Homeराज्यपंजाबगुरदासपुर: सिंधू बॉर्डर पर फूंका केंद्र सरकार का पुतला

गुरदासपुर: सिंधू बॉर्डर पर फूंका केंद्र सरकार का पुतला

गगन बावा, गुरदासपुर:
किसान मजदूर संघर्ष कमेटी पंजाब की गुरदासपुर ईकाई की ओर से सिंधू बॉर्डर पर विरोध प्रदर्शन करते हुए केंद्र की मोदी सरकार का पुतला फूंककर नारेबाजी की गई। रोष प्रदर्शन का नेतृत्व सोहन सिंह गिल, मास्टर गुरजीत सिंह, बीबी अमृत कौर ने किया।
इस मौके पर संगठन के प्रदेश नेता सविंदर सिंह चुताला, गुरप्रताप सिंह, कुलदीप सिंह बेगोवाल, हरजीत सिंह लीलकलां ने कहा कि दिल्ली की सीमा पर किसानों का संघर्ष 9 महीने से अधिक समय पूरा कर चुका है। इस दौरान करीब 600 किसान शहीद हुए हैं। दुनिया भर की सरकारों ने भी किसान आंदोलन के पक्ष में प्रस्ताव पारित किए हैं, लेकिन केंद्र की मोदी सरकार पर कॉरपोरेट घरानों का इतना दबाव है कि सरकार तीन कृषि कानूनों को निरस्त करने से आंखें मूंद रही है।
कोरोना काल में मोदी सरकार ने देश के सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों को अदानी, अंबानी और बड़े पूंजीवादी परिवारों को एक-एक करके अपने कब्जे में लेने की अनुमति दी है। मोदी सरकार देश के संघीय ढांचे को तोड़कर तानाशाह साबित हुई है। केंद्र सरकार ने भाजपा के भगवा एजेंडे को आगे बढ़ाकर कॉलेजों और विश्वविद्यालयों के पाठ्यक्रम को बदल दिया है। प्रोफेसरों, बुद्धिजीवियों, मेहनतकशों के पक्ष में लिखने, बोलने वाले छात्रों को जेलों में बंद कर दिया गया है। तानाशाही रवैये वाले प्रधानमंत्री मोदी को जलियांवाला बाग जैसी पवित्र भूमि पर शहीदों के स्मारक का उद्घाटन करने का कोई अधिकार नहीं है। इस अवसर पर सतनाम सिंह, परमजीत सिंह, हरबिंदर सिंह, डॉ. हरदीप सिंह, आज्ञापाल सिंह, बाबा नरिंदर सिंह, बाबा सुखदेव सिंह, बाबा सीतल सिंह, सुखजिंदर सिंह, बीबी दविंदर कौर, बीबी कुलविंदर कौर, कैप्टन शमिंदर सिंह, परमजीत सिंह, डॉ दलजीत सिंह, डॉ. निशान सिंह आदि मौजूद थे।
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments