Homeराज्यपंजाबगुरदासपुर : गली में पड़े मलबे को लेकर बुजुर्ग की हत्या करने...

गुरदासपुर : गली में पड़े मलबे को लेकर बुजुर्ग की हत्या करने के मामले का आरोपी गिरफ्तार

गगन बावा, गुरदासपुर :

30 जून की शाम को थाना तिब्बड़ के गांव गोहत पोखर में दो पुलिस मुलाजिमों द्वारा बुजुर्ग की पीट पीट कर हत्या करने के मामले के एक आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। मृतक मस्तान सिंह के परिवार ने बताया था कि वे लोग घर तोड़कर नया बना रहे थे, जिसके चलते घर का कुछ मलबा गली में पड़ा हुआ था। पंजाब पुलिस के मुलाजिम लखविन्दर सिंह का घर भी उनकी गली में है। कुछ दिन पहले भी लखविन्दर सिंह ने उनके मजदूरों से मारपीट की थी। 30 जून को मस्तान सिंह का भाई और भतीजा गली में काम कर रहे थे। इसी दौरान लखविन्दर सिंह उन्हें गालियां निकालने लगा। यही नहीं उसने मस्तान सिंह के भाई और भतीजे से मारपीट भी की। इसी दौरान मस्तान सिंह ने बीच बचाव करना चाहा तो लखविन्दर सिंह और तेजिन्दर सिंह लाडी ने उसे पकड़ कर मारपीट करनी शुरू कर दी और उसे मलबे पर गिरा दिया, जिससे चोटिल होकर मस्तान सिंह की मौत हो गई।
धरने के बाद हुआ मामला दर्ज
पीड़ित परिवार का आरोप था कि थाना तिब्बड़ की पुलिस आरोपियों को बचाने के चक्कर में कार्रवाई नहीं कर रही थी, जिसके चलते उन्हें रोड जाम करना पड़ा। घटना के बाद पुलिस आरोपियों पर 304 का मामला दर्ज कर रही थी, जबकि पीड़ित परिवार का कहना था कि आरोपियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया जाए। पीड़ित परिवार और गांव वासियों द्वारा धरना लगाए जाने के बाद पुलिस ने लखविन्दर सिंह और तेजिन्दर सिंह के खिलाफ हत्या का मामल दर्ज कर लिया था। अब पुलिस ने आरोपी लखविंदर सिंह को गिरफ्तार कर लिया है।
19 जुलाई को दिया था धरना
20 दिन गुजर जाने के बाद भी पुलिस की ओर से किसी आरोपी को गिरफ्तार न कर पाने से गुस्साए लोगों ने 19 जुलाई को डाकखाना चौक में तीन घंटे तक धरना दिया था। परिवार का कहना है कि उन्हें रोजाना आरोपियों द्वारा धमकियां दी जा रही हैं, जिसके चलते उन्हें मजबूरी में छिपकर रहना पड़ रहा है। दोनों आरोपी पंजाब पुलिस से संबंधित हैं इसीलिए पुलिस उन्हें गिरफ्तार नहीं कर रही है, जिसके चलते मजबूरन उन्हें धरना देना पड़ रहा है। इसके बाद एसपी हरविन्दर सिंह संधू ने मौके पर पहुंचकर पीड़ित परिवार को विश्वास दिलाया था कि आरोपियों को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा, जिसके बाद धरना खत्म कर दिया गया था।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular