Homeहरियाणायमुनानगररेड के विरोध में प्लाईवुड फैक्ट्रियां बंद, जांच में सहयोग न करने वालों...

रेड के विरोध में प्लाईवुड फैक्ट्रियां बंद, जांच में सहयोग न करने वालों के खिलाफ मामला दर्ज

प्रभजीत सिंह लक्की, यमुनानगर :

यमुनानगर में रेड के विरोध में प्लाईवुड फैक्ट्रियां 3 दिन के लिए बंद कर दी गई। जांच में सहयोग न करने वाले व्यापारियों पर मामला दर्ज कर लिया गया। तीन प्लाईबोर्ड फैक्ट्रियों के स्टाक के बिक्री पर रोक लगा दी गई।

व्यापारियों की मुश्किलें बढ़ीं

एक तरफ केंद्र व राज्य सरकार की टीमों की रेड के विरोध में प्लाईवुड व्यापारियों ने फैक्ट्रियां बंद कर दी है। दूसरी ओर जांच में सहयोग न करने पर अब प्लाईवुड व्यापारियों पर कार्रवाई की तैयारी हैं। तीन फैक्ट्री मालिकों के खिलाफ उप कृषि निदेशक डा. जसविंद्र सैनी की ओर से एफआइआर दर्ज कराई गई है। ऐसे में व्यापारियों की मुश्किलें और भी बढ़ सकती हैं। टीम ने छह फैक्ट्रियों से चार नमूने टेक्निकल ग्रेड यूरिया व दो सैंपल ग्लू के लिए हैं। इन नमूनों को जांच के लिए केंद्रीय फर्टिलाइजर लैबोरेटरी फरीदाबाद में भिजवाया गया है। बता दें कि 25 अप्रैल को करेहड़ा खुर्द में खाद के गोदाम पर जीएसटी की रेड के बाद यूरिया के बिलों का फर्जीवाड़ा मिला था। इसके बाद से ही प्लाईवुड फैक्ट्रियां रडार पर थी।

हरियाणा सहित देश के अन्य राज्यों में टीमों ने की थी रेड 

शुक्रवार को हरियाणा सहित देश के अन्य राज्यों उत्तर प्रदेश, तेलंगाना, राजस्थान, केरल, गुजरात में भी टीमों ने रेड की थी। यमुनानगर में छह टीमों ने छह फैक्ट्रियों पर रेड की। फैक्ट्रियों से यूरिया के सैंपल लिए गए अौर बिलाें की जांच की गई। इस रेड के विरोध में ही व्यापारी व श्रमिक सड़कों पर उतर आए थे। जोडियो व जगाधरी बस स्टैंड पर जाम लगाया गया। बाद में प्रशासनिक अफसरों के साथ प्लाईवुड व्यापारियों की बैठक हुई। जिसमें भी कोई हल नहीं निकल सका था। इसके विरोध में व्यापारियों ने दो दिनों तक फैक्ट्री बंद रखने की घोषणा की है।

तीन पर हुई एफआइआर

उप कृषि निदेशक डा. जसविंद्र सैनी ने बताया कि केंद्र व प्रदेश सरकार की टीमों ने कृषि योग्य यूरिया खाद के औद्योगिक प्रयोग की जांच के लिए रेड की थी। जिले में कृषि मंत्रालय के डायरेक्टर आफ फर्टिलाइजर हरविंद्र सिंह के नेतृत्व में रेड की गई। इनमें ईएमएम डीइइ प्लाईवुड इंडस्ट्रीज जोडिया फर्कपुर, श्री बालाजी इंडस्ट्री जोडिया फर्कपुर, औद्योगिक क्षेत्र स्थित गलोब पैनल इंडस्ट्रीज इंडिया प्राइवेट लिमिटेड, नीलगिरी प्लाईवुड जोडिया फर्कपुर, राधा कृष्ण प्लाई एंड बोर्ड इंडस्ट्रीज बाड़ी माजरा व युनाइटेड प्लाईवुड साबापुर में टीम पहुंची। इनमें से चार नमूने टेक्निकल ग्रेड यूरिया व दो सैंपल ग्लू के लिए गए हैं। इनमें ईएमएम डीइइ प्लाईवुड इंडस्ट्रीज जोडिया फर्कपुर, श्री बालाजी इंडस्ट्री जोडिया फर्कपुर व युनाइटेड प्लाईवुड साबापुर में जांच में सहयोग नहीं किया और न ही कोई दस्तावेज दिए। जिस पर उनके खिलाफ एफआइआर दर्ज कराई गई है।

तीन फैक्ट्रियों में स्टाक की बिक्री पर लगी रोक, नोटिस जारी

औद्योगिक क्षेत्र स्थित गलोब पैनल इंडस्ट्रीज इंडिया प्राइवेट लिमिटेड, नीलगिरी प्लाईवुड जोडिया फर्कपुर व राधा कृष्ण प्लाई एंड बोर्ड इंडस्ट्रीज बाड़ी माजरा में मिले स्टाक के प्रयोग व बिक्री पर रोक लगा दी गई है। इन फैक्ट्रियों के मालिकों को नोटिस दिया गया है। इनके स्टाक पर भी पुलिस का पहरा लगाया गया है।

 

ये भी पढ़ें : मामूली कहासुनी को लेकर हत्या करने के मामले में 4 आरोपी गिरफ्तार, ब्लाईंड मर्डर की गुत्थी को सुलझाते हुए पुलिस ने काबू किए 4 आरोपी

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular