Homeराज्यपंजाबपठानकोट : नॉन टीचिंग स्टाफ को नियमित करने की मांग पर सिद्धू...

पठानकोट : नॉन टीचिंग स्टाफ को नियमित करने की मांग पर सिद्धू से मिले

राज चौधरी, पठानकोट:
रमसा लैब अटेंडेंट यूनियन का एक शिष्टमंडल अपनी मांगों को लेकर पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्दू से मिला।  शिष्टमंडल में  संयोजक चेतन अत्री, जसकरण सिंह, दिलशेर सिंह, गुरप्रीत सिंह ने विधायक जोगिंदर पाल और रमसा लैब अटेंडेंट सहित 1242 नान टीचिंग स्टाफ को स्थायी करने के लिए ने बैठक की। एजी पंजाब पिछले डेढ़ साल से 1242 नॉन टीचिंग स्टाफ की रेगुलर फाइल पास नहीं कर रहे हैं। एजी विभाग से पास होने के बाद ही फाइल कैबिनेट में जाएगी। इस मौके पर नवजोत सिंह सिद्धू ने रमसा लैब अटेंडेंट को आश्वासन दिया कि आपकी फाइल को एजी से जल्द ही पास कर दिया जाएगा और पंजाब सरकार द्वारा शिक्षा पंजाब में आपको रेगुूलर कर दिया जाएगा और बहुत जल्द आपकी पंजाब के शिक्षा मंत्री विजयिंदर सिंगला के साथ बैठक करके हल किया जाएगा। उन्होने बताया कि पंजाब सरकार द्वारा  कच्चे कर्मचारियों को 10 साल की सेवा पूरी करने वाले कच्चे कर्मचारियों को रेगूलर करने के लिए एक अधिनियम बनाया जा रहा है। रमसा लैब अटेंडेंट यूनियन पंजाब ने मांग की कि कच्चे कर्मचारियों को रेगुलर करने के लिए जो अधिनियम बनाया जा रहा है, उसमें 10 साल की शर्त को कम किया जाए ताकि अधिक से अधिक कच्चे कर्मचारियों को रेगुलर किया जा सके। नान टीचिंग स्टाफ को भी प्राथमिकता के आधार पर रेगुलर किया जाए। एजी विभाग से फाइल पास कराकर रामसा लैब अटेंडेंट सहित 1242 नॉन टीचिंग कर्मचारियों को रमसा शिक्षकों के साथ पहल के आधार पर ही पक्का किया जाए अन्यथा रामसा लैब अटेंडेंट सहित 1242 नॉन टीचिंग कर्मचारी संघर्ष करेंगे।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments