Homeराज्यपंजाबबरनाला: कोरोना काल में मदद तलाशते रहे स्वतंत्रता सैनानी परिवार

बरनाला: कोरोना काल में मदद तलाशते रहे स्वतंत्रता सैनानी परिवार

अखिलेश बंसल, बरनाला:

शहीदों और देश को आजादी दिलाने वाले देशभक्तों के नाम पर राजसत्ता हासिल करने वाली तमाम राजनीतिक पार्टियों के राजनेताओं के लिए यह खबर शर्मनाक है और समाजसेवा करने वालों के लिए गौरव की बात है। बता देते हैं कि कोरोना काल में स्वतंत्रता सेनानियों के परिवार मदद को तरसते रहे हैं, जिसका ताजा मिसाल सोशल मीडिया पर वायरल हुई वीडियो से मिला। जिसे देख जिला पुलिस मुखी संदीप गोयल ने तुरंत अपने पास बुला पीड़ित व जरूरतमंद स्वतंत्रता सेनानी परिवार को दो महीने का राशन और कोरोना बचाव किट्ट भी दी। राशन के अलावा किट्ट में स्नान के लिए 12 साबुन, कपड़े धोने के लिए 12 साबुन, 25 मास्क, सैनिटाइजर, 6 आॅडोमॉस, ओआरएस 12 पैकेट और मल्टी-विटामिन की 90 गोलियां भी दी गई। इस मौके पर एसपी (पीबीआई) जसविंदर सिंह चीमा और डीएसपी (डी) ब्रिज मोहन भी उपस्थित थे।

परिवार को आदर से लेने भेजे थाना प्रभारी

बरनाला के वरिष्ठ पुलिस कप्तान संदीप गोयल जहां पुलिस ड्यूटी के मद्देनजर सतर्क रहते हैं वहीं समाज सेवा को भी अपनी ड्यूटी में शामिल कर रहे हैं और अति जरूरतमंद की हर संभव मदद करने को तत्पर रहते हैं। जिसके लिए वह शोशल मीडिया पर भी एक्टिव रहते हैं। गत दिनों उनकी नजर शोशल मीडिया पर जिला के गांव दराज से प्रसारित हुई एक वीडियो पर टिकी, जिसमें स्वतंत्रता सेनानी परिवार को राशन की जरूरत थी। वीडियो देखकर उन्होंने तुरंत एसएचओ तपा जगजीत सिंह को गांव दराज भेजा। जिससे कि स्वतंत्रता सेनानी के परिवार के मान-सम्मान में किसी बात की कमी नहीं रहे उन्हें सह-आदर कार्यालय लाने को आदेश दिए।

फफक पड़ा परिवार

स्वतंत्रता सेनानी परिवार ने जैसे ही पुलिस से राशन ग्रहण किया तो वह रो पड़ा। सतबीर सिंह और उसकी पत्नी जसबीर कौर ने कहा बुरा समय आने पर अपने भी मुंह फेर कर गुजर जाते हैं यह कहावत सिर्फ सुनी थी, लेकिन जब कोरोना काल में अपनों को मुंह फेरते देखा तो हकीकत समझ आई, घोर कलियुग में एसएसपी. संदीप गोयल जैसे व्यक्ति परमात्मा के रूप में प्रकट होते हैं यह पहली बार देखा है।

जानकारी अपलोड करना भी समाज सेवा

जिला पुलिस मुखी संदीप गोयल ने बताया कि शोशल मीडिया पर बहुत से लोग जनहित से जुड़ी पोस्ट अपलोड कर रहे हैं। जो समाजसेवा में करने में बेहतरीन कदम है। गलत पोस्ट समाज को भ्रमित करती हैं। गांव दराज निवासी सतबीर सिंह को शोशल मीडिया पर घर के राशन की मदद के लिए गुहार लगाते देखा गया था, जैसे ही उसे कार्यालय बुलाया गया तो वह स्वतंत्रता सेनानी का परिवार निकला। परिवार को जरूरतमंद समझते हुए सतबीर सिंह व उसके परिवार को दो महीने का राशन दिया गया है। जरूरतमंद परिवार की मदद करना हर व्यक्ति का फर्ज है। पुलिस का वादा है कि ड्यूटी के साथ साथ जरूरतमंदों की मदद भी जारी रहेगी।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular