Homeराज्यपंजाबडेंगू से बचाव : डॉ.  रंजीत हरीश ने खुद घरों में जाकर...

डेंगू से बचाव : डॉ.  रंजीत हरीश ने खुद घरों में जाकर डेंगू के लार्वा की जांच की

  • डेंगू से बचाव के लिए स्वास्थ्य विभाग कर रहा हर संभव प्रयास, लोग भी करें सहयोग
  • आपके घर में और आसपास पानी कहीं भी खड़ा नहीं होने देना चाहिए
जगदीश, Nawanshahr News:
बरसात के मौसम को देखते हुए डेंगू से बचाव के लिए स्वास्थ्य विभाग हर संभव प्रयास कर रहा है। स्वास्थ्य टीमों ने सर्वे, जांच व जागरूकता अभियान शुरू किया है। स्वास्थ्य विभाग की डेंगू रोधी टीमें लगातार घर-घर जाकर सर्वे कर रही हैं। इस दौरान प्रखंड नोडल अधिकारी डाॅ. आज रंजीत हरीश ने सोइता गांव में सर्वे अभियान का निरीक्षण कर टीमों को आवश्यक निर्देश दिए। इस मौके पर उन्होंने खुद घरों में जाकर फ्रिज की ट्रे, बर्तन, कूलर आदि में डेंगू के लार्वा की जांच की।

डेंगू की रोकथाम के लिए संभव प्रयास

इस अवसर पर डाॅ. रंजीत हरीश ने कहा कि बरसात के मौसम को देखते हुए स्वास्थ्य प्रखंड मुजफ्फरपुर में लगातार घरों की जांच की जा रही है और कई घरों में डेंगू के लार्वा भी मिल रहे हैं। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग डेंगू की रोकथाम के लिए हर संभव प्रयास कर रहा है और लोगों को इस जानलेवा बीमारी के प्रति जागरूक करने के लिए स्वास्थ्य विभाग की टीमें लगन से काम कर रही हैं।

आवश्यक सावधानियों के बारे में बताया

अपने दौरे के दौरान, नोडल स्वास्थ्य अधिकारी ने लोगों से अपील की कि वे अपने घरों और आसपास कहीं भी पानी न खड़े होने दें और अन्य आवश्यक सावधानियों के बारे में भी बताया। चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि जहां भी डेंगू के लार्वा मिलते हैं वहां लारविसाइड का छिड़काव किया जाता है। उन्होंने कहा कि पहली बार लार्वा मिलने पर चेतावनी जारी की जाती है, जबकि दूसरी बार लार्वा मिलने पर उस घर/संस्थान के लिए चालान जारी किया जाता है।

लोगों से डेंगू की रोकथाम में सहयोग करने की अपील

डॉ. हरीश ने लोगों से डेंगू की रोकथाम में सहयोग करने की अपील की और कहा कि स्वास्थ्य विभाग अपने स्तर पर प्रयास कर रहा है, लेकिन लोगों के सहयोग से ही डेंगू से प्रभावी ढंग से निपटा जा सकता है। उन्होंने कहा कि आजकल ऐसे कपड़े पहनने चाहिए जो पूरे शरीर को ढँक दें। उन्होंने लोगों से डेंगू से पूरी तरह सतर्क रहने और खुद को बचाने की अपील की। यदि किसी को डेंगू से पीड़ित होने का संदेह है, तो उन्हें तुरंत नजदीकी अस्पताल में जाकर जांच करानी चाहिए। सरकारी अस्पतालों में डेंगू की जांच और इलाज बिल्कुल मुफ्त है।

अपने आसपास के वातावरण को साफ रखें

इस अवसर पर प्रखंड विस्तार शिक्षक मनिंदर सिंह ने कहा कि बरसात के मौसम को देखते हुए मच्छरों के उत्पादन में इजाफा हो रहा है। इससे डेंगू बुखार फैलने का खतरा बढ़ जाता है। डेंगू बुखार से खुद को और समाज को बचाने के लिए यह हमारी जिम्मेदारी है कि हम अपने आसपास के वातावरण को साफ रखें। मच्छरों के प्रजनन के स्रोतों को समाप्त किया जाना चाहिए।

डेंगू के खिलाफ अभियान

उन्होंने कहा कि हर शुक्रवार को ड्राई डे मनाया जाता है और हर रविवार को डेंगू के खिलाफ अभियान चलाया जाता है, जिसके तहत लोग कार्यालयों/संस्थानों और घरों में कूलर, रेफ्रिजरेटर ट्रे, पक्षियों के लिए रखे पानी के कटोरे आदि को साफ करते हैं। घर में जाकर अतिरिक्त कबाड़ का निस्तारण करें। उन्होंने कहा कि यदि किसी व्यक्ति को अचानक तेज बुखार, सिरदर्द, मांसपेशियों में दर्द, आंखों के पिछले हिस्से में दर्द, त्वचा पर रैशेज जैसे डेंगू बुखार के लक्षण दिखाई दें तो उसे तुरंत स्वास्थ्य संस्थान में जाकर जांच करानी चाहिए। जाँच की गई। राज्य के सभी सरकारी अस्पतालों में डेंगू बुखार की जांच और इलाज नि:शुल्क किया जाता है। उन्होंने सभी समाज सेवा संगठनों के प्रतिनिधियों और लोगों से डेंगू बुखार की रोकथाम के लिए स्वास्थ्य विभाग को पूरा सहयोग देने की अपील की।

इस अवसर पर उपस्थित 

इस अवसर पर अन्य के अलावा स्वास्थ्य विभाग के अन्य अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे।
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular