Homeराज्यपंजाबगुरदासपुर : बेरोजगार युवाओं को रोजगार एवं स्वरोजगार प्रदान करने के लिए...

गुरदासपुर : बेरोजगार युवाओं को रोजगार एवं स्वरोजगार प्रदान करने के लिए बनाया जाएगा हुनरमंद

गगन बावा, गुरदासपुर :
अचीवर्स प्रोग्राम स्टोरीज आॅफ द चैंपियन आफ गुरदासपुर के 52वें एडिशन में मुख्य मेहमान के तौर पर लेफ्टिनेंट कर्नल गुरमुख सिंह सैनी तहसील हैड जीओजी दीनानगर ने शिरकत की। इस मौके पर डीसी मोहम्मद इशफाक, डीईओ हरपाल सिंह, जिला लोक संपर्क अधिकारी हरजिंदर सिंह कलसी, जिला रेडक्रास सोसायटी सचिव राजीव कुमार सहित विभिन्न स्कूलों के प्रिंसिपल और जिले के लोग शामिल रहे।
मेहनत का कोई विकल्प नहीं :
इस मौके पर संबोधित करते लेफ्टिनेंट कर्नल सैनी ने कहा कि डीसी की ओर से शुरू किया गया अचीवर प्रोग्राम बहुत शानदार प्रयास है। इससे युवा पीढ़ी को जिंदगी में आगे बढ़ने के लिए बहुत प्रेरणा मिलती है। उन्होंने आगे कहा कि मेहनत का कोई विकल्प नहीं है और कदम दर कदम मेहनत करके आगे बढ़ना चाहिए। उन्होंने युवाओं को कहा कि वह मेहनत करें करने से ना घबराए और देश की सेवा के लिए ज्यादा से ज्यादा आगे आए।
युवाओं को रोजगार दिलाएंगे : डीसी
डीसी मोहम्मद इशफाक ने कहा कि अचीवर्स प्रोग्राम का मुख्य उद्देश्य दिए से दिया जलाना है ताकि गुरदासपुर वासियों की ओर से प्राप्त की गई सफलताओं से युवाओं को जिंदगी में आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित किया जा सके। उन्होंने आगे बताया कि जिला प्रशासन की ओर से जरूरतमंद लोगों को सरकार की ओर से प्रदान की जा रही विभिन्न भलाई स्कीमों का लाभ देने के उद्देश्य से सामाजिक सुरक्षा विलेज कैंपेन चलाई जा रही है। इसके तहत बीते दिनों लोक भलाई रथ भी रवाना किया गया था ताकि लोक भिलाई स्कीमों का लाभ उठाने के लिए जागरूक हो सके। उन्होंने बताया कि जिस तरह पंजाब सरकार ने स्मार्ट विलेज कैंपेन भाव शहरों की तर्ज पर गांवों में सुविधाएं देने की मुहिम चलाई है, ठीक उसी तरह से सामाजिक सुरक्षा विलेज कैंपेन चलाई गई है। इसके माध्यम से लोगों को शगुन स्कीम, बुढ़ापा व विधवा पेंशन, सरबत सेहत बीमा योजना, रोजगार एवं स्वरोजगार आदि स्कीमों का लाभ दिया जा रहा है। डीसी ने आगे कहा कि जिले के बेरोजगार युवाओं को रोजगार एवं स्वरोजगार मुहैया कराने के उद्देश्य से हुनरमंद बनाया जाएगा। इस संबंधी जिला रेडक्रॉस सोसायटी को ट्रेनिंग पार्टनर बनाने की प्रक्रिया चल रही है जो जल्द पूरी हो जाएगी। उन्होंने बताया कि युवाओं को विभिन्न क्षेत्रों में रोजगार उपलब्ध कराया जाएगा। जिला प्रशासन युवाओं को ज्यादा से ज्यादा फैसिलिटेट करने के लिए वचनबद्ध है।
असफलता से घबराना नहीं चाहिए :
इस मौके पर पहले अचीवर भारत बजाज विंग कमांडर इंडियन एयर फोर्स ने बताया कि उन्होंने आर्मी स्कूल टिबरी कैंट से स्कूल की पढ़ाई पूरी की। गुरु नानक देव यूनिवर्सिटी अमृतसर से साल 2009 में बीटेक की। इसके बाद आईआईटी मद्रास से एमटेक एयरोस्पेस इंजीनियरिंग पास की। अब भारतीय वायुसेना में विंग कमांडर के तौर पर सेवाएं दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि दृढ़ इच्छाशक्ति और मेहनत से हम अपने सपने पूरे कर सकते हैं। जीवन में असफलता से कभी घबराना नहीं चाहिए।
कभी भी हिम्मत न हारें :
दूसरी अचीवर संतोष नेशनल एवं इंटरनेशनल जिमनास्टिक खिलाड़ी ने बताया कि उसने पढ़ाई के साथ तीसरी कक्षा से खेलना शुरू कर दिया था। इसके चलते जिमनास्टिक में स्टेट स्तर पर 35 गोल्ड मेडल, 25 सिल्वर और 8 कांस्य मेडल जीत चुकी है। नेशनल स्तर पर सब जूनियर, जूनियर नेशनल और सीनियर नेशनल में गोल्ड, सिल्वर और कांस्य पदक जीते और इंटरनेशनल स्तर पर भी जिमनास्टिक में भाग लेकर देश का नाम रोशन किया। उन्होंने कहा कि जीवन में अपने देश की सेवा के लिए ज्यादा से ज्यादा योगदान देने के लिए आगे आना चाहिए। कभी भी हिम्मत नहीं हारना चाहिए। अपनी सेहत का ध्यान रखें और रोजाना कसरत करें। उन्होंने परिजनों से अपील की कि वे लड़कियों को जीवन में आगे आने के लिए ज्यादा से ज्यादा अवसर दें और उनके साथ लड़कों की तरह ही व्यवहार करना चाहिए। उन्होंने स्टूडेंट्स को कहा कि वह पढ़ाई और खेल के लिए टाइम टेबल सेट करें। अपने टीचरों और पेरेंट्स का पूरा सम्मान करें। जीवन में असफल होने पर और मेहनत करनी चाहिए। अचीवर्स प्रोग्राम के अंत में जूम लाइव प्रोग्राम के दौरान स्टूडेंट्स और जिला वासियों की ओर से अचीवर्स के साथ किए गए सवालों के जवाब भी दिए गए। जिला रेडक्रास सोसायटी की ओर से अचीवर्स को सम्मानित भी किया गया।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments