Homeराज्यपंजाब21 दिन में 19 हत्या, मान सरकार के बचाव में बोले डीजीपी-पिछले...

21 दिन में 19 हत्या, मान सरकार के बचाव में बोले डीजीपी-पिछले साल से कम हैं मामले

*मान सरकार ने पंजाब को कातिलों के हवाले कर दिया है। *

आज समाज डिजिटल, चंडीगढ़:
भगवंत मान सरकार गत 21 दिन में हुई 19 हत्याओं के मामले में फंस रही है। सरकार पर आरोप लगाए जा रहे हैं कि मान सरकार ने पंजाब को कातिलों के हवाले कर दिया है। इसी बीच राज्य में हत्याएं बढ़ने के विपक्ष के आरोप को सिरे नकारते हुए सूबे के डीजीपी वीके भावरा ने पत्रकार वार्ता में कहा (Punjab Murder cases speak about DGP)कि इस साल अब तक 158 हत्याएं हुई हैं, जबकि 2021 में 725 और 2020 में 757 हत्याएं हुई थीं।

हत्याओं में कोई तेजी नहीं: भावरा

डीजीपी वीके भावरा ने दावा किया कि हत्याओं में तेजी नहीं आई है। इस साल हत्याओं की मासिक औसत 50 है जो पहले लगभग 65 या 70 थी। उन्होंने कहा कि मैं यह नहीं कह रहा कि यह एक सही है, लेकिन हमें हत्या की दर को कम करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि इस साल दर्ज किए गए 158 मामलों में से छह मामलों में गैंगस्टर शामिल थे। गैंगस्टर्स की भूमिका हत्याओं में मामूली है।

24 आरोपियों को किया है गिरफ्तार

वीके भावरा ने बताया कि पुलिस ने इन मामलों का पता लगाया है। हम जानते हैं कि किसने रेकी की है और किसने फायरिंग की है। इन मामलों में 24 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया था। सात पिस्तौल और इतनी ही संख्या में वाहन बरामद किए गए है। डीजीपी ने कहा कि नौ अन्य हत्याएं सनसनीखेज थीं। सभी का पता लगाया गया है। वे पारिवारिक विवाद, पेशेवर प्रतिद्वंद्विता के परिणाम थे। हमने चार मामलों में गैंगस्टर अपराध को रोका है। हमने अब तक 545 गैंगस्टरों की पहचान की है, उनमें से 515 को गिरफ्तार कर लिया गया है।

नवजोत सिद्धू बोले- कानून व्यवस्था चरमराई

गौरतलब है कि पंजाब में 21 दिन में 19 लोगों की हत्या हो गई है। इनमें जालंधर के पास अंतराष्ट्रीय खिलाड़ी संदीप सिंह संधू समेत कबड्डी खिलाड़ियों की तीन  हत्याएं भी शामिल हैं। पंजाब कांग्रेस के पूर्व प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू ने मान सरकार पर आरोप लगाया है कि पंजाब में कानून-व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गई है। उन्होंने कहा है कि रोजाना औसतन तीन से चार हत्याएं हो रही हैं, लोग डरे हुए हैं।
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular