Homeराज्यहिमाचल प्रदेशकुल्लू दशहरा में होगी महानाटी, 8 हजार महिलाएं लेंगी भाग

कुल्लू दशहरा में होगी महानाटी, 8 हजार महिलाएं लेंगी भाग

आज समाज डिजिटल, कुल्लू:
कुल्लू प्रसिद्ध अंतरराष्ट्रीय लोक नृत्य उत्सव दशहरा 5 अक्टूबर से शुरू हो रहा है। यह एक हफ्ते तक चलेगा। दशहरा उत्सव की तैयारियों के लिए आज कुल्लू के देवसदन में शिक्षामंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने एक बैठक कर परिचर्चा की। गोविंद ठाकुर ने कहा कि दो साल कोरोना के चलते ये आयोजन नहीं किया गया था।

पारंपरिक परिधानों में होगा संस्कृति का बखान

इसमें अनेक नई गतिविधियों को इसमें शामिल किया जाएगा। उन्होंने कहा कि उत्सव के तीसरे दिन महानाटी का आयोजन होगा। इसमें जिलाभर से महिलाएं अपने पारंपरिक परिधानों और आभूषणों में सुसज्जित होकर संस्कृति का बखान करेंगी। इस आयोजन से व्यापारियों को भी लाभ होगा। अनेक प्रकार के पारंपरिक आभूषणों की खरीद महिलाएं करेंगी। उन्होंने कहा कि इस बार महानाटीं में 8 हजार से अधिक महिलाओं को आमंत्रित किया जाएगा। इसके लिए जिला पर्यटन विकास अधिकारी, जिला कार्यक्रम अधिकारी और खंड विकास अधिकारियों को महिला मंडलों से संपर्क करने को कहा है।

गिनीज वर्ल्ड ऑफ रिकॉर्ड में दर्ज है नाम

उन्होंने कहा कुल्लू की महानाटी पहले ही गिनीज वर्ल्ड आफ रिकार्ड में अपना नाम दर्ज करा चुकी है और जिले के लिए यह गौरव की बात है। शिक्षा मंत्री ने कहा कि लाल चंद प्रार्थी कलाकेन्द्र का कायाकल्प किया जाएगा। इसके लिए एक वृहद योजना तैयार की गई है। उनहोंने इसका कार्य उत्सव आरंभ होने से पूर्व पूरा करने के लिए लोक निर्माण विभाग को निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि उत्सव की आखिरी संध्या पूरी तरह से हिमाचली कलाकारों के लिये होगी और इसे पहाड़ी नाइट का थीम दिया गया है, इसमें मुख्य कलाकारों सहित कुल 70 कलाकार परफोर्म कर सकेंगे।

इस महीने के अंत में ऑडीशन

बैठक में बताया कि उत्सव की सांस्कृतिक संध्याओं का स्तर बहुत अच्छा हो, इसके लिए श्रेणी-तीन व चार के कलाकारों की आडिशन इस माह के अंत में की जाएगी और इसकी तिथियां जल्द घोषित की जाएंगी। इसके लिए समिति का पहले ही गठन किया जा चुका है। स्थापित कलाकारों को श्रेणी बी में रखा गया है और ए श्रेणी में सिने जगत के पार्श्व गायकों को रखा गया है।बैठक में अवगत करवाया गया कि 5 अक्तूबर को पहली सांस्कृतिक संध्या का थीम सूफी गायन, दूसरी संध्या का पंजाबी संध्या, तीसरी संध्या कब्बाली कार्यक्रम, चाथी संध्या कॉमेडी व स्टार नाईट, पांचवी संध्या अमृत सहोत्सव व पुलिस बैण्ड, छटी संध्या सुपर स्टार नाईट। जबकि 11 अक्तूबर की अंतिम संध्या पहाड़ी नाईट थीम पर आधारित होंगी। सभी संध्याओं में प्रदेश के अलग-अलग जिलों के लोक सांस्कृतिक दल अपनी प्रस्तुति देंगे। देश के विभिन्न राज्यों के अलावा विदेशों से भी सांस्कृतिक दलों को आमंत्रित किया गया है।

ये भी पढ़ें : जवाहर नवोदय विद्यालय करीरा में दो दिवसीय विज्ञान प्रदर्शनी एवं संगोष्ठी का शुभारंभ

ये भी पढ़ें : जनसंपर्क अभियान के तहत सैकड़ों लोगों ने आम आदमी पार्टी को ज्वाइन किया

ये भी पढ़ें : विज्ञान के प्रचार-प्रसार में हिंदी की भूमिका महत्त्वपूर्ण- डॉ. राहुल सिंघल

ये भी पढ़ें : क्या अशोक गहलोत, शशि थरूर या कुमारी सैलजा बन सकते हैं कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष! पढ़िये ये रिपोर्ट

 Connect With Us: Twitter Facebook

 

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular