Homeराज्यपंजाबनवांशहर के 2 विधानसभा क्षेत्र बंगा और नवांशहर में कांग्रेसियों के साथ...

नवांशहर के 2 विधानसभा क्षेत्र बंगा और नवांशहर में कांग्रेसियों के साथ विरोधियों को भी उम्मीदवारों की टेक : Tech Of Candidates In Nawanshahr

Tech Of Candidates In Nawanshahr

जगदीश, कलसोत्रा, नवांशहर:
Tech Of Candidates In Nawanshahr : कांग्रेस पार्टी की ओर से बलाचौर विधानसभा सीट पर स्थानीय विधायक दर्शन लाल मंगूबाल को फिर से मैदान में उतार दिया है। नवांशहर तथा बंगा से पार्टी के उम्मीदवार कौन होंगे इस सम्बन्धी पार्टी ने अभी पत्ते नहीं खोले हैं। कांग्रेसजनों की मानें तो नवांशहर से मौजूदा विधायक अंगद सिंह सैनी का टिकट पक्का माना जा रहा है मगर बंगा पर पेंच फंसा होने के कारण बंगा का एक कांग्रेस के टिकट के दावेदार ने हाईकमान के आगे ये बात रखी है कि आप तथा अकाली दल ने जिले की 3 सीटों में से 1 पर महिला उम्मीदवार उतारे हैं।

Read Also: अब ठीक हैं लता मंगेशकर, डॉक्टरों ने जारी किया हेल्थ अपडेट Lata Mangeshkar Health Update

कांग्रेस महिला उम्मीदवार को दे टिकट Tech Of Candidates In Nawanshahr

कांग्रेस पार्टी को भी नवांशहर महिला उम्मीदवार को दे देनी चाहिए। बंगा तो सियासत की रणभूमि बन गया है। अगर स्थानीय उम्मीदवार का मुद्दा उठे तो बंगा से हरप्रीत सिंह कैथ तथा कमलजीत लाल 2 ऐसे उम्मीदवार हैं जो स्थानीय ही है। उधर बंगा से 2 बार विधायक रहे तरलोचन सिंह सूंढ कि रिहायश भी मोहाली में है। कांग्रेस पार्टी को आदमपुर की तरह बंगा में भी स्थानीय उम्मीदवार को टिकट देना चाहिये। आधार पर में सुखविंदर सिंह कोटली को टिकट देकर कांग्रेस ने 1 तीर से कई निशाने साधे है और उसका फल भी कांग्रेस को अच्छा ही मिलेगा।

बड़े नेता हिमायतियों के फेर में Tech Of Candidates In Nawanshahr

कई बड़े नेता बंगा को अनाथ समझकर अपने अपने हिमायतियों को टिकट देने का जुगाड़ बना रहे हैं। कांग्रेस पार्टी के 1 नेता ने नाम न बताने की शर्त पर कहा कि कांग्रेस की सीनियर लीडरशिप ने बंगा को जुगाड़ी विधानसभा क्षेत्र समझ रखा है। वहीं अब बाजार चर्चा का गर्म है के स्थानीय किसी दूसरी राजनीतिक पार्टी का कोई नेता बंगा से विधायक चुना जाए तो वह बाद में कांग्रेस पार्टी में शामिल हो सकता है तथा कांग्रेस अपनी ही जमीन मजबूत बना सकती है तथा बंगा में विरोधियों का पत्ता बिलकुल साफ कर सकती है।

बंगा में नहीं हो रही है तस्वीर साफ Tech Of Candidates In Nawanshahr

बंगा। बंगा विधानसभा क्षेत्र कांग्रेस की ही हॉट सीट बन रही है । जालंधर वैस्ट से अपने ही चेले विधायक सुशील कुमार रिंकू से शिकस्त खाने वाले चौधरी महेन्द्र सिंह केपी भी अपने रिश्तेदार व सीएम पंजाब चरणजीत सिंह चन्नी के माध्यम से बंगा से टिकट हासिल करने का जुगाड़ लगा रहे हैं। इसके अलावा संतोख सिंह चौधरी के बेटे विक्रम चौधरी सरवण सिंह फिल्लौर खुद व अपने बेटे दमन प्रीत सिंह,पूर्व सांसद संतोष चौधरी अपनी बेटी मान्यता चौधरी के लिए के लिए जुगाड़ लगा रही है।

स्थानीय और बाहरी मुद्दा पड़ सकता है भारी Tech Of Candidates In Nawanshahr

बंगा। बंगा में स्थानीय व बाहरी उम्मीदवार का मुद्दा अब भारी हो रहा।बंगा विधानसभा क्षेत्र के लोगों के लिए अब दूसरी विधानसभा क्षेत्र में रहने वाला व्यक्ति भी बाहरी है तो वह बाहर से आए हुए उम्मीदवार को कैसे सहन करेगे।5 साल पहले भी बंगा विधानसभा का राजनैतिक परिदृश्य बदला था अब भी बदलने को तैयार है अब नई सोच के नए वोटर मैदान में हैं। मुफ्तखोरी तथा घिसे पिटे पुराने वादे तथा भड़काऊ भाषण अब बंगा के लोगों के लिए काम नहीं आएंगे।

बड़ी सोच करेगी टिकट बंटवारे में काम Tech Of Candidates In Nawanshahr

बंगा। कांग्रेस पार्टी के लिए बंगाल विधानसभा सीट पर टिकट का फैसला बहुत सोच समझ कर देना होगा क्योंकि बंगा विधानसभा क्षेत्र 1951 से लेकर अब तक कांग्रेस की पक्षधारी सीट रही है ।अब तक बंगा में 1 बार कम्युनिस्ट पार्टी, 5 बार शिरोमणि अकाली दल, एक वार बसपा, बारा वार इंडियन नेशनल कांग्रेस के उम्मीदवार ही चुनाव जीते।

अब तक बंगा से ये लोग रह चुके हैं विधायक Tech Of Candidates In Nawanshahr

बंगा से हरभज सिंह 2 बार कांग्रेस पार्टी के उम्मीदवार के रूप में विधायक रहे। 2 बार सरदार दिलबाग सिंह सैनी नवाशहर वाले विधायक रहे। 3 बार चौधरी जगतराम सूंढ बंगा से विधायक रहे । शिरोमणि अकाली दल व कांग्रेस के गठबंधन में हरगुनाद सिंह बंगा से विधायक रहे। बलवंत सिंह सरहाल बंगा से अकाली दल के विधायक रहे। चौधरी मोहनलाल 2 बार बंगा से अकाली दल के विधायक रहे। डॉ सुखविंद्र कुमार सुक्खी मौजूदा शिरोमणि अकाली दल बादल के बंगा विधायक हैं। हरबंस सिंह बीका बंगा से सीपीआईएम के विधायक रहे। सतनाम सिंह कैंथ बहुजन समाज पार्टी के बंगा से विधायक रहे।

Tech Of Candidates In Nawanshahr

Read Also : हरियाणा की सबसे बुजुर्ग महिला का 115 साल की उम्र में निधन : Haryana’s Oldest Passed Away

READ ALSO : कैनाल डेवलपमेंट फ्रंट प्रोजेक्ट 15 फरवरी तक पूरा: डीसी : Canal Development Front Project

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular