HomeपंजाबUncategorizedवेंटिलेटर सपोर्ट पर प्रणब मुखर्जी की हालत नाजुक

वेंटिलेटर सपोर्ट पर प्रणब मुखर्जी की हालत नाजुक

नई दिल्ली।

कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की हालत गंभीर बनी हुई है। उन्हें सोमवार को दिल्ली के आर्मी आरआर अस्पताल में भर्ती कराया गया था। यहां उनकी मस्तिष्क के थक्के के लिए आपातकालीन जीवन रक्षक सर्जरी की गई। सर्जरी के बाद भी उनकी हालत गंभीर बनी हुई है और वह वेंटिलेटर सपोर्ट पर हैं।

84 वर्षीय पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने कल ट्वीट किया, ”अन्य कारणों से अस्पताल गया था, जहां पर कोविड-19 जांच में संक्रमित होने की पुष्टि हुई। मैं अनुरोध करता हूं कि जो लोग गत एक हफ्ते में मेरे संपर्क में आए हैं, वे सेल्फ क्वारंटाइन में चले जाएं और अपनी कोविड-19 की जांच कराएं।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और वर्ष 2012 से 2017 तक देश के राष्ट्रपति रहे प्रणब मुखर्जी के जल्द स्वस्थ होने की कामना की है। उन्होंने कल मुखर्जी की बेटी शर्मिष्ठा मुखर्जी से बात कर उनके पिता की तबीयत के बारे में पूछा।

वहीं, कल रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आरआर अस्पताल जाकर पूर्व राष्ट्रपति के स्वास्थ्य की जानकारी ली थी। वह अस्पताल में करीब 20 मिनट तक रहे। वहीं, कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला सहित पार्टी के कई साथियों ने भी मुखर्जी के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की।

जानकारी के अनुसार, पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की सोमवार को सेना के रिसर्च और रेफरल (आर एंड आर) अस्पताल में मस्तिष्क की सर्जरी हुई। मस्तिष्क में बने खून के थक्के को हटाने के लिए यह सर्जरी की गई है।

सर्जरी के बावजूद उनकी हालत गंभीर बनी हुई है और उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया है। सूत्रों ने यह भी बताया कि प्रणब मुखर्जी के अन्य सभी स्वास्थ्य मानक स्थिर हैं और सर्जरी सफल रही। डॉक्टरों की एक टीम उनकी सेहत पर नजर रखे हुए है।

 

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular