Homeराज्यपंजाबपठानकोट : असंतुलित हुए राजस्थान के ट्राले ने तीन कारो, एक बस...

पठानकोट : असंतुलित हुए राजस्थान के ट्राले ने तीन कारो, एक बस और एक आटो को मारी टक्कर

राज चौधरी, पठानकोट :
राजस्थान नंबर के एक ट्राले ने आज शहर के चक्की पुल पर अपना संतुलन खो दिया जिसके बाद पांच बहन बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई। काल बनकर वाहनों को कुचलते इस हादसे में फिलहाल कोई भी व्यक्ति हताहत नहीं हुआ है जबकि आधा दर्जन से अधिक लोग गंभीर रूप से घायल हुए हैं। अनयत्रिंत हुए 10 टायरी ट्राले ने पहले दो कारो को, उसके बाद एक बस तथा बाद एक आटो और फिर एक फैमली सवार कार को टक्कर मार कर पूरी तरह से क्षतिग्रस्त कर दिया। दुर्घटना के बाद डरा हुए ट्राला चालक मौके पर ही फरार हो गया। दुर्घटना के बाद मौके पर चीख पुकार और अफरा तफरी का माहौल पैदा हो गया। प्रत्यक्ष दर्शियो के अनुसार ट्रालें ने इतनी तेज रफ्तार से आधा दर्जन से ज्यादा वाहनो को टक्कर मारी कि लगता नहीं था कि कोई भी जिंदा बच होगा।


गनीमत रही कि ट्राले के आगे फंसी कार जिसमें तीन महिलाएं, चालक और एक 15 दिन का बच्चा भी था, बाल-बाल बच गया। आसपास के लोगो और एसएचओ डिविजन नम्बर दो दविन्द्र प्रकाश ने गाड़ी के शीशे/दरवाजे तोड़कर अंदर बुरी तरह से फंसी इस फैमली को बाहर निकाला। बताया जा रहा है कि ट्राला आरजे 13 जीबी 7887 जो कि सामान से लोडिड था, चक्क पुल क्रास कर पठानकोट आया ही था, कि चालक ने उसे पर से अपना नियंत्रण खो दिया, पहले उसने एक कार पीबी 35 एक्स 4801 को टक्कर मारी, जोकि आगे और पीछे दोनो तरफ से दुर्घटनाग्रस्त हो गईं। उसमे हिमाचल प्रदेश के ज्वाला जी निवासी कमल किशोर चला रहा था, जिसमें उसकी पत्नी भी सवार थी। दोनो को मामूली चोट आई। इसके बाद ट्राला एक दिल्ली नम्बर की कार को टक्कर मार आगे की तरफ निकल गया। परन्तु उक्त कार चालक के अनुसार उसने गाड़ी को एक तरफ कर लिया, जिससे उसका ज्यादा नुक्सान नहीं हुआ।

इसके बाद बस नम्बर एचपी 68 सी 8833 जो कि कंदरोड़ी से सवारियां लेकर चक्की अड्डे पर खड़ी थी कि इसको भी ट्राले ने टक्कर मार, जिससे किसी सवारी को चोट तो नहीं आई परन्तु अचानक हुई टक्कर से आसमान चीखां से गूंज पड़ा। इसके एक आटो पीबी 35 क्यू 8131 महिला सवारी को बिठा कर पठानकोट तरफ मुड़ ही रहा था कि उसे ट्राले ने अपनी चपेट में लेकर चक्कनाचूर कर दिया। हालांकि चालक और उसमें सवार महिला को मामूली चौट आई है। आटो को टक्कर मारने के बाद ट्राले ने आगे चल रही कार एचपी 38 डी 8477 के अपनी चपेट में लेकर कई मीटर तक घसीटता हुआ साथ ले गये। इससे कार बुरी तरह से ट्राले के नीचे जा फंसी। कार के ट्राले के नीचे फंसने से ट्राला वहीं पर रूक गया। आसपास एकत्रित हुए सैकड़ां लोगो ने किसी तरह से धक्का लगाकर उक्त ट्राले को पीछे किया और उसके नीचे चकनाचूर हुई गाड़ी जिसे तपकौर नजदीक वैष्णो कालेज भदरोया निवासी गगन पठानिया चला रहा था,को बाहर निकाला। गगन पठानिया के साथ ही उसकी पत्नी आरती, साली वैशाली व मां प्रेम लता के साथ ही 15 दिन के बेटे को भी बाहर निकाला। गनीमत रही कि किसी को भी गहरी चौट नहीं लगी हालांकि परिवार दहशत में जरूर था।
इस मौके पर डीएसपी राजेन्द्र मन्हास भी पहुंच गए तथा किसी तरह से दुर्घटनाग्रस्त हुई गाड़ियां को साइड पर करके जाम को सामान्य करवाया। उन्होनें बताया कि इसकी जांच शुरू कर दी गई है। वहीं एसएचओ दविन्द्र प्रकाश ने बताया कि ट्राले को कब्जे में ले लिया गया तथा शीघ्र ही उसका चालक को भी हिरासत में ले लिया जाएगा।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments