो! दोस्त! कैसे हो, क्या हालचाल है, अब तक कहां थे….?
चंपू बोला-सब ठीक है, तुम लोग सुनाओ, यहां के क्या हालचाल हैं।
दोस्तों के चेहरे पर मायूसी छा गई। वे बोले-यार, यहां गड़बड़ चल रही है, कुछ दिनों से रात को घरों से छोटे बच्चों को उठाकर ले जा रहा है। शेरसिंह ने सब कुछ करके देख लिया किन्तु चोर पकड़ में नहीं आ रहा। उसका दोस्त शेरू बोला- शेरसिंह ने इतना ही नहीं चोर को पकड़ने वाले के लिए सुरक्षा व इनाम राशि देने की भी घोषणा की गई है।

सुरंग से बाहर आते ही एक गुफा दिखाई दी Bal Jagat: Rabbit And Magic Wand

मन ही मन चंपू ने सोचा कि मुझे ही कुछ करना पड़ेगा। उसने दोस्तों से चोर के कारनामों के बारे में जानकारी ली और योजना बनाने में लग गया। एक रात उसे जंपी मेमने के घर के बाहर खुसर-फुसर सुनाई दी। चंपू उस जगह जा पहुंचा जहां से आवाज आ रही थी। चंपू ने देखा कि अरे यह तो कालू सियार और टिंकी लोमड़ हैं।
चंपू को याद आया कि जंपी मेमने के दो छोटे-छोटे बच्चे हैं। वह अदृश्य होकर कालू व टिंकी के साथ चल दिया। कालू और टिंकी मेमने के घर घुसे और बच्चों को कुछ सुंघाकर उन्हें एक बोरी में डालकर बाहर आ गए।
चंपू खरगोश भी कालू और टिंकी के साथ चल दिया। कालू और टिंकी अंजान रास्ते में पहुंचे जहां बहुत ही अंधेरा था। उन्होंने टार्च निकालकर सुरंगनुमा रास्ते पर चल दिए।

Read Also : इम्यून सिस्टम को कमजोर बनाती है ये चीजें, रखें परहेज Injurious To Health

सुरंग से बाहर आते ही एक गुफा दिखाई दी। कालू ने गुफा के मुंह से एक बड़े पत्थर को हटाया। वहां सारे जानवरों के बच्चों को लाकर रखा गया था। कालू और टिंकी ने मेमने के बच्चों को भी वहीं छोड़ दिया और बाहर आ गए। बाहर आते ही कालू ने फोन पर किसी से बात करने लगा। कालू की बातें सुनकर चंपू हैरान रह गया, कालू और टिंकी चोरी किए गए बच्चों की तस्करी के लिए वहां से कहीं बाहर भेजने की फिराक में थे। कालू ने टिंकी से कहा कि कल शाम तक यहां एक गाड़ी आएगी और बच्चों को बाहर ले जाया जाएगा।

चंपू ने शेरसिंह को सुझाया Bal Jagat: Rabbit And Magic Wand

चंपू के होश उड़े हुए थे, जंगल पहुंचते ही तुरंत ही वह शेरसिंह से मिलकरसारा हाल शेरसिंह को सुनाया। शेरसिंह को कालू और टिंकी पर गुस्सा आया। चंपू ने शेरसिंह को सुझाया कि अब कालू और टिंकी की खैर नहीं, चंगुल में फंसे बच्चों को जल्दी मुक्त कराना होगा। शेरसिंह जल्दी ही चंपू व कई सारे जानवरों की सेना के साथ वहां पहुंचा जहां बच्चों को कैद किया हुआ था। सूझबूझ से बच्चों को मुक्त कराया।  

Read Also : Home Remedies For Mouth Ulcers क्या आप  भी मुंह के छालों से हैं परेशान, तो अपनाएं  इन 5 नुस्खों को  मिलेगा आराम

बड़ी सेना के साथ देखकर बेहोश होकर गिर पड़े Bal Jagat: Rabbit And Magic Wand

शाम होने में कुछ ही समय बाकी था। कालू और टिंकी टार्च जलाकर सुरंग से बाहर आते दिखाई दिए। कालू और टिंकी बैडी को लेकर गुफा के अंदर गए। गुफा के अंदर जानवरों के बच्चों को न पाकर वे तीनों अचंभित थे।
जैसे ही तीनों चोर बाहर आए शेरसिंह को उसकी बहुत बड़ी सेना के साथ देखकर बेहोश होकर गिर पड़े। तीनों चोरों को जंगल में लाकर एक पेड़ से बांध दिया गया और होश आने पर उनकी इतनी पिटाई हुई कि उन्हें अच्छी तरह समझ आ गया था कि बदमाशी करने का क्या परिणाम होता है।

Read Also : ‘पठान’ के इंटरनेशनल लेग के लिए स्पेन जा रहे हैं शाहरुख खान, अपने ड्राइवर को गले लगाया Pathan Teaser Launch

Read Also : परिणीति सीरियल अभिनेता अंकुर वर्मा का कहना है कि मुझे अपने परिवार और मम्मी के हाथ के खाने की याद आती है कौन है अंकुर वर्मा Parineeti Serial

Connect With Us : Twitter Facebook

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular