Homeराज्यपंजाबपटियाला हिंसक झड़प: आईजी, एसएसपी और एसपी का तबादला, इंटरनेट सेवा बंद

पटियाला हिंसक झड़प: आईजी, एसएसपी और एसपी का तबादला, इंटरनेट सेवा बंद

आज समाज डिजिटल, पटियाला:
शुक्रवार की हिंसक झड़प के बाद शनिवार को पंजाब सरकार एक्शन में आ गई। मुख्यमंत्री भगवंत मान के निर्देश पर शनिवार को पटियाला रेंज के आईजी, एसएसपी और एसपी का तबादला कर दिया गया है। सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि मुखविंदर सिंह चिन्ना को पटियाला का आईजी बनाया है। दीपक पारिक और वजीर सिंह को पटियाला का एसएसपी और एसपी नियुक्त किया है।

तीन एफआईआर भी दर्ज की गई हैं। इसमें आर्म्स एक्ट के तहत क्रॉस केस दर्ज किया है। वहीं सीएम भगवंत मान ने कहा कि पटियाला में फिलहाल शांति है। शिवसेना, कांग्रेस और शिरोमणि अकाली दल के कार्यकर्ता थे जो आपस में भिड़ गए। पुलिस अधिकारियों का तबादला कर दिया गया है और शांति समिति की बैठकें आयोजित की जा रही हैं।

इसके अलावा पटियाला में सुबह साढ़े नौ से शाम छह बजे तक मोबाइल इंटरनेट सेवाएं अस्थायी निलंबित हैं। इससे पहले शुक्रवार को करीब 4 घंटे शहर की सड़कों पर तलवारें लहराई। शनिवार को हिंदू संगठनों ने श्री काली देवी मंदिर के बाहर धरना प्रदर्शन शुरू किया।

चार घंटे तक चलती रहीं झड़प

खालिस्तान के मुद्दे पर शिव सैनिक और खालिस्तान समर्थकों के बीच हिंसक झड़प हुई। शुक्रवार को सुबह करीब 11 बजे शुरू हुआ यह सिलसिला दोपहर तीन बजे तक चला। पुलिस ने दोनों पक्षों को मुश्किल से तितर-बितर कर हालात पर काबू पाया। सवाल है कि पिछले एक हफ्ते से शुक्रवार को शहर में खालिस्तान के मुद्दे पर दोनों तरफ से लोगों के आमने-सामने होने की आशंका थी तो फिर पुलिस ने किसी भी तरह की आपातकालीन स्थिति से निपटने के ठोस इंतजाम क्यों नहीं किए।

खालिस्तान मुर्दाबाद मार्च का था ऐलान

सिख फॉर जस्टिस के प्रमुख गुरपतवंत सिंह पन्नू ने कुछ दिन पहले शुक्रवार को खालिस्तान का स्थापना दिवस मनाने की घोषणा की थी। इसके जवाब में शिवसेना (बाल ठाकरे) के प्रदेश कार्यकारी प्रधान हरीश सिंगला ने पत्रकार वार्ता कर शुक्रवार को खालिस्तान मुदार्बाद मार्च निकालने का ऐलान किया था।

शिवसेना (बाल ठाकरे) पंजाब से निष्कासित पूर्व कार्यकारी प्रधान गिरफ्तार शिवसेना (बाल ठाकरे) पंजाब से निष्कासित पूर्व कार्यकारी प्रधान हरीश सिंगला को शुक्रवार शाम को एसपी (सिटी) हरपाल सिंह और डीएसपी मोहित अग्रवाल ने गिरफ्तार कर लिया। इससे पहले श्री काली माता मंदिर में हिंदू संगठनों की बैठक में हिस्सा लेने पहुंचे हरीश सिंगला के साथ मारपीट हुई। हरीश सिंगला ने भागकर अपनी जान बचाई लेकिन भड़के हिंदू संगठनों के कार्यकतार्ओं ने हरीश सिंगला की गाड़ी पर ईंट बरसा दी।

बिना बुलाए बैठक में आने पर भड़के

शुक्रवार को श्री काली माता मंदिर के बाहर शिव सैनिकों और दूसरे गुट के बीच भिड़त के बाद शाम को श्री काली माता मंदिर में हिंदू समाज ने बैठक बुलाई थी। बैठक में मौजूद हिंदू समाज के नुमाइंदे उस समय भड़क उठे जब बिना बुलाए हरीश सिंगला व उनका बेटा कोमला सिंगला वहां पहुंच गए। हिंदू समाज के लोगों ने हरीश सिंगला पर हिंदूओं के नाम पर अपनी सुरक्षा बढ़ाने और समाज का माहौल खराब करने का आरोप लगाया।

हिंदू समाज के लोगों ने हरीश सिंगला के सुरक्षा कर्मियों की भी परवाह न की और मारपीट करनी शुरू कर दी। गुस्सा बढ़ता देख हरीश सिंगला मौके से भागे और जाकर गाड़ी में बैठकर वहां से जाने में भी गनीमत समझा लेकिन भड़के लोगों ने सिंगला की गाड़ी पर ईंट से हमला कर दिया।

ये भी पढ़ें : सिरसा: बिना टेंडर दिए लगवाई थी स्ट्रीट लाइट, 2 बीडीपीओ रिटायर की जगह सस्पेंड, दो अन्य भी सस्पेंड
ये भी पढ़ें : तूड़ी कारोबारी की हत्या, दोस्तों से की थी पार्टी, सुबह मिला शव
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular