Homeराज्यपंजाबगुरदासपुर: गन्ने को कीड़ों से बचाने के लिए निरीक्षण की जरूरत

गुरदासपुर: गन्ने को कीड़ों से बचाने के लिए निरीक्षण की जरूरत

गगन बावा, गुरदासपुर:
गन्ना शाखा कृषि एवं किसान भिलाई विभाग की ओर से केन कमिश्नर पंजाब डाक्टर गुरविंदर सिंह खालसा के निर्देश पर गन्ने की फसल पर कीटों के हमले संबंधी निरीक्षण के लिए प्रदेश भर में विशेष अभियान चलाया जा रहा है। इसके तहत हर बुधवार को गन्ना काश्तकारों के खेतों का दौरा किया जाता है ताकि किसी किस्म की समस्या आने पर समय पर उसका समाधान किया जा सके।
इस अभियान के तहत सहायक गन्ना विकास अधिकारी डा. अमरीक सिंह के नेतृत्व में गन्ना माहिरों की टीम की ओर से बक्शीवाल, कलानौर और दोस्तपुर का दौरा किया गया। टीम में डा. विक्रांत सिंह गन्ना विशेषज्ञ कृषि खोज केंद्र पीएयू गुरदासपुर, डाक्टर परमिंदर कुमार कृषि विकास अधिकारी, ध्यान सिंह और बलदीप सिंह शामिल रहे। टीम ने मिल की ओर से किए सर्वे के अलावा टिशु कल्चर, सिंगल बड तकनीक से तैयार पौधों, खोज केंद्र द्वारा उपलब्ध बीज और किसानों द्वारा अपने तौर पर तैयार की जा रही बीज नर्सरियों का भी निरीक्षण किया।
गांव बख्शीवाल के किसान जसकरण सिंह के फार्म पर गन्ने की फसल का निरीक्षण करने के बाद डाक्टर अमरीक सिंह ने कहा कि गन्ने की प्रति हेक्टेयर पैदावार और चीनी रिकवरी में वृद्धि के लिए आवश्यक है कि पुरानी किस्मों को छोड़कर नई किस्में अपनाई जाए। उन्होंने कहा कि सर्वे के दौरान पाया गया है कि मौसम अनुकूल रहने के कारण गन्ने की फसल ठीक-ठाक है। उन्होंने कहा फिलहाल गन्ने की फसल पर किसी कीट या बीमारी का हमला नहीं हुआ, फिर भी फसल का निरंतर निरीक्षण करने की जरूरत है ताकि समय पर सर्वपक्षीय कीट प्रबंध प्रणाली अपनाई जा सके।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments