Homeराज्यपंजाबभगवंत इंपैक्ट : अभी दो मंत्री और रेडार पर, कार्रवाई कभी भी

भगवंत इंपैक्ट : अभी दो मंत्री और रेडार पर, कार्रवाई कभी भी

आज समाज डिजिटल, Punjab News: पंजाब में नई सरकार के गठन के बाद भगवंत इंपैक्ट साफ नजर आ रहा है। पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री डा. विजय सिंगला को सत्ताहीन कर जेल भेजने के बाद भी आप सरकार चुप बैठने वाली नहीं है। जनता से भ्रष्टाचारमुक्त सरकार देने का वादा करने के बाद ही पार्टी सत्तासीन हुई है। मुख्यमंत्री का दावा है कि किसी भी भ्रष्टाचारी को बख्शा नहीं जाएगा।

एक मंत्री माझा दूसरा दोआबा से

उन्हें मंत्रिमंडल से बर्खास्त करने के बाद यह बात यहीं खत्म नहीं होने वाली है। भ्रष्टाचार पर सरकार ने जीरो टॉलरेंस नीति अपना रखी है। मुख्यमंत्री भगवंत मान के रेडार पर अभी दो और मंत्री हैं। इनमें से एक माझा और दूसरा दोआबा से हैं। जानकारी के मुताबिक अभी मामले की परतें खुलनी बाकी हैं। दोनों मंत्रियों के खिलाफ कुछ पाया जाता है तो कार्रवाई होने का पूरा अंदेशा जताया जा रहा है।

पंजाब में फिलहाल जारी होने हैं 51 टेंडर

मुख्यमंत्री भगवंत मान ने भ्रष्टाचार का पता लगाने के लिए एक मजबूत तंत्र विकसित किया है। उनके रेडार से बचना अब आसान नहीं है। उन्हें जब डा। विजय सिंगला के खिलाफ जब शिकायत मिली थी तो उनके विश्वस्त अधिकारियों ने इसकी जांच गुपचुप तरीके से शुरू कर दी थी। किसी को इस बात की खबर तक नहीं थी। मंत्री पर टेंडर में कमीशन लेने के आरोपों की जांच के तहत 21 अप्रैल से 27 मई तक होने वाले टेंडर्स की पड़ताल की गई थी। स्वास्थ्य विभाग को करीब 51 टेंडर जारी करने थे। इनमें से कुछ जारी भी हो चुके थे।

कार्रवाई से 24 घंटे पहले केजरीवाल से बात

मुख्यमंत्री ने सप्ताह भर पहले टेंडरों से जुड़ी जानकारी हासिल कर ली थी। डॉक्टर सिंगला से मिलने वाले उनके एक दर्जन से अधिक करीबियों की एक सूची तैयार की गई थी। जांच इतनी ज्यादा गोपनीय थी कि कार्रवाई से पहले इसकी भनक सिर्फ दो अधिकारियों को थी। बताया जा रहा है कि कार्रवाई करने से पहले सीएम मान ने आप सुप्रीमो अरविंद केजरीवाल से 24 घंटे पहले बात की थी। टेंडर संबंधी सारे रिकॉर्ड भी जब्त हैं। इनमें मोहल्ला क्लीनिक और अन्य कामों के लिए 1015 लैपटॉप्स, 500 डेस्कटॉप, 1450 प्रिंटर खरीदने का 20 से 25 करोड़ रुपये का टेंडर भी शामिल है।

ये भी पढ़ें : आय से अधिक संपत्ति मामले में चौटाला दोषी करार, 26 को सजा पर होगी बहस

ये भी पढ़ें : टीजीटी-पीजीटी के 5500 पदों पर भर्ती जल्द: मनोहर लाल

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular