Homeराज्यपंजाबकर्मचारी संगठन की रीढ़ : रंधावा

कर्मचारी संगठन की रीढ़ : रंधावा

सहकारिता मंत्री रंधावा ने बुधेवाल चीनी मिल के 23 मृत कर्मचारियों के वारिसों को नियुक्ति पत्र सौंपे
आज समाज डिजिटल, चंडीगढ़:
सहकारी चीनी मिलों में मृत कर्मचारियों के वारिसों को योग्यता के आधार पर अनुकंपा के आधार पर स्थाई रोजगार देने के लंबे समय से लंबित मामलों के जवाब में, शुगरफेड ने बुधेवाल सहकारी चीनी मिल के ऐसे 23 मृत कर्मचारियों के उत्तराधिकारियों को नियुक्ति पत्र दिए गए। सहकारिता मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा द्वारा यहां मार्कफेड मुख्यालय सेक्टर 35 में नियुक्ति पत्र वितरित किए गए। रंधावा ने कहा कि सहकारी चीनी मिलों के मृत कर्मचारियों के वारिसों को नौकरी देने की प्रक्रिया लंबे समय से चल रही थी और आज 23 नियुक्ति पत्र बांटे जा चुके हैं। इससे पहले बटाला सहकारी चीनी मिल के 13 मृत कर्मचारियों और अजनाला सहकारी चीनी मिल के 8 मृत कर्मचारियों को नियुक्ति पत्र सौंपे गए थे। सहकारिता मंत्री ने कहा कि शेष सहकारी चीनी मिलों द्वारा भी इस संबंध में कार्रवाई की जा रही है। उन्होंने कहा कि कर्मचारी संगठन की रीढ़ हैं और दिवंगत कर्मचारियों के परिवारों का जायजा लेना विभाग का कर्तव्य है, जिसके चलते उन्होंने विभाग को सरकार के निर्देशानुसार ऐसे मामलों में अनुकंपा रोजगार उपलब्ध कराने का निर्देश दिया। शुगरफेड अध्यक्ष अमरीक सिंह अलीवाल ने कहा कि आज इन परिवारों की लंबे समय से चली आ रही मांग को पूरा किया गया है। उन्होंने कहा कि परिवारों को हुए नुकसान की पूर्ति नहीं हो सकती लेकिन शुगरफेड ने उनके परिवारों के रोने को पकड़ने का प्रयास किया है। खन्ना से विधायक गुरकीरत सिंह कोटली ने सहकारिता मंत्री एवं संस्था का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि ये मामले पिछले 15-20 वर्षों से ठप पड़े हैं और इन्हें पूरा कर आज मृतक कर्मचारियों के परिवारों को नियुक्ति पत्र वितरित किए गए हैं। इस अवसर पर बुधेवाल चीनी मिल अध्यक्ष हरिंदर सिंह लखोवाल, तकनीकी शिक्षा मंत्री चरणजीत सिंह चन्नी, सहकारी समितियों के रजिस्ट्रार विकास गर्ग, शुगरफेड के एमडी पुनीत गोयल एवं महाप्रबंधक कंवलजीत सिंह, रूपिंदर सिंह राजा गिल एवं बुधेवाल सहकारी चीनी मिल के सभी निदेशक मंडल उपस्थित थे।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments