Homeराज्यहिमाचल प्रदेशगुस्से में मानसून, मलबे में दबी गाड़ियां, 111 एमएम बारिश

गुस्से में मानसून, मलबे में दबी गाड़ियां, 111 एमएम बारिश

आज समाज डिजिटल, Shimla News:
आज पहले ही दिन देवनगरी में मानसून का गुस्सा देखने को मिला। अब तक गर्मी की मार झेल रहे यहां के लोगों को राहत तो मिली लेकिन मानसून के रौद्र रूप ने डरा भी दिया।

बारिश से चंबा में हालात बदतर

सबसे पहले बात करते हैं चंबा की तो यहां बारिश ने जमकर कहर बरपाया। दूसरे इलाकों में बारिश हुई है, लेकिन किसी तरह के नुकसान की खबरें नहीं हैं। चंबा में भारी बारिश के चलते घरों में मलबा घुसा है और साथ ही कई गाड़ियों को नुकसान पहुंचा है। बारिश के चलते सूबे में कुल 40 सड़कें बंद हुई है। चंबा में सबसे अधिक 38 रोड बंद हैं। इसके अलावा, सोलन के कसौली डिवीजन में 1 सड़क और लाहौल में एक सड़क बंद है।

सुरक्षित स्थानों पर पहुंचे यहां के लोग

बारिश का रूप ऐसा रहा कि लोगों को जान बचाने के लिए सुरक्षित स्थानों की ओर भागना पड़ा है। जिला मुख्यालय के साथ लगती ग्राम पंचायत सरोल तथा हरिपुर में बारिश के कारण भारी मात्रा में पानी व मलबा लोगों के घरों व खेतों में घुस गया, जिस कारण लोगों को भारी नुकसान हुआ है। कालका-शिमला हाईवे पर सोलन जिले के धर्मपुर के समीप कार पर पहाड़ी से पत्थर गिर गए। हालांकि बड़ा हादसा टल गया।

घरों तक पहुंच गया पानी और मलबा

Monsoon Created Havoc in Shimla
Monsoon Created Havoc in Shimla

सरोल क्षेत्र के सरोल, घोल्टी, हरिपुर तथा भद्रम में घरों में पानी और मलबा घुसा है। यहां पर गुरुवार तड़के करीब तीन बजे उक्त क्षेत्र में अचानक भारी बारिश हुई। चंबा में बारिश के कारण चंबा-पठानकोट एनएच पर चनेड़, उदयपुर व तड़ोली में भारी मात्रा में मलबा सड़क पर आ गया और आवाजाही बाधित रही। चंबा-तीसा मार्ग पर भद्रम नाले का जलस्तर बढ़ने के चलते मार्ग पर भारी मात्रा में पानी व मलबा आने के कारण यहां पर भी आवाजाही प्रभावित हुई है। चंबा-सुंडला-सलूणी मार्ग पर कैला मोड़ में डंगा गिर गया। जिस समय डंगा गिरा, उस वक्त वहां से एक कार गुजर रही थी, जिसका एक हिस्सा लटक गया।

चंबा में लगातार दूसरे दिन भारी बारिश

चंबा के सिहुंता में बुधवार को 104 एमएम बरसात हुई थी। अब रात से लेकर गुरुवार सुबह तक 111 एमएम पानी बरसा है। इसके अलावा, सिरमौर के नाहन में 68 एमएम और बिलासपुर के काहू में 48 एमएम बारिश हुई है। शिमला में 33, सुंदरनगर में 32, कांगड़ा में 43, मंडी में 18, सोलन में 16 और धर्मशाला में 42 एमएम बरसात हुई है। बारिश के चलते तापमान भी गिरा है और इसमें करीब तीन से चार डिग्री की गिरावट दर्ज की गई है।

हिमाचल में लाहौल स्पीति के केलांग में सबसे कम 14 डिग्री तापमान दर्ज हुआ है। लाहौल पुलिस के अनुसार, मनाली-लेह राष्ट्रीय राजमार्ग सभी प्रकार के वाहनों के लिए खुला है। दारचा-शिंकुला राजमार्ग छोटे वाहनों के लिए खुला है। कोक्सर-लोसर काजा राजमार्ग
(NH-505) और पांगी-किलाड़ राजमार्ग (SH-26) भी सभी प्रकार के वाहनों के लिए ओपन है।

मौसम का ये है पूर्वानुमान

हिमाचल में अगले चार दिन के लिए भारी बारिश की चेतावनी है। चार दिन के लिए येलो अलर्ट जारी किया गया है। मौसम विभाग के शिमला केंद्र का कहना है कि चार दिन भारी से भारी बारिश की संभावना बनी हुई है। 30 जून और 1 जुलाई को ज्यादा बारिश का अनुमान है। अगले दो दिन कम बारिश की संभावना है।

ये भी पढ़ें : कार्तिकेय शर्मा की जीत को लेकर समस्त ब्राह्मण समाज के लोगों ने मुख्यमंत्री का किया धन्यवाद

ये भी पढ़ें : खुल गया प्रगति मैदान सुरंग, पीएम मोदी ने किया टनल और अंडरपास का उद्घाटन

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular