Homeराज्यपंजाबबरनाला: पाकिस्तान के उड़ाए ड्रोन नष्ट करना पंजाब पुलिस के लिए चैलेंज:...

बरनाला: पाकिस्तान के उड़ाए ड्रोन नष्ट करना पंजाब पुलिस के लिए चैलेंज: डीजीपी

अखिलेश बंसल, बरनाला:
पंजाब 550 किलोमीटर लंबा बॉर्डर है जो पाकिस्तान से जुड़ा है। वह देश हमेशा इस प्रयास में रहता है कि पंजाब में आतंकवाद रहे और पंजाब में वायलेंस रहे। पिछले दिनों में हमें पाकिस्तान देश की विरोधी गतिविधियों से जुड़े काफी संकेत मिले हैं, जिसने आधुनिक तकनीक का सहारा ले  ड्रोन पतंग की तरह उड़ाने शुरू किए हैं, जो भारत देश व पंजाब की पुलिस के लिए सबसे बड़ा चैलेंज है। पाकिस्तान अपनी भारत विरोधी गतिविधियों को अंजाम तक पहुंचाने के लिए ग्रेनेड, गैर कानूनी हथियार, नशा भारी मात्रा में भेज रहा है। यह बात पंजाब पुलिस के महानिदेशक दिनकर गुप्ता आईपीएस ने शुक्रवार की देर सायं बरनाला में हुई प्रेस वार्ता में कही है।
क्योंकि बार्डर स्टेट है पंजाब:
पंजाब में दाखिल हो रहा नशा चिट्टा हीरोइन जैसा नशा पाकिस्तान, अफगानिस्तान से जम्मू-कश्मीर के जरिए दाखिल हो रहा है। मेडिकल से संबंधित 40 फीसद नशे फार्मा कंपनियों की देन है। बरनाला पुलिस ने पंजाब ही नहीं देश के मुकाबले सबसे ज्यादा नशा तस्करों को काबू पाने में योगदान पाया है। नशा या नशा तस्कर ही नहीं भारी भरकम ड्रग्ज मनी भी बरामद की है। करोड़ों रुपयों का नशा बरामद किया। फैक्ट्रियों का पदार्फाश किया। होशियारपुर की पुलिस ने दिल्ली में चल रही हैरोईन तैयार करने वाली फैक्ट्री पर छापेमारी की, वहां से चार अफगानिस्तानियों को काबू किया। सीमा के हवेली गांव का रहने वाला रंजीत जीता था उसे सिरसा से काबू किया गया उसके पास से 532 किलो हेरोइन बरामद की। पंजाब बार्डर स्टेट है, जिसके कारण भारत विरोधी देश यहां नशा फैलाना चाहते हैं।
देश ही नहीं विदेशों से भी काबू किए गैंगस्टर:
पंजाब में 10-15 साल में गैंगस्टर का कल्चर पैदा हुआ था, उसमें से पिछले चार साल पहले  (2017 में) पंजाब के ए-कैटेगरी  31 गैंगस्टरों को काबू किया है। चार गैंगस्टर है जो पाकिस्तान, यूरोप, साउथ एशियन जैसे मुल्कों में हैं। इससे पहले कुछ ने तो पुलिस आपरेशन में खुदकुशी भी की है। पुलिस ने गैंगस्टरों को काबू करने के लिए राजस्थान, पश्चिमी बंगाल, हरियाणा, मध्यप्रदेश तक ही नहीं, पंजाब की पुलिस ने विदेशों में छिपे बैठे गैंगस्टरों का पीछा किया है। एक गैंगस्टर को यूएई से काबू कर लाया गया, सुखप्रीत बुड्ढा को आर्मीनिया से लाया गया, गौरव पटियाल अभी गिरफ्त से बाहर है, हांगकांग में बैठे गैंगस्टरों को काबू करने के लिए वहां की सरकारों से संपर्क किया गया है।
पंजाब के दो अधिकारियों की सराहना:
कोरोना महामारी के दौरान विश्व भर में नुकसान हुआ है। पुलिस को ड्यूटी करने का बहुत बड़ा एडवांटेज मिला है। ड्यूटी करने के साथ साथ राशन पहुंचाने व मास्क, सेनेटाइजर तथा दवाएं पहुंचाने समेत अनेक समाजसेवी कार्य किए हैं। डीजीपी दिनकर गुप्ता ने पंजाब के दो पुलिस अधिकारियों द्वारा निभाई गई ड्यूटी की सर्वाधिक तारीफ की। उन्होंने लुधियाना में एसीपी पद पर तैनात डा. प्रज्ञा जैन आईपीएस की कोविड होने के बावजूद नशा तस्करों को काबू करने के लिए नरेला पहुंचने और बरनाला के एसएसपी संदीप गोयल पीपीएस के दुर्घटनाग्रस्त होने के बावजूद लोगों को कोविड से बचाने, मथुरा पहुंच नशे पर लगाम कसने, नशा तस्करों को काबू करने, बेसहारा घूम रहे दो बुजुर्गों को उनके घर पहुंचाने का विशेषतौर पर जिक्र किया।
स्वतंत्रता दिवस पर पंजाब पुलिस की पैनी नजर:
15 अगस्त को पंजाब व देश के हालात खराब करने को मिली चुनौतियों का मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा। गत वर्ष मोगा में राष्ट्रीय ध्वज को नुकसान करने वाले नौजवान को तुरंत हिरासत में लिया गया। लोगों से अपील है कि वह अपने बच्चों को संभाल कर रखें, वह किसी अज्ञात के बहकावे में नहीं आए।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments