Homeराज्यहिमाचल प्रदेशकारगिल विजय दिवस पर पांवटा साहिब में शहीद स्मारक का किया लोकार्पण

कारगिल विजय दिवस पर पांवटा साहिब में शहीद स्मारक का किया लोकार्पण

  • सुखराम चौधरी, सुरेश कश्यप व बलदेव तोमर ने शहीदों को दी श्रद्धांजलि

रमेश पहाड़िया, Paonta Sahib: 

कारगिल विजय दिवस पर आज पांवटा साहिब में 8 लाख की लागत से निर्मित शहीद स्मारक का ऊर्जा मंत्री सुखराम चौधरी ने सांसद लोकसभा सुरेश कश्यप तथा उपाध्यक्ष राज्य नागरिक आपूर्ति निगम बलदेव तोमर की उपस्थिति में लोकार्पण किया। 

शहीद योद्धाओं को पुष्पांजलि अर्पित 

Martyr Memorial Inaugurated at Paonta Sahib on Kargil Vijay Diwas
Martyr Memorial Inaugurated at Paonta Sahib on Kargil Vijay Diwas

भूतपूर्व सैनिक संगठन पांवटा साहिब व शिलाई क्षेत्र द्वारा आयोजित कार्यक्रम में देश की सीमाओं की रक्षा करते हुए शहीद हुए योद्धाओं को पुष्पांजलि अर्पित की गई तथा कार्यक्रम में उपस्थित उनके परिजनों को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर ऊर्जा मंत्री ने कहा कि हमारे प्रदेश को वीर भूमि के नाम से भी जाना जाता है, जब भी देश को आवश्यकता हुई है, हिमाचल के वीर सपूतों ने सदैव अभूतपूर्व शौर्य का परिचय दिया है और यहाँ तक कि अपने प्राणों की आहुति देने से पीछे नहीं हटे। उन्होंने कहा कि हमारी सेना सदैव दुश्मन देश की घुसपैठ रोकने के लिए तत्पर रहती है।

कारगिल युद्ध का उदाहरण

1999 में हुआ कारगिल युद्ध इसका एक उदाहरण है। जब पाकिस्तान ने कारगिल की चोटियों पर कब्जा कर लिया, परन्तु भारतीय सेना ने हजारों फुट की ऊंचाई पर चढाई करके दुश्मन की सेना को खदेड़ा। लगभग 3 महीने तक दोनां देशों के बीच घमासान युद्ध हुआ और भारत ने पाकिस्तान पर विजय प्राप्त की और तब से हर वर्ष भारत में 26 जुलाई को कारगिल विजय दिवस के रूप में मनाया जाता है। उन्होंने कहा कि कारगिल युद्ध में हिमाचल के 52 वीरों ने सर्वोच्च बलिदान दिया तथा इस युद्ध में जिला सिरमौर के दो रणबांकुरे शहीद कुलविंदर सिंह व शहीद कल्याण सिंह ने अपने अदम्य साहस का परिचय दिया और देश की रक्षा करते हुए अपने प्राण न्योछावर किए।

लगभग 1694 वीरों ने अपने प्राण न्योछावर किये

स्वतंत्रता प्राप्त करने से लेकर आज तक प्रदेश के लगभग 1694 वीरों ने अपने प्राण देश के लिए न्योछावर किये हैं। कारगिल के इस युद्ध में हिमाचल प्रदेश के कैप्टन विक्रम बत्रा ने अपनी डेल्टा टुकड़ी के साथ चोटी नं. 4875 पर हमला किया, मगर एक घायल साथी अधिकारी को युद्धक्षेत्र से निकालने के प्रयास में वह 7 जुलाई की सुबह शहीद हो गए। अमर शहीद कैप्टन विक्रम बत्रा को अपने अदम्य साहस व बलिदान के लिए मरणोपरांत भारत के सर्वोच्च सैनिक पुरस्कार ‘परमवीर चक्र’ से सम्मानित किया गया।

सैनिकों व आश्रितों के कल्याण हेतु योजनाएं

ऊर्जा मंत्री ने कहा कि पूर्व सैनिकों का कल्याण सरकार के लिये सदैव ही प्राथमिकता का विषय रहा है। वर्तमान हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा पूर्व सैनिकों व उनके आश्रितों के कल्याण हेतु विभिन्न योजनाएं कार्यान्वित की गईं जिसके तहत 2600 पूर्व सैनिकों व 62 शहीदों के आश्रितों को रोजगार प्रदान किया गया। प्रदेश के 1147 शौर्य पुरस्कार विजेताओं को लगभग 15 करोड़ की राशि वितरित की गई है। सांसद लोकसभा सुरेश कश्यप ने कहा कि हमारे देश के जवानों की बदौलत ही हम लोग अपने घरों में चैन की नींद सो पाते हैं।

सेना का आधुनिकीकरण

हमारे जवान जैसलमेर की गर्मी और सियाचिन की सर्दी में भी अपने कर्तव्य का निर्वहन पूरी निष्ठा से करते हैं। उन्होंने बताया कि आज भारत देश सुपर पावर बनने की ओर अग्रसर है। आज देश में ही 68 प्रतिशत सैन्य अस्त्र-शस्त्र तैयार किए जा रहे हैं और इन्हें अन्य देशों में भी निर्यात किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि केंद्र की वर्तमान सरकार के कार्यकाल में सेना का आधुनिकीकरण हो रहा है जिसके तहत राफेल को भी वायु सेना में सम्मिलित किया गया है जिससे वायु सेना की शक्ति में वृद्धि हुई है।

कार्यक्रम में शामिल रहे

Martyr Memorial Inaugurated at Paonta Sahib on Kargil Vijay Diwas
Martyr Memorial Inaugurated at Paonta Sahib on Kargil Vijay Diwas

उपाध्यक्ष राज्य नागरिक आपूर्ति निगम बलदेव तोमर ने शहीद स्मारक के लोकार्पण पर भूतपूर्व सैनिक संगठन पांवटा साहिब व शिलाई को बधाई देते हुए कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार सैनिकों के परिवारों के साथ हर सुख-दुख में खडी रही है और आगे भी खडी रहेगी।

कार्यक्रम में शहीदों के परिजनों को सम्मानित किया गया जिनमें गाँव छछेती के शहीद अमर सिंह, गाँव सुनोग के शहीद रविंदर सिंह, गाँव डोईवाला के कुलविंद्र सिंह, गाँव हलांह के शहीद कल्याण सिंह, गाँव राजपुर के शहीद समीर कुमार,  गाँव कोटड़ी व्यास के शहीद कमल कांत, सुरजपुर के शहीद शेर सिंह, गाँव कोलर के शहीद वीरेंद्र सिंह, गाँव बनौर के शहीद राजेन्द्र सिंह, गाँव धौलाकुंआ के शहीद अरविन्द कुमार, गाँव माजरा के शहीद राजेश कुमार, गाँव बांदली के शहीद श्याम सिंह, गाँव मानपुर देवड़ा के शहीद सोहन सिंह, गाँव शखोली के शहीद भरत सिंह,  गाँव गवाना के शहीद प्रशांत सिंह और गाँव बेहडेवाला के शहीद बलबीर सिंह के परिजन शामिल रहे।

देशभक्ति की सुंदर प्रस्तुतियां

अध्यक्ष भूतपूर्व सैनिक संगठन पांवटा साहिब व शिलाई करनैल सिंह ने स्वागत संबोधन प्रस्तुत किया और संगठन की गतिविधियों से अवगत करवाया। कार्यक्रम में राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला शिलाई की छात्राओं ने देशभक्ति पर आधारित सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया, हरमनप्रित कौर ने कविता पाठ, मनदीप कौर व करीना तथा रक्षा कंवर ने देशभक्ति की सुंदर प्रस्तुतियां दी।

इस अवसर पर उपस्थित

Martyr Memorial Inaugurated at Paonta Sahib on Kargil Vijay Diwas
Martyr Memorial Inaugurated at Paonta Sahib on Kargil Vijay Diwas

इस अवसर पर पंचायत समिति अध्यक्ष हितेंद्र कुमार, भाजपा मंडल अध्यक्ष अरविंद गुप्ता, सदस्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड राहुल चौधरी, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य देवेन्द्र चौधरी, उपाध्यक्ष जिला भाजपा कुलदीप राणा, जिला महिला मोर्चा अध्यक्ष शिवानी वर्मा, उप मंडल दण्डाधिकारी विवेक महाजन, डी.एस.पी. वीर बहादुर, खण्ड विकास अधिकारी रवि प्रकाश जोशी, समाज सेवी एनपीएस सहोता, अरुण गोयल, शिव कुमार तथा उपाध्यक्ष, भूतपूर्व सैनिक संगठन पांवटा साहिब व शिलाई नरेन्द्र सिंह ठुंडू व सवर्ण जीत व संगठन के अन्य पदाधिकारी उपस्थित रहे।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular