Homeराज्यपंजाबभारत जनकल्याण योजना देशभर के गांवों-शहरों को देगी सस्ती रसोई

भारत जनकल्याण योजना देशभर के गांवों-शहरों को देगी सस्ती रसोई

बरनाला (अखिलेश बंसल) मध्य प्रदेश के 400 केंद्रों में सफलता पाने के बाद आंजना एम्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड नामक संस्थान भारत जनकल्याण योजना के अंतर्गत देशभर को सस्ता सुलभ गुणवत्तापूर्ण खाद्यान उपलब्ध कराने की तैयारी में है। जिसको लेकर इस योजना के संस्थापक बोर्ड डायरेक्टर ईश्वर सिंह आंजना ने गुलजारीलाल नन्दा फाउंडेशन चेयरमेन कृष्ण राज अरुण को कंपनी व योजना का संरक्षक व कार्यकारी प्रमुख का पदभार सौंपा है। भारत दौरे पर निकले श्री अरुण ने बताया कि पूर्व प्रधानमंत्री भारतरत्न गुलजारी लाल नन्दा जी की स्मृति में 4 जुलाई से देश व्यापी सस्ता सुलभ खाद्यान्न मिशन शुरू हो जाएगा, जिसे जल्दी से जल्दी पूरा करने का लक्ष्य है। गौरतलब है कि यह योजना का श्रीगणेश एक वर्ष पूर्व मध्य प्रदेश में हुई था।

जिसका नाम के आर अरुण ने ही प्रस्तावित किया था। जिसे आंजना ने रात दिन मेहनत कर 400 केंद्र स्थापित कर जरूरतमंदों के लिए बेहतरीन व्यवसायिक मार्ग बनाया। श्री अरुण ने बताया कि भारतरत्न नन्दा स्मृति में 4 जुलाई से देशभर में संचालित होने जा रही यह योजना नन्दा जी के 1962 में स्वस्थ खाद्यान व्यवस्था मॉडल का रूप होगी। इसके अंतर्गत हर गांव में आबादी के हिसाब से जनकल्याण सुविधा स्टोर होंगे, जिनमें रसोई से संबंधित 60 आइटमें (प्रोडक्ट) हर परिवार को बाजारी कीमतों से काफी कम मूल्य पर उपलब्ध होगी। वंचितों को खास रियायत होगी हर जिले में सप्लाई डिपो के लिए उद्यमियों का चयन किया जाएगा।

के. आर. अरुण ने कहा कि अंबाला जिले के नारायणगढ़ क्षेत्र में इसकी एक प्रशिक्षण आर्गेनिक अकादमी बनेगी और पंजाब के बरनाला में इसका विशेष केंद्र होगा। राज्य में मार्केटिंग डिपो हिमाचल कांगड़ा क्षेत्र का संचालन भी होगा। इस योजना के तहत सैनिकों, बेरोजगारों, किसानों, पत्रकारों को खास उचित रियायती मूल्य पर सामान दिया जाएगा। जिनके डिजिटल पहचान पत्र बनेंगे। देशभर को इस योजना से अवगत कराने के लिए अक्टूबर के अंत में देश की राजधानी दिल्ली में विशेष समारोह का आयोजन होगा। इस सर्वाधिकार दायित्व के लिए के आर अरुण ने कंपनी के मालिक ईश्वर सिंह आंजना व प्रबंध समिति का आभार व्यक्त किया है। उन्होने कहा है कि इस योजना के भारतरत्न नन्दा जी की स्मृति में संचालित होने का मतलब देश को आदर्श योजना पैदा करना, उच्च विचारधारा वाले उद्यमी पैदा करना और देश में व्यावसायिक योजना का रूप देना होगा।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular