Homeराज्यपंजाबAM James Cambridge International School Pathankot एएंडएम जैम्स कैंब्रिज इंटरनेशनल स्कूल शिक्षा...

AM James Cambridge International School Pathankot एएंडएम जैम्स कैंब्रिज इंटरनेशनल स्कूल शिक्षा संस्थानों में बना चुका है अपनी अलग पहचान

AM James Cambridge International School Pathankot एएंडएम जैम्स कैंब्रिज इंटरनेशनल स्कूल शिक्षा संस्थानों में बना चुका है अपनी अलग पहचान

राज चौधरी, पठानकोट

AM James Cambridge International School Pathankot : एएंडएम जैम्स कैंब्रिज इंटरनेशनल स्कूल, पठानकोट 2012 से लेकर अब तक शिक्षा में अपनी अहम भूमिका निभा रहा है। 10 वर्षों में स्कूल इस पिछड़े क्षेत्र के अलग-अलग गांवों तथा शहरों के बच्चों को सेंट्रल बोर्ड की शिक्षा देकर उनका भविष्य उज्जवल किया है। इस शिक्षण संस्थान की नींव मार्च 2012 में रखी गई थी। आज यही नींव अपने अच्छे और उच्च शिक्षण से मील का पत्थर साबित हो रही है। न्यू दिल्ली की तरफ से मान्यता प्राप्त स्कूल जिसमें प्री-नर्सरी से लेकर 12वीं कक्षा तक मेडिकल, नॉन -मेडिकल, कॉमर्स ,आर्ट्स जैसे विषयों के दाखिले शुरू हैं। (AM James Cambridge International School Pathankot) यहां पर सभी बच्चों का शिक्षा के साथ-साथ शारीरिक विकास, मानसिक विकास और अच्छे आचरण व संस्कारों का भी ज्ञान दिया जाता है। नन्हे-मुन्ने बच्चों के लिए ऑडिटोरियम एवं स्मार्ट क्लास का उचित प्रबंध है। नई शिक्षा नीति के तहत जितने भी नए मापदंड दिए गए हैं।

उन सब के अनुसार स्कूल में सभी सुविधाएं उपलब्ध करवाई गई हैं।स्कूल मैनेजमेंट कमेटी के प्रधान अक्षय महाजन, सचिव सोनू महाजन, ट्रस्टी मेंबर नमन महाजन, प्रिंसिपल मिशी चावला के दिशा निर्देशों (AM James Cambridge International School Pathankot) में स्कूल दिन प्रतिदिन उन्नति की बुलंदियों को छू रहा है। प्रधान अक्षय महाजन, सचिव सोनू महाजन ने बताया कि स्कूल में नर्सरी से लेकर बारहवीं कक्षा मेडिकल, नॉन मेडिकल और कॉमर्स स्ट्रीम में बच्चों को शिक्षा दी जाती है।

बच्चों को और अच्छी शिक्षा के लिए योग्य और निपुण अध्यापकों का चयन किया गया है। जब से दसवीं और बारहवीं कक्षा शुरू हुई है तब से बोर्ड परीक्षा का परिणाम शत प्रतिशत आ रहा है। हर वर्ष स्कूल के बच्चे मेरिट में भी आते हैं जो कि अपने क्षेत्र में एक रिकॉर्ड भी कायम करती है। जब से 12वीं की कक्षा में शुरू हुई है तब से हर वर्ष बच्चे आईआईटी की परीक्षा पास कर दिल्ली और इंदौर के उच्च शिक्षण संस्थानों में शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं । वहीं मेडिकल फील्ड में भी नीट की परीक्षा पास कर गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज में डॉक्टर बनने की शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं। यहां पर शिक्षा के साथ-साथ स्पोकिन और खेलों पर भी विशेष ध्यान दिया जाता है।

एनसीसी (नेवी कैडेट कोर) की दी जा रही ट्रेनिंग

स्कूल में आठवीं से बारहवीं तक के बच्चों के लिए एनसीसी (नेवी कैडेट कोर) की ट्रेनिंग दी जा रही है। कैडेटों को छोटे हथियारों और परेड में बुनियादी सैन्य प्रशिक्षण के साथ पानी में नाव चलाने और उससे जुड़े सभी विषयों पर ट्रेनिंग दी जाती है । उन्होंने कहा कि स्कूल में बच्चों को एन सी सी करवाने का लक्ष्य युवाओं में चरित्रनिर्माण, कामरेडशिप, अनुशासन, धर्मनिरपेक्ष दृष्टिकोण, साहस की भावना जगाना है ।

पढ़ाई के साथ साथ बच्चों को खोलों के प्रति विशेष ध्यान 

खेलों में बैडमिंटन, वॉलीबॉल, क्रिकेट, योगा, एरोबिक्स आदि खेलों की शिक्षा दी जाती है। बच्चों की संस्कृति को बनाए रखने के लिए त्योहारों को बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है। बच्चों को भाषण प्रतियोगिता एवं कविता गायन में भी उचित कुशल किया जाता है। जीवन के कठिन समय में चुनौतियों से सामना करने के लिए बच्चों को जूडो कराटे , कराटे,मार्शल आर्ट की ट्रेनिंग भी दी जाती है। उनके स्कूल के किक्रेट ऐकडेमिक के दो छात्र रणजी ट्रॉफी (16 वर्ष) में सेलेक्ट हुए है जबकि एक छात्र शूटिंग रेंज में नेशनल शूटिंग कॉम्पिटिशन में ।

बच्चों के किये नई तकनीकी लैब की गई है तैयार 

स्कूल में नई तकनीकी साइंस लैब बनाई गई है जिसमें बच्चों को प्रैक्टिकल वर्क करवाकर गणित और साइंस की शिक्षा दी जाती है। स्कूल में हाई तकनीकी कंप्यूटर लैब भी है, जो बच्चों को नए युग की शिक्षा नीति का ज्ञान करवाती है। यहां के मेहनती अध्यापकाएं बच्चों को उनकी पढ़ाई में अधिक से अधिक मदद करती है।

बच्चों की सुरक्षा के लिए लगाए गए है सीसीटीवी कैमरे

प्रिंसिपल मिशी चावला ने बताया कि बच्चों की सुरक्षा नजर में रखते हुए स्कूल कैंपस में सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। ताकि किसी भी तरीके से स्कूली बच्चों को किसी प्रकार की कोई समस्या हो । स्कूल प्रिंसिपल सहित कई अध्यापकों को मानव संसाधन और बाल विकास विभाग भारत सरकार की तरफ से सम्मान दिया जा चुका है। बच्चों को आने जाने के लिए सुविधा के लिए स्कूल बसों का भी विशेष प्रबंध है। बसों को चलाने के लिए योग्य निपुण वाहन चालकों को नियुक्त किया गया है। एएंडएम जैम्स कैंब्रिज इंटरनेशनल स्कूल, पठानकोट अलग-अलग उपलब्धियों के लिए क्षेत्र में श्रेष्ठ शिक्षा संस्थानों में गिना जाता है।

Also Read :  यूरोप के सबसे बड़े परमाणु संयंत्र में आग

Connect With Us: Twitter Facebook
SHARE
Mohit Sainihttps://indianews.in/author/mohit-saini/
Sub Editor at Indianews.in | Indianewsharyana.com | IndianewsDelhi.com | Aajsamaj.com | Manage The National and Live section of the website | Complete knowledge of all Indian political issues, crime and accident story. Along with this, I also have some knowledge of business.
RELATED ARTICLES

Most Popular