Homeहरियाणायमुनानगरकिसानों के लिए लाभकारी है मल्टीलेयर खेती:

किसानों के लिए लाभकारी है मल्टीलेयर खेती:

प्रभजीत सिंह लक्की, यमुनानगर:
डीसी राहुल हुड्डा ने जिला के किसानों का आह्वान किया कि वे मल्टीलेयर खेती पद्घति को अपनाकर अपनी आमदनी बढ़ाएं। इस पद्घति में खेती की लागत और पानी की खपत में कमी होती है और मुनाफा कई गुना बढ़ जाता है।

एक साथ हो सकते हैं 5 उत्पादन

मल्टीलेयर खेती पद्घति में किसान एक खेत में एक समय में 5 अलग-अलग तरह की फल-सब्जियों का उत्पादन कर सकता है। डीसी राहुल हुड्डा ने कहा कि खेती को मुनाफे का व्यवसाय बनाने के लिए किसानों को मल्टीलेयर खेती पद्घति को अपनाना होगा। इस पद्घति से किसान कम समय में ज्यादा पैदावार से अधिक धन कमा सकता है। इस खेती पद्घति के तहत एक खेत को 5 भागों में विभाजित करके इस पर पांच लेयर की खेती की जा सकती है। खेत के चारों तरफ चकोर मेड पर फलदार पेड़ लगाकर उनसे 10 फुट की दूरी पर उनसे छोटे पौधे लगाए जा सकते हैं। इसके अलावा बीच-बीच में भी धनिया व पालक उगाकर उस स्थान का उपयोग किया जा सकता है।

97 प्रतिशत तक बचता है पानी

उन्होंने बताया कि इसके अलावा जमीन के नीचे अदरक, हल्दी व अन्य फसल का उत्पादन लिया जा सकता है, जो तीन से चार महीने बाद जमीन से ऊपर आती हैं, जब तक धनिया व पालक की फसल तैयार होकर बिक्री के लिए चली जाती है। इस पद्घति से केवल तीन प्रतिशत पानी की खपत होती है, बाकी 97 प्रतिशत पानी बच जाता है। इसके अलावा बारिश के दिनों में खेत का पानी खेत में ही रखने के लिए यह तकनीक रामबाण है।

ये भी पढ़ें : चौथे दिन की कथा में हुआ वामन अवतार एवं कृष्ण जन्म का वर्णन

ये भी पढ़ें : नारायण सेवा संस्थान में 501 दिव्यांगजन निःशुल्क शल्य चिकित्सा शिविर का उद्घाटन

ये भी पढ़ें : डेरा कार सेवा के प्रमुख बाबा सुक्खा सिंह की अगुवाई में किया नगर कीर्तन

ये भी पढ़ें : रक्त दान महाअभियान के 22वे दिन के शिविर का उद्घाटन

ये भी पढ़ें : सूर्य ग्रहण मेले में श्रद्धालुओं के लिए पुख्ता इंतजाम करने के लिए 22 कमेटियों को सौंपी कमान:पिलानी

Connect With Us: Twitter Facebook

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular