Homeराज्यपंजाबबिक्रम मजीठिया को जेल में मिलेगी सुविधाएं और सुरक्षा, जानें कारण Facilities-Security...

बिक्रम मजीठिया को जेल में मिलेगी सुविधाएं और सुरक्षा, जानें कारण Facilities-Security will be Available in Jail

Facilities-Security will be Available in Jail

आज समाज डिजिटल, चंडीगढ़:
Facilities-Security will be Available in Jail : ड्रग के मामले में जेल में बंद वरिष्ठ शिरोमणि अकाली दल नेता बिक्रम मजीठिया को अब पहले से भी बेहतर सुविधाएं और सुरक्षा मिलेगी। जेल सुपरिंटेंडेंट सुच्चा सिंह ने कोर्ट में दायर जवाब में कहा कि वरिष्ठ नेता बिक्रम सिंह मजीठिया को पटियाला सेंट्रल जेल में बेहतर सुविधाएं और 24 घंटे सुरक्षा मुहैया कराई जाएगी।

सभी विसंगतियां खत्म: सुपरिंटेंडेंट जेल

उन्होंने दावा किया कि असुरक्षा और खराब स्थिति के संबंध में सभी विसंगतियों को खत्म कर दिया गया है। मजीठिया को अनुकूल माहौल दिया गया है। जवाब में कहा गया कि व्यक्तिगत रूप से आरोपी के जीवन के लिए सुरक्षा व्यवस्था की है, जैसा कि कानून के तहत उसका अनिवार्य कर्तव्य है। अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश संदीप कुमार सिंगला ने मामले को 12 अप्रैल तक के लिए स्थगित कर दिया है। मजीठिया के वकील एचएस धनोआ ने कहा कि जेल अधिकारियों ने सुविधाओं में सुधार किया है।

अब सामान्य बैरक में शिफ्ट

मजीठिया ने कोर्ट से कहा था कि उन्हें जेल के स्पेशल बैरक से सामान्य बैरक में शिफ्ट कर दिया गया है, जहां पर उनकी जान को खतरा है। उन्होंने कोर्ट से मांग की है कि उन्हें फिर से स्पेशल बैरक में शिफ्ट किया जाए। मजीठिया के एडवोकेट अर्शदीप कलेर ने कहा कि इंटेलिजेंस रिपोर्ट के मुताबिक उन्हें बब्बर खालसा इंटरनेशनल, खालिस्तान जिंदाबाद फोर्स और गैंगस्टरों से खतरा है। दोनों संगठन मजीठिया को जान से मारने की साजिश रच रहे हैं। मजीठिया को सुप्रीम कोर्ट ने पंजाब में 20 फरवरी हुए विधानसभा चुनाव के मद्देनजर नारकोटिक्स ड्रग्स एंड साइकोट्रोपिक सब्सटेंस एक्ट, 1985 के तहत एक आपराधिक मामले में 23 फरवरी तक गिरफ्तारी से सुरक्षा प्रदान की थी।

मोहाली कोर्ट में किया था सरेंडर

इसके बाद 24 फरवरी को उन्होंने मोहाली कोर्ट में सरेंडर किया था। पंजाब की प्रमुख विपक्षी पार्टी शिरोमणि अकाली दल अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल की पत्नी एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल के भाई मजीठिया पर पंजाब में वर्ष 2018 में मादक पदार्थों की तस्करी के आरोप से संबंधित छानबीन की एक रिपोर्ट के आधार पर 20 दिसंबर को पंजाब पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज की थी। जिसे चुनाव प्रचार के दौरान शिअद ने राजनीति से प्रेरित बताया था।

Facilities-Security will be Available in Jail
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular