Homeराज्यहिमाचल प्रदेशपशुपालकों के लिए शुरू की गई रिस्क मैनेजमेंट योजना : गर्ग

पशुपालकों के लिए शुरू की गई रिस्क मैनेजमेंट योजना : गर्ग

खाद्य नागरिक आपूर्ति मंत्री ने मलोट में पशु औषधालय भवन की रखी आधारशिला
आज समाज डिजिटल, बिलासपुर:
खाद्य नागरिक एवं उपभोक्ता मामले मंत्री राजेन्द्र गर्ग ने कहा कि पशुपालन विभाग के माध्यम से पशुपालकों के लिए रिस्क मैनेजमेंट योजना चलाई जा रही है। इस योजना के तहत पशुपालकों के लिए तीन वर्ष का बीमा प्रदान किया जा रहा है। वहीं, मुर्गी पालन के लिए हिम कुकुट योजना चलाई जा रही है, जिसमें किसानों को 60 प्रतिशत अनुदान के साथ 3 हजार बॉयलर कुकुट दिए जाएंगे। इसके लिए लगभग 4.5 लाख अनुदान दिया जा रहा है। वे बुधवार को घुमारवीं के मलोट में 10 लाख की लागत से निर्मित होने वाले पशु औषधालय भवन की आधारशिला रखने के पश्चात उपस्थित जनसमूह को संबोधित कर रहे थे।
गर्ग ने कहा कि बीपीएल परिवारों के लिए 600 बॉयलर कुकुट तीन किश्तों में 200-200 दिए जाएंगे, जिसमें 90 प्रतिशत अनुदान होगा। वहीं, अनुसूचित जाति के लिए शतप्रतिशत अनुदान पर 200 बॉयलर कुकुट दिए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि बकरी पालन के लिए कृषक बकरी पालन योजना के तहत 60 प्रतिशत अनुदान के साथ एक वर्ष का बीमा भी किया जाएगा।
राजेंद्र गर्ग ने घुमारवीं क्षेत्र के विकास की चर्चा करते हुए कहा कि साढ़े तीन साल के कार्यकाल में इस विधानसभा क्षेत्र के लिए चरणबद्ध तरीके से हर बुनियादी सुविधा उपलब्ध करवाने का प्रयास किया जा रहा है। लोगों को पानी, बिजली, सड़क, स्वास्थ्य, शिक्षा जैसी मूलभूत सुविधाएं प्रदान करवाना सरकारी की प्राथमिकता में है। उन्होंने कहा कि इन साढ़े तीन वर्षों में प्रदेश सरकार द्वारा चहुंमुखी विकास व लोक कल्याण की कई योजनाएं शुरू की हैं।
गर्ग ने कहा कि सरकार ने शगुन योजना भी आरम्भ की है, जिसके तहत गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले परिवारों की बेटियों को विवाह के समय 31 हजार रुपए का अनुदान दिया जा रहा है। उन्होंने बताया कि बेटी है अनमोल योजना के तहत बीपीएल परिवारों में बेटी (दो बेटियों तक) के जन्म पर प्रदेश सरकार द्वारा 12 हजार रुपए से बढ़कार 21 हजार रुपए कर दी गई है। जिसे बेटी के 18 वर्ष के होने पर उसकी उच्च शिक्षा या उसकी शादी पर इस राशि को प्रयोग कर सकते हैं।
मंत्री ने कहा कि निकट भविष्य में घुमारवीं-मलोट सड़क को पक्का किया जाएगा और इसके साथ ही उन्होंने झझवाणी-मलोट सड़क को पक्का करने के लिए 10 लाख रुपए देने की घोषणा की। उन्होंने कहा 82 करोड़ रुपए की लागत दधोल, लदरौर, भराड़ी, पडयालग सड़क का कार्य प्रगति पर है और 2 करोड़ रुपए की लागत से द्रुघ खड्ड पर पुल व सड़क का कार्य भी लगभग पूर्ण कर लिया गया है। घण्डवाली से जाहू सड़क के डंगे और पुलिया का कार्य पर भी प्रगति है।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments